खुशबू सुंदर ने चिरंजीवी और रजनीकांत को लेकर किया खुलासा, कहा- दोस्त हो तो ऐसे…

- Advertisement -

Tollywood News: एक्ट्रेस से नेता बनीं खुशबू सुंदर (Khushbu Sundar) को कौन नहीं जानता जिन्होंने एक्टिंग के साथ-साथ राजनीति में भी खूब नाम कमाया है लेकिन क्या आप जानते है वो चिरंजीवी (Chiranjeevi) और रजनीकांत (Rajinikanth) की बहुत अच्छी दोस्त है। कहा जाता है ना, ‘दोस्ती हो तो ऐसी हो जिसे दुनिया याद करे और इस दोस्ती को बरकरार रखा चिरंजीवी, रजनीकांत और खुशबू सुंदर ने। खुशबू सुंदर ने अपनी दोस्ती और दो दोस्त चिरंजीवी और रजनीकांत को लेकर कई खुलासे किए है जिसे सुनकर चिरंजीवी और रजनीकांत खुश हो जाएंगे।

एक इटरव्यू में अभिनेत्री से नेता बनीं खुशबू सुंदर (Khushbu Sundar Statement) ने चिरंजीवी और रजनीकांत के साथ अपनी दोस्ती के बारे में बात करते हुए कहा, “80 के दशक में राज करने वाले दक्षिण भारतीय सिनेमा के सितारे अपने व्हाट्सएप ग्रुप पर समय बिताते हैं, अपने पिछले अनुभवों और यादों को ताजा करते हैं। उन्होंने एक लंबा सफर तय किया है।” ” हमारा 80 का समूह है जो हमें एकजुट रखता है। हर दिन 100 मैसेज एक दूसरे को भेजते है, हम ग्रुप में फोटो और सब कुछ शेयर करते रहते हैं। चिरंजीवी व्हाट्सएप पर नहीं हैं लेकिन फिर भी, हम सभी संपर्क में हैं। एक दूसरे के साथ।’

खुशबू सुंदर ने खुलासा किया जो हाल ही में चिरंजीवी से हैदराबाद में उनके घर पर मिले थे। आखिरी बार सुपरस्टार रजनीकांत के साथ अन्नात्थे में नजर आईं एक्ट्रेस खुशबू सुंदर अगर कुछ भी पसंद करती हैं तो वो तमिल फिल्में करना। उन्होंने कहा कि, वो तमिल फिल्में करना चाहती हैं। खुशबू सुंदर ने ये भी कहा कि, “मैं तमिल में और फिल्में करना पसंद करूंगा लेकिन दुर्भाग्य से, अभी तक कुछ भी दिलचस्प नहीं हुआ है। हालांकि, 28 सालों के बाद रजनी सर के साथ काम करने का एक अनुभव था और उनसे बहुत कुछ सीखा है। मैंने जो देखा है और उसे जाना जाता है, वो बिल्कुल भी नहीं बदले है। वो एक बहुत छोटे बच्चे के रूप में सामने आते है।

आपको बता दें, खुशबू सुंदर ने इंडस्ट्री में 4 दशक पूरे कर लिए हैं। इसपर खुशबू कहती हैं कि, “यात्रा सुंदर रही है। मैं आज पीछे मुड़कर देखती हूं और कहती हूं कि मैं आज जो हूं, उसके कारण मैं हर रास्ते पर चली। मुझे लगता है कि मैं यहां इसलिए पहुंची हूं क्योंकि मैं काफी भाग्यशाली थी, मेरे पास काम करने के लिए कुछ शानदार निर्देशक और अभिनेता थे। उतार-चढ़ाव थे लेकिन मुझे अपने करियर के किसी भी पल का पछतावा नहीं है।’

 

 

- Advertisement -
Exit mobile version