हिंदी भाषा को लेकर किच्चा सुदीप और अजय देवगन की बहस पर आया सोनू सूद और रामगोपाल वर्मा का रिएक्शन

- Advertisement -

मुंबई। सोशल मीडिया पर कल से ही हिंदी भाषा को लेकर बहस चल रही है। इस बहस की शुरुआत किच्चा सुदीप की एक कॉन्ट्रोवर्शिल बात से शुरू हुई थी। जिसमें उन्होंने कहा था हिंदी अब राष्ट्रीय भाषा नहीं है और बॉलीवुड तमिल और तेलुगू में जगह बनाने के लिए स्ट्रगल कर रहा है। इसके जवाब में बॉलीवुड स्टार अजय देवगन ने एक ट्वीट किया था। जिसके बाद से ये बहस इस कदर सोशल मीडिया पर बढ़ गई कि अब लगातार इसकी ही चर्चाएं हो रही हैं। लेकिन अब इस बहस में दो और नए नाम जुड़ गए हैं, जो कि है राम गोपाल वर्मा और सोनू सूद का। राम गोपाल वर्मा ने ट्वीट कर कुछ ऐसा लिख दिया है कि जिसे देखने के बाद अजय देवगन के फैंस काफी गुस्सा हो गए।

 

 

और पढ़िएGood News: जल्द पापा बनने वाले हैं ​सिंगर परमिश वर्मा, 6 महीने पहले हुई थी शादी

राम गोपाल वर्मा अक्सर देश में हो रहे विवादित मुद्दों पर अपनी राय रखते हुए दिखाई देते रहते हैं। कभी उनकी फिल्म किसी विवाद के कारण चर्चा में आ जाती है, तो कभी इनका कोई बयान बहस का विषय बन जाता है। इस बीच हिंदी भाषा को लेकर चल रही बहस में राम गोपाल वर्मा ने कुछ ऐसा बोल दिया जिससे मामला अब पूरी तरह से नॉर्थ और साउथ बन गया है। अगर बात करें राम गोपाल वर्मा की तो उन्होंने इस मुद्दे पर बहुत से ट्वीट किए है। पहले तो उन्होंने लिखा था कि, किच्चा सुदीप सर की इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि नॉर्थ के स्टार्स साउथ के स्टार्स से असुरक्षित महसूस करते हैं और जलते भी हैं। क्योंकि एक कन्नड़ डबिंग फिल्म केजीएफ 2 ने ओपनिंग डे पर 50 करोड़ की कमाई कर ली और हम सभी आगे हिंदी फिल्मों के ओपनिंग डेज देखेंगे।

इसके बाद एक और ट्वीट में रामगोपाल वर्मा ने अजय पर निशाना साधते हुए लिखा, सच्चाई सबके सामने आने ही वाली है, रनवे 34 का कलेक्शन साबित करेगा कि कौन किताना पानी में है। लेकिन इसी बीच सोनू सूद ने भी एक इंटरव्यू के दौरान इस मुद्दे पर बयान दिया है। सोनू सूद ने मीडिया हाउस से बातचीत करते हुए कहा कि, ‘मुझे नहीं लगता हिंदी को बस राष्ट्रीय भाषा कहा जा सकता है। भारत की एक भाषा है, जो है एंटरटेनमेंट। इससे फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन सी इंडस्ट्री से आते हैं। अगर आप लोगों को एंटरटेन करते हैं तो वे आपसे प्यार करेंगे। आपका सम्मान करेंगे और आपको स्वीकार करेंगे।’

इसके बाद सोनू सूद (Sonu Sood) ने साउथ फिल्मों की सक्सेस पर बात करते हुए कहा कि, ‘साउथ फिल्मों की सफलता हिंदी मूवीज के बनने का तरीका चेंज करेगी।’ सोनू का ये मानना है कि अब फिल्ममेकर्स को लोगों की पसंद के हिसाब से फिल्मों को बनाना चाहिए। वो दिन चले गए जब लोग कहते थे कि अपना दिमाग छोड़कर मूवी देखने आओ। अब लोग अपना दिमाग पीछे नहीं छोड़ते और एक एवरेज फिल्म पर अपने हजारों रुपये खर्च नहीं करते। अगर दूसरे शब्दों में कहे तो लोगों को अब सेंसिबल फिल्में पसंद आती हैं।

 

यहाँ पढ़िए – बॉलीवुड से  जुड़ी ख़बरें

 

 

Click Here –  News 24 APP अभी download करें

- Advertisement -
Exit mobile version