Saturday, October 1, 2022
--- विज्ञापन ---

Latest Posts

NEET 2022 Result: बायोमेंटर्स के छात्र किशन प्रजापति ने 688 अंक पाकर NEET एग्जाम में झंडे गाड़े

- Advertisement -

NEET 2022 Result: 16 लाख से अधिक छात्रों का NEET 2022 result का इंतजार अब खत्म हो गया है। मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम NEET के नतीजे आ चुके हैं। देर रात 7 सितंबर 2022 को नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानी NTA द्वारा ऑफिशियल वेबसाइट्स nta.ac.in पर रिजल्ट की घोषणा की गई। इस साल NEET परीक्षा में कुल 18,72,343 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था, जिसमे से 17,64,571 छात्र परीक्षा में शामिल हुए और कुल 9,93,069 छात्र पास हुए हैं।पास हुए इन छात्रों की लिस्ट में बायोमेंटेर्स के भी कई छात्रों का नाम है।

बायोमेंटर्स के टॉपर्स लिस्ट में छात्र किशन प्रजापति ने 688 अंक, प्रशांत कटियार ने 686 अंक और नितिन कटारिया ने 675 अंक प्राप्त किए है। कई छात्रों ने 650+ अंक प्राप्त किए जो एम्स दिल्ली के अलावा किसी भी एम्स में प्रवेश पाने के लिए एक अच्छा स्कोर है। आपको बता दे कि, देश में एमबीबीएस के लिए कुल 91927 सीटें है जिनमे से सरकारी कॉलेज में 48212 सीट और निजी कॉलेज में 43915 विभाजित हैं। इतना ही नहीं NEET के माध्यम से सरकारी MBBS सीट पाने की संभावना लगभग 2 से 3% ही होती है। ऐसी स्थिति में NEET परीक्षा की तैयारी के लिए बिल्कुल कड़ी मेहनत और सही दिशा की जरूरत होती ह

NEET परीक्षा के लिए अगर मार्गदर्शन की बात करे तो ‘Biomentors’ भारत में केवल इकलौता एडटेक प्लेटफॉर्म है जो 100% NEET की तैयारी के लिए समर्पित है, इसलिए ये संस्था NEET एग्जाम के स्पेशलिस्ट के रूप में भी मशहूर है। संस्थापक डॉ. गीतेंद्र सिंह के नेतृत्व में बायोमेंटर्स ऑनलाइन 2017 से लगातार अच्छे परिणाम देता आ रहा है, इनके मार्गदर्शन से कई छात्रों का भारत के विभिन्न एम्स में चयन हुआ है। इस साल NEET 2022 के रिजल्ट में बायोमेंटेर्स द्वारा पढ़ाये गए 379 से अधिक छात्रों ने 720 अंकों में से 625 से अधिक अंक प्राप्त किए जो कि टॉप रैंक वाले सरकारी मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाने के लिए एक बहुत अच्छा स्कोर है। 1211 से अधिक छात्रों ने 720 अंकों में से 600 से अधिक अंक प्राप्त किए जो एक ऐसा स्कोर है जिस पर किसी भी सरकारी कॉलेज में प्रवेश आसान हो जाता है।कई बायोमेंटर्स कमांडो यानि छात्रों ने पहले प्रयास में नीट में अच्छी रैंक हासिल की है।

बायोमेंटर्स के पिछले कुछ सालों की टॉपर्स की बात करे तो NEET 2020 में- विवेक दुबे ने 695 अंक हासिल किये थे तो वही NEET 2021 में – मृदुल अग्रवाल ने 700 अंको से टॉप किया था। इनसे पढ़ के हर साल हजारों छात्रों का सरकारी मेडिकल कॉलेज में दाखिला पाने का सपना साकार हो रहा है। डॉ. गीतेंद्र सिंह के नेतृत्व में चलने वाला बायोमेटर्स इंस्टिट्यूट NEET उम्मीदवारों को ऑनलाइन आसान तरीकों से तैयारी कराता है। आप इनकी बेस्ट फैकल्टी का अंदाजा इस बात से ही लगा सकते है कि डॉ. गीतेंद्र सिंह खुद एक बहुत ही योग्य डॉक्टर हैं- जीएमसी भोपाल से एमबीबीएस, सीएमसी वेल्लोर से मास्टर ऑफ मेडिसिन; जॉन हॉपकिंस मेडिकल यूनिवर्सिटी यूएसए से मधुमेह में विशेषज्ञता पाने के बाद भी बच्चों को पढ़ाना उनका जूनून है, उनके पास 25 साल से ज्यादा का टीचिंग एक्सपीरियंस है।

NEET परीक्षा को लेकर डॉ. गीतेंद्र कहते है ‘नीट परीक्षा को क्वालीफाई करने के लिए सही दृष्टिकोण और कड़ी मेहनत की जरूरत है, कॉम्पिटिशन हर साल बढ़ सकता है और पेपर का स्तर भी बढ़ सकता है इसलिए छात्रों को एक फोकस्ड तरीके से काम करना चाहिए। एनसीईआरटी की किताबें बहुत महत्वपूर्ण हैं, लेकिन सिर्फ उन्हें पढ़ें नहीं- उन किताबों को समझने की कोशिश करें। कई जगहों पर एनसीईआरटी की किताबें एक सिलेबस मात्र रह जाती हैं इसलिए एनसीईआरटी से थोड़ा आगे की खोज करें क्योंकि NEET 2023 का पेपर MCQ और Assertion Reason टाइप के प्रश्नों जैसे अधिक पहेली के साथ अलग होगा’

इस साल बायोमेंटर्स उन छात्रों के लिए ‘रिपीटर्स रैपिड रिवीजन’ (RRR) बैच शुरू करने जा रहा हैं जो बॉर्डरलाइन स्कोर पर हैं और अब NEET 2023 के लिए क्वालीफाई करना चाहते है। इसमें एडमिशन की प्रक्रिया 19 सितंबर 2022 से शुरू होगी और 26 सितंबर से नए बैच की पढ़ाई शुरू होगी। बायोमेंटर्स हमेशा 100 प्रतिशत जुनून के साथ गुणवत्तापूर्ण काम में विश्वास करते हैं इसलिए ये संस्थान हमेशा सीमित प्रवेश लेता है।

अभी पढ़ें – नौकरी से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

 

- Advertisement -

Latest Posts

Don't Miss