---विज्ञापन---

मेकअप करके उठी एक्ट्रेस की अर्थी, इतनी थी खूबसूरत देवी मान पूजते थे लोग, आखिरी दिनों में कैसे लगा बदसूरती का दाग

Anita Guha Death Anniversary: हिंदी सिनेमा एक ऐसी एक्ट्रेस जिसे देवी की तरह लोग पूजते थे, मां सीता के रोल निभाकर हीरोइन ने करोड़ों नोट छापे। मगर अपने आखिरी दिनों में एक्ट्रेस अपना चेहरा तक आइने में नहीं देखना चाहती थी। एक बीमारी ने उनकी सारी खूबसूरती छीन ली थी। ऐसी वजह है कि जिंदा होते हुए एक्ट्रेस ने अपने परिवारवालों को आखिर इच्छा बताते हुए कहा था कि मेरा अंतिम संस्कार मेकअप करके ही करना।

Anita Guha Death Anniversary

Anita Guha Death Anniversary: 30 सालों तक फिल्मी दुनिया में काम करने वाली वो एक्ट्रेस जिसे देवी मान लोग पूजते थे। सुपरस्टार एक्ट्रेस ने इंडस्ट्री में नाम तो बहुत कमाया मगर अपने आखिर दिनों में उन्होंने दर्दनाक समय भी देखा। वो कहते ना किस्मत के आगे राजा भी मजबूर होता है, वो कहावत इस एक्ट्रेस पर बिल्कुल फिट बैठती है। जिसने अपनी खूबसूरती और एक्टिंग के दम पर इंडस्ट्री पर राज तो किया, लेकिन किस्मत ने उसके साथ ऐसा खेल खेला कि उसे अपनी चेहरे से इस कदर नफरत हो गई थी कि वो खुद को आइने में देखना तक नहीं चाहती थी। हम बात कर रहे हैं कि 70 के दशक की सबसे सफल एक्ट्रेस अनीता गुहा (Anita Guha) की। 20 जून यानी आज एक्ट्रेस की डेथ एनिवर्सी (Anita Guha Death Anniversary) है और आज हम आपको उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें बताने जा रहे हैं।

क्यों माता मानकर पूजते थे लोग? 

अनीता गुहा का जन्म 17 जनवरी 1932 में हुआ था, उन्होंने अपने 30 साल के एक्टिंग करियर में कई फिल्मों में काम किया। मगर साल 1975 में आई फिल्म ‘जय संतोषी मां’ उनके करियर का टर्निंग पॉइंट साबित हुई, मां संतोषी के रोल में लोग एक्ट्रेस को इस कदर पसंद करने लगे थे कि वो उन्हें असल लाइफ में भी देवी समझकर उनकी पूजा करने लगे थे। लोगों ने उनके देवी मां वाले पोस्टर अपने घरों के मंदिरों में तक लगा दिए थे और उनकी पूजा-अर्चना करने लगे थे। इसके अलावा उन्होंने साल 1961 में आई फिल्म ‘संपूर्ण रामायण’ में अनीता ने माता सीता का रोल निभाया था।

एक्ट्रेस को नहीं मिला सन्तान सुख

‘तांगा वाली’, ‘देख कबीरा रोया’, ‘शारदा’ और ‘गूंज उठी शहनाई’ जैसी फिल्मों में काम करने वाली अनीता गुहा को बचपन से ही मेकअप का बहुत शौक था। इस वजह से स्कूल के दिनों में उन्हें काफी डांट भी सुननी पड़ती थी। एक्टिंग के प्रति अपनी इसी लगन के चलते ही वो हिंदी सिनेमा की सुपरस्टार एक्ट्रेस बन पाईं। स्टारडम का स्वाद चखने वाली अनीता गुहा (Anita Guha Death Anniversary) को अपनी पर्सनल लाइफ में वो खुशी नहीं मिल पाई, जो उन्हें बॉलीवुड में मिली। अनीता गुहा ने एक्टर माणिक दत्त से शादी रचाई थी, मगर वो भी जल्द ही दुनिया को अलविदा कह गए। अनीता को जिंदगी भर इस बात का गम रहा कि वो कभी मां नहीं बन पाईं।

बीमारी ने लगाया बदसूरती का दाग

पति की मौत के बाद अनीता (Anita Guha Death Anniversary) काफी अकेली हो गई थीं। इतना ही नहीं अकेलेपन के साथ एक्ट्रेस को एक ऐसी बीमारी हो गई, जिसने उनसे उनकी खूबसूरती भी छीन ली। दरअसल, अनीता गुहा को ल्यूकोडर्मा  नाम की बीमारी हो गई थी, इस बीमारी की वजह से धीरे-धीरे उनके शरीर पर सफेद धब्बे पड़ने लगे थे। शुरुआत में अपनी बीमारी को दुनिया की नजरों से छुपाने के लिए एक्ट्रेस फिल्मों में हैवी मेकअप करने लगी थीं। मगर समय बीतने के साथ उनके सफेद धब्बे भी बढ़ने लगे और एक्ट्रेस को खुद ही नफरत हो गई थी।

एक्ट्रेस की आखिरी इच्छा

अनीता गुहा के आखिरी दिन अकेलेपन और बीमारी के चलते बहुत दर्दनाक बीते। एक्ट्रेस ने खुद से ही नफरत करनी शुरू कर दी थी और यही वजह है कि उन्होंने अपनी मौत से पहले परिवारवालों के सामने आखिरी इच्छा रखी थी। वो अपनी बीमारी से इस कदर परेशान और दुखी हो गई थीं कि उन्होंने अपने परिवारवालों से कहा था कि मेरा मेकअप करके अंतिम संस्कार करें। जब साल 2007 में एक्ट्रेस ने दम तोड़ा था, तब उनकी फैमिली ने उनकी आखिरी इच्छा का मान रखते हुए मेकअप करने के बाद ही उनकी अर्थी उठाई थी।

यह भी पढ़ें: फूला चेहरा-निकला पेट, झड़ गए सारे बाल; Tum Bin के इस हीरो का कैसा हुआ हाल?

 

First published on: Jun 20, 2024 11:37 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.