Monday, November 28, 2022
--- विज्ञापन ---

Latest Posts

B’Day Special: 60 रुपये से थिएटर की शुरुआत करने वाले आलोक नाथ की जानें पहली फीस

- Advertisement -

Alok Nath Birthday Special: 90s के दशक से ही कई ऐसे नाम है, जिन्होंने बेहद संस्कारी और भले इंसान के रोल अदा किए हैं। उन्ही में से एक नाम मशहूर एक्टर आलोक नाथ (Alok Nath) का है, जिन्होंने अपने कोमल स्वभाव और अभिनय से सभी के दिलों में अपनी एक अलग पहचान बनाई। आज यानि 10 जुलाई को आलोक नाथ अपना 66वां जन्मदिन मना रहे हैं। वैसे तो आलोक नाथ ने पर्दे पर कई रोल अदा किए मगर क्या आप जानते हैं कि वो संस्कारी बाबूजी कैसे बनें? आइए आज आपको बताते है उनकी लाइफ से जुड़ी कुछ सुनी-अनसुनी कहानियां..

आलोक नाथ ने ज्यादातर फिल्मों में पिता की भूमिका निभाई है, जिसके चलते उन्हें संस्कारी बाबूजी का नाम दे दिया गया। इंडस्ट्री में 39 साल बिता चुके आलोक नाथ ने टीवी सीरियल और सिनेमा में अपनी अच्छी खासी पकड़ बनाई। बता दें कि दिग्गज एक्टर आलोक नाथ का जन्म बिहार के खगड़िया में 10 जुलाई 1956 को हुआ था। उनके पिता डॉक्टर और मां टीचर थी। आलोकना​थ का बचपन दिल्ली में बीता। शुरुआती दिनों से ही उनकी एक्टिंग में रूचि थी।

यही वजह थी कि उन्होंने कॉलेज के रुचिका थिएटर ग्रुप को जॉइन कर लिया। इसके बाद उन्होंने 3 साल तक नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में पढ़ाई की और अभिनय की गुण सीखें। फिर उनके बाद उन्होंने साल 1980 में दूरदर्शन के सीरियल ‘रिश्ते नाते’ से अपने करियर की शुरुआत की। पहले ही प्रोजेक्ट में आलोक नाथ को बाबू जी का रोल मिला। 2 साल बाद यानी 1982 में आलोक नाथ ने फिल्म ‘गांधी’ से बॉलीवुड में कदम रखा। इस फिल्म में उनका रोल बहुत छोटा था, लेकिन ‘गांधी’ फिल्म ने ही उनके आगे की राह को आसान किया। ये फिल्म इतनी ज्यादा पसंद की गई कि फिल्म को अकेडमी अवॉर्ड फॉर बेस्ट पिक्चर से भी नवाजा गया। इसके बाद आलोक ने ‘अमर ज्योति’, ‘मशाल’, ‘सारांश’ और ‘आप की आवाज’ जैसी कई फिल्में की।

खास बात तो ये है कि जब गांधी में काम करने के बदले आलोक नाथ को फीस के तौर पर 20000 रुपए मिले, तो उनकी आंखें फटी की फटी रह गईं। एक इंटरव्यू के दौरान आलोक नाथ ने कहा था, ‘थिएटर करने के दौरान उन्हें 60 रुपए दिए जाते थे, इसलिए जब ‘गांधी’ के लिए फीस की बात की गई तो मैंने मेकर्स से 100 रुपए मांगे। मेरी बात सुन मेकर्स ने मुझसे कहा कि 20 हजार में डील डन करते है, इतना बड़ा अमाउंट सुनकर तो मैं भी हक्का-बक्का रह गया और जब ये बात मैंने अपनी मां को बताई, तो उन्होंने कहा तेरे पिता तो साल में 10000 भी नहीं कमाते’।

आगे बता दें कि आलोकनाथ ने जब सूरज बड़जात्या और राजश्री प्रोडक्शन की फिल्में की, तो उनके करियर को नई उंचाई मिली। उस समय उनकी फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’, ‘हम आपको हैं कौन’ और ‘मैंने प्यार किया’ में उन्होंने पिता का रोल किया, जिसे दर्शकों ने खूब पसंद किया। इन फिल्मों ने आलोक नाथ को ‘संस्कारी बाबू जी’ के रुप में फेमस कर दिया।

एक के बाद एक बड़ी कामयाबी की राह में बढ़ते गए आलोक ने टीवी इंडस्ट्री में भी अपने नाम का डंका बजाया। उन्होंने ‘बुनियाद’, ‘भारत एक खोज’, ‘वो रहने वाली महलों की’, ‘सपना बाबुल का बिदाई’ और ‘यहां मैं घर-घर खेली’ जैसे पॉपुलर शोज में काम किया। बॉलीवुड और छोटे पर्दे दोनों जगह अपनी पहचान बनाने वाले आलोक नाथ ने अपने करियर में तकरीबन 140 फिल्मों में काम किया है, इसके साथ ही वो 15 से ज्यादा टीवी सीरियल्स में भी नजर आ चुके हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक तो आलोक नाथ और नीना गुप्ता का अफेयर था। दोनों का आठ साल तक अफेयर था। हालांकि, उनका रिश्ता मुकाम तक नहीं पहुंच सका। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दोनों एक्ट्रेस से आलोक की सगाई भी हुई थी, लेकिन आखिर वक्त पर उनका रिश्ता टूट गया।

इसके बाद फिल्मों में आने के बाद साल 1987 में आलोक नाथ ने आशु सिंह से शादी की। अब दोनों के दो बच्चे एक बेटा शिवांग नाथ और बेटी जुनाई नाथ है।

यही नहीं संस्कारी पिता का विवादों से भी गहरा नाता रहा है। आलोक नाथ के साथ काम कर चुकीं प्रोड्यूसर विनता नंदा ने उनके ऊपर रेप का आरोप लगाया था। विनता ने फेसबुक पोस्ट करके आरोप लगाए थे। हालांकि, आलोक नाथ कोर्ट से बरी कर दिया गया था।

- Advertisement -

Latest Posts