--- विज्ञापन ---

Latest Posts

अजय देवगन और किच्चा सुदीप के ‘हिंदी विवाद’ ने लिया नया मोड़, मैदान में आए कर्नाटक के कई मंत्री

- Advertisement -

मुंबई। अजय देवगन और किच्चा सुदीप के बीच हुआ एक छोटा विवाद अब धीरे-धीरे काफी बड़ा बन गया है। आपको बता दें कि इन दोनों स्टार्स के बीच ट्विटर पर हिंदी भाषा को लेकर एक बात हुई थी, जो कि अब बड़ा रुप लेती दिखाई दे रही है। ऐसे में सुपरस्टार अजय देवगन के ‘हिंदी’ को राष्ट्रभाषा बताने वाले इस ट्वीट पर अब कई कर्नाटक के मंत्री खुलकर मैदान में आ गए है। कर्नाटक के राजनीतिक गलियारों में अब हिंदी विवाद की बातें होने लगी है। दरअसल हाल ही में कर्नाटक के एक्स सीएम सिद्धारमैय्या ने अजय देवगन के बयान की निंदा करते हुए ट्विटर पर लिखा कि, ‘हिंदी कभी भी न राष्ट्रभाषा थी और न रहेगी। ये हर भारतीय का कर्तव्य है कि वो हमारे देश की विविधता में एकता का सम्मान करे। हर भाषा अपने लोगों के लिए एक वृहद इतिहास समेटे हुए है जिस पर उन्हें गर्व होना चाहिए। मैं एक कनाडिगा होने पर गर्वित हूं।’

इसके अलावा जनता दल के एचडी कुमारस्वामी ने भी सुपरस्टार अजय देवगन के बयान पर रिएक्ट करते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने अपने इस ट्वीट में लिखा, ‘अजय देवगन का बयान बीजेपी के एक राष्ट्र, एक कर, एक भाषा और एक सरकार के हिंदी राष्ट्रवाद के मुखपत्र का बखान करते हुए दिख रहा है।’ इतना ही नहीं एचडी कुमारस्वामी ने कई ट्विट्स के जरिए अजय देवगन पर निशाना साधते हुए कई बातें कही हैं और साथ ही किच्चा सुदीप का समर्थन भी किया है। अपने दूसरे ट्विट में एचडी कुमारस्वामी ने लिखा कि, ‘अजय देवगन को ये नहीं भूलना चाहिए कि कन्नड़ फिल्म इंडस्ट्री हिंदी सिनेमा को बढ़ाने में मदद कर रही है। कन्नड़ सिनेमा के समर्थन की वजह से ही हिंदी सिनेमा बड़ा हुआ है। देवगन को भूलना नहीं चाहिए कि उनकी डेब्यू फिल्म बैंग्लुरू में एक साल तक चली थी।’

बता दें कि फिल्म स्टार अजय देवगन ने किच्चा सुदीप के हिंदी को राष्ट्रभाषा न मानने पर एक बयान देते हुए ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंने लिखा था कि, ‘किच्चा सुदीप मेरे भाई, आपके अनुसार अगर हिंदी हमारी राष्ट्रीय भाषा नहीं है तो आप अपनी मातृभाषा की फ़िल्मों को हिंदी में डब करके क्यूँ रिलीज़ करते हैं? हिंदी हमारी मातृभाषा और राष्ट्रीय भाषा थी, है और हमेशा रहेगी। जन गण मन ।’

 

ये विवाद तब शुरू हुआ था, जब किच्चा सुदीप ने एक बयान देते हुए कहा था कि, ‘किसी ने मुझसे कहा कि एक पैन इंडिया फिल्म कन्नड़ में बन रही है। मैं यहां एक छोटा सा सुधार करना चाहता हूं। हिंदी एक राष्ट्रभाषा नहीं रही। वो (बॉलीवुड) पैन इंडिया फिल्म आज कर रहे हैं। वो तेलुगु और तमिल में डब करने की कोशिशों में है। लेकिन उन्हें यहां सफलता नहीं मिल रही। आज हम ऐसी फिल्में बना रहे हैं जो हर जगह देखी जा रही है।’

- Advertisement -

Latest Posts

Don't Miss