Sunday, November 27, 2022
--- विज्ञापन ---

Latest Posts

अधूरी रह गई सिद्धू मूसे वाला की मां की ये आखिरी इच्छा, अब कभी नहीं होगी पूरी

- Advertisement -

Sidhu Moose wala। पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला (Sidhu Moosewala) की 29 मई को गोलीमारकर हत्या कर दी गई। पूरे पंजाब इस वक्त सनसनी फैली (Sidhu Moosewala Death) हुई है। सोशल मीडिया पर हर कोई अपने-अपने अंदाज श्रद्धांजलि दे रहा है। सिद्धू मूसेवाला (Sidhu Moosewala) के परिवार का रो रोकर बुरा हाल है। सिंगर की मां बेटे के इस तरह जाने से सदमे में हैं। बेटे के अचानक यूं चले जाने से सिद्धू मूसेवाला की मां का एक सपना अधूरा रह गया, जिसे अब वो चाहकर भी पूरा नहीं कर पाएंगी।

दरअसल, सिद्धू 28 साल के थे। उनकी मां उन्हें घोड़ी चढ़ता देखना चाह रही थीं। इसके लिए वह शादी की भी तैयारियां कर रही थीं। जनवरी 2022 में सिंगर की मां ने बताया था कि बेटा शादी करने वाला है और यह अरेंज नहीं बल्कि लव मैरिज होगी। एक इंटरव्यू में मां ने बेटे के सिंगल से मिंगल होने के सवाल पर कहा था, ‘बस थोड़ा समय और… फिर वह सिंगल नहीं रहेगा। हम उसकी शादी की तैयारियां कर रहे हैं, जो चुनाव के बाद इसी साल हो जाएगी।’

और पढ़िए –  बॉलीवुड डेब्यू करने को तैयार इब्राहिम अली खान, इस फिल्म में आएंगे नजर

 

मां के मुताबिक, सिंगर ने लड़की खुद चुनी है। यहां तक की उन्होंने सगाई भी कर ली थी, लेकिन अब यह सपना अधूरा रह गया। अब इसे कोई चाहकर भी पूरा नहीं कर सकेगा। हालांकि लड़की कौन है, इस बारे में तो कोई जानकारी नहीं है। लेकिन जाहिर है कि इस दुखों का पहाड़ उन पर भी टूटा होगा। आपको बता दें सिंगर की हत्या मनसा के गांव में हुई, जह हमलावरों ने एके47 से उन पर और उनके दो साथियों पर 30 राउंड फायरिंग कर दी। जब तक अस्पताल ले जाया गया, तब तक उन्होंने दम तोड़ दिया था।

सिंगर की मौत के कुछ ही देर बार पंजाब के टॉपमोस्ट गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के कनाडा बेस्ड साथी गोल्डी बराड़ ने इसकी जिम्मेदार भी ले ली। जानकारी के मुताबिक सिद्धू मूसेवाला लंबे वक्त से लॉरेंस बिश्नोई और उसके गैंग के निशाने पर थे। बता दें गोल्डी बराड़ (Goldy Brar killed Sidhu Moose Wala) ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी लेते हुए सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखा।

फेसबुक पर शेयर किए गए पोस्ट में गोल्डी बराड़ ले लिखा था, ‘आज मूसेवाला की पंजाब में हत्या कर दी गई। मैं, सचिन बिश्नोई, लॉरेंस बिश्नोई इसकी जिम्मेदारी लेते हैं। यह हमारा काम है। मूसेवाला का नाम हमारे भाई विक्रमजीत सिंह मिदूखेरा और गुरलाल बराड़ की हत्या में सामने आया था।

लेकिन पंजाब पुलिस ने मूसेवाला के खिलाफ कोई ऐक्शन नहीं लिया। हमें यह भी पता चला कि सिद्धू मूसेवाला हमारे असोसिएट अंकित के एनकाउंटर में भी शामिल था। मूसेवाला हमारे खिलाफ काम कर रहा था। दिल्ली पुलिस ने भी उसका नाम लिया था, लेकिन मूसेवाला ने अपनी पॉलिटिकल पावर का इस्तेमाल कर हर बार खुद को बचा लिया।’

 

यहाँ पढ़िए – बॉलीवुड से  जुड़ी ख़बरें

 

Click Here –  News 24 APP अभी download करें

- Advertisement -

Latest Posts