Wednesday, 24 April, 2024

---विज्ञापन---

क्या होती हैं XXX फिल्में… कैसे एडल्ट MOVIES से कैसे जुड़ा ये नाम

xxx Mean Adult Movies: X रेटिंग सिर्फ न्यूडिटी के लिए नहीं होता है, इसका यूज एक्सप्लिसिट कंटेंट के लिए भी किया जाता है।

XXX letters associated with adult content...
XXX letters associated with adult content...

xxx Mean Adult Movies: जब एडल्ड फिल्मों की बात होती है तो लोग उसे एक शब्द से जोड़कर देखने लग जाते हैं। गूगल पर भी लोग एडल्ड फिल्मों को सर्च करने के लिए सिर्फ एक शब्द का यूज करते हैं। जी हां हम बात इंग्लिश के X वर्ड की बात कर रहे हैं, क्योंकि इसका लोग गलत ही मतलब समझ लेते हैं। X का नाम सुनते ही लोगों के दिमाग में पहली चीज पोर्न आती है, क्योंकि इस शब्द को लोग सीधे पोर्न फिल्मों से जोड़ कर देख लेते हैं। मगर आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के जरिए X का असली मतलब बताने जा रहे हैं।

फिल्मों की रेटिंग्स (xxx Mean Adult Movies)

हर फिल्म को रिलीज होने से पहले सेंसर बोर्ड से रेटिंग्स मिलती है और उन रेटिंग्स के हिसाब से ही फिल्मों के लिए ऑडियंस की उम्र की सीमा का निर्णय लिया जाता है। दुनियाभर में ही फिल्म इंडस्ट्री की रेटिंग्स का क्राइटेरिया लगभग एक जैसा ही है और इससे हर मूवी को होकर गुजरना ही पड़ता है। सेंसर बोर्ड से फिल्मों को UA उन फिल्मों को दिया जाता है जिन्हें 12 से ज्यादा उम्र के बच्चे देख सकते हैं, UV को यूनिवर्सल व्यूअर रेटिंग समझा जाता है, S सर्टिफिकेट स्पेशल ऑडियंस वाली मूवीज को मिलता ह, जबकि A एडल्ट फिल्मों को दिया जाता है, जिन्हें 18 साल से कम उम्र के बच्चे नहीं देख सकते हैं।

X रेटिंग क्या है? (xxx Mean Adult Movies)

X रेटिंग को ज्यादातर लोग न्यूडिटी से जोड़कर देखते हैं और अगर किसी भी फिल्म हो या वेब सीरीज या फिर कोई वेबसाइट और मैगजीन को ही क्यों ना X रेटिंग दी गई हो। इस एक शब्द को देखते ही लोग इसे पोर्न से जोड़ लेते हैं और गलत समझ लेते हैं। मगर ऐसा जरूरी नहीं है कि एक्स का मतलब सिर्फ न्यूडिटी हो। जी हां, X रेटिंग सिर्फ न्यूडिटी के लिए नहीं होता है, इसका यूज एक्सप्लिसिट कंटेंट के लिए भी किया जाता है। अगर किसी को एक्स रेटिंग मिली है, तो उसका ये मतलब बिल्कुल भी नहीं है कि वो एडल्ट कंटेंट ही है, इस शब्द का इस्तेमाल एक्स्ट्रीम वायलेंस वाली फिल्मों के लिए भी हो सकता है।

XXX कैटेगरी का मतलब

जानकारी के लिए बता दें कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस की ऑफिशियल वेबसाइट पर भी XXX से जुड़ी जानकारी दी हुई है, जिसमें लिखा है कि XXX कैटेगरी में उन फिल्मों को रखा जाता है, जो एक्सट्रिमली सेक्शुअल एक्सप्लिसिट नेचर (अत्यंत स्पष्ट यौन प्रकृति) की होती है। इन्हें X रेटेड मूवीज भी कहा जाता है और बंगाल और असम सिनेमा में इन एडल्ट फिल्मों की ज्यादा भरमार देखने को मिलती है।

यह भी पढ़ें: फेमस सिंगर का है Shoaib Malik की नई बेगम से खास कनेक्शन

कैसे-कब एडल्ट कंटेंट से जुड़ा X

मोशन पिक्चर असोसिएशन ऑफ अमेरिका (MPAA) ने पहली बार साल 1968 में X रेटिंग का यूज किया था। उस समय इस शब्द का इस्तेमाल एडल्ट कंटेंट के लिए किया जाता था, जिसे सिर्फ बड़े ही देख सकें। इसमें न्यूडिटी ही नहीं बल्कि वायलेंस,गलत भाषा जैसे गालियां और न्यूड और इंटीमेट सीन्स भी शामिल थे। अब सवाल उठता है कि सिर्फ X लेटर को ही क्यों चुना गया था, तो बता दें कि एक्स शब्द का साइन खतरा और क्रॉस के लिए यूज होता है। इसलिए इन कंटेटे को एडल्ड के अलावा कोई ना देखें… उसके लिए इस शब्द को चुना गया था।

X रेटिंग मिलने वाली फर्स्ट मूवी

बता दें कि फिल्म ‘ग्रीटिंग्स’ को पहली बार X रेटिंग मिली थी। इस फिल्म के एक्टर रॉबर्ट डी नीरो थे। हालांकि उसके बाद साल 1970 से 1980 के आने तक एडल्ट फिल्म इंडस्ट्री ने X-रेटिंग को अपना हिस्सा बना लिया था। तभी से XXX शब्द का इस्तेमाल पोर्नोग्राफिक कंटेंट के लिए होने लगा। धीरे-धीरे लोगों ने तीन एक्स के साथ एड वगैरा भी करना बंद कर दिया। इतना ही नहीं आज तक XXX सिर्फ पोर्नोग्राफिक कंटेंट के यूज होता है।

First published on: Jan 20, 2024 08:02 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.