--- विज्ञापन ---

Latest Posts

मलयालम स्क्रीन राइटर जॉन पॉल का निधन, साउथ सिनेमा में शोक की लहर

- Advertisement -

Tollywood News: मलयालम फिल्मों के मशहूर स्क्रीन राइटर जॉन पॉल (John Paul) का निधन हो गया जिससे पूरे साउथ सिनेमा में शोक की लहर दौड़ गई है। खबर हैं कि, वो काफी लंबे समय से बीमार चल रहे थे और आज उन्होंने 72 साल की उम्र में आखिरी सांस ली। बताया जा रहा है कि, जॉन पॉल को दो महीने से सांस लेने में दिक्कत हो रही थी जिसके चलते उन्हें अस्तपाल में भर्ती करवाया गया लेकिन आज उन्होंने जिंदगी से लड़ते-लड़ते दुनिया को अलविदा कह दिया।

रिपोर्ट के मुताबिक, उनके दोस्तों और परिजनों ने जॉन पॉल के इलाज में होने वाले खर्च के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया था। केरल सरकार ने भी उनके इलाज के लिए 2 लाख रुपये तक की मदद की थी। वहीं उनके जाने के बाद फैंस और दोस्त सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर दिवंगत कलाकार को श्रद्धांजलि दे रहे हैं। वहीं मलयालम एक्टर कुंचाको बोबन ने भी मलयालम लेखक को एक भावभीनी श्रद्धांजलि दी। इंस्टाग्राम पर एक्टर ने लिखा कि, ‘उन्होंने बहुत सारी आत्मा को छू लेने वाली फिल्मों का निर्माण किया। वो सभी के दिलों में जिंदा रहेंगे।

जॉन पॉल पुथुसरी का जन्म 29 अक्टूबर, 1950 को केरल में हुआ था। उन्होंने करीब 100 फिल्मों में बतौर स्क्रीनराइटर काम किया। शुरुआती दौर में वो शॉर्ट फिल्मों और विज्ञापनों के लिए स्क्रिप्ट लिखते थे। 1972 में उन्होंने एक बैंक में किया था। हालांकि, 11 साल नौकरी करने के बाद 1983 में इस्तीफा दे दिया और पूरी तरह से फिल्मों में स्क्रिप्ट राइटिंग पर फोकस किया।

जॉन पॉल (John Paul) ने मलयालम की कई मशहूर फिल्मों की स्क्रिप्ट लिखी है। इनमें चमारम, मरमारम, विदा परायुम मुनपे, कथारियाथे, ओरमक्कायी, अस्त्रम, ‘कठोडु कथोरम’, यथरा, पुरप्पाडु, ओरुक्कम, रंदम, वरवु, चमयम, अक्षरम, कट्टाथे किलिककूडु और वेल्लाथुवल शामिल हैं। जॉन पॉल आखिरी फिल्म साल 2020 में लिखी थी। वो आज इस दुनिया में नहीं है लेकिन उनकी यादें हमेशा याद रहेगी।

 

 

- Advertisement -

Latest Posts

Don't Miss