---विज्ञापन---

ताइवान की यह कंपनी लगा रही पुणे में ईवी प्लांट, जानें इससे क्या होगा फायदा?

Gogoro: ताइवान की इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी Gogoro पुणे और औरंगाबाद में ईवी और बैटरी मैन्युफेक्चरिंग प्लांट लगाएगी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा, “गोगोरो का लक्ष्य दो-पहिया ईवी का उत्पादन करना है जो इसकी ओपन और एक्सेसिबल बैटरी स्वैप टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करती है। महाराष्ट्र में 40 हजार करोड़ का निवेश जानकारी […]

Taiwan,Gogoro, EV battery plant, Pune
फाइल फोटो

Gogoro: ताइवान की इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी Gogoro पुणे और औरंगाबाद में ईवी और बैटरी मैन्युफेक्चरिंग प्लांट लगाएगी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा, “गोगोरो का लक्ष्य दो-पहिया ईवी का उत्पादन करना है जो इसकी ओपन और एक्सेसिबल बैटरी स्वैप टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करती है।

महाराष्ट्र में 40 हजार करोड़ का निवेश

जानकारी के अनुसार गोगोरो महाराष्ट्र में करीब 40 हजार करोड़ का निवेश करेगी। गोगोरो की ईवी और बैटरी मैन्युफेक्चरिंग यूनिट्स 12,482 करोड़ रुपये के निवेश के साथ आएंगी। बीते दिनों कंपनी और राज्य सरकार ने इसे लेकर समझौता किया था।

बैटरी चार्ज करने का झंझट खत्म

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार गोगोरो इंडिया में बैटरी स्वैपिंग के लिए बुनियादी ढांचा स्थापित करेगा। इसके अलावा दिसंबर 2023 तक एक मैन्युफेक्चरिंग प्लांट भी लगाएगा। वहीं, अगले कुछ वर्षों में महाराष्ट्र में करीब 12,000 बैटरी स्वैपिंग स्टेशन लगाएगा। इससे बैटरी चार्ज करने का झंझट खत्म होगा।

भारत में 8,735 ईवी चार्जिंग स्टेशन

साल 2022 में गोगोरो ने बैटरी-स्वैपिंग नेटवर्क के साथ भारतीय बाजार में एंट्री की थी। कंपनी ने अपने पायलट प्रोजेक्ट के तहत Zypp Electric के साथ साझेदारी की थी। कंपनी ने भारत में 2 सीरीज इलेक्ट्रिक स्कूटर रेंज को तैयार किया है। बता दें पूरे भारत में 8,735 ईवी चार्जिंग स्टेशनों में से महाराष्ट्र में कुल 2,354 चार्जिंग स्टेशन हैं।

First published on: Jun 30, 2023 08:04 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.