कुछ ऐसी थी Chetan Anand और Priya Rajvansh की लव स्टोरी, प्रेमी के बेटों ने करवा दी थी एक्ट्रेस की हत्या

जरे जमाने की एक्ट्रेस रह चुकीं प्रिया राजवंश (Priya Rajvansh) भले ही आज इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन उनकी यादें आज भी लोगों के दिलों में जिंदा हैं। प्रिया राजवंश का जन्म हिमाचल प्रदेश में हुआ। उनका असली नाम वेरा सुंदर सिंह था। कहा जाता है कि प्रिया राजवंश (Priya Rajvansh)  ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत बेहद शानदार की थी, लेकिन उनकी अंत उतना ही खौफनाक हुआ था। प्रिया राजवंश (Priya Rajvansh) को देव आनंद के बड़े भाई चेतन आनंद ने फिल्म 'हकीकत' से सन 1964 में बॉलीवुड में लॉन्च किया था। फिल्म हकीकत बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट रही थी।

इसी बीच फिल्म शूटिंग के दौरान चेतन और प्रिया के बीच नजदीकियां बढ़नी शुरू होती हैं । जब चेतन प्रिया से मिले थे तो वो पहले से शादीशुदा थे लेकिन उनकी अपनी पत्नी के साथ रिश्ते अच्छे नहीं थे । दोनों अलग रह रहे थे। चेतन के दो बेटे भी थे जिनका नाम था केतन और विवेक। ये दोनों अपनी मां के साथ ही रहते थे ।

70 के दशक में प्रिया और चेतन लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगे थे । बताया जाता है कि प्रिया और चेतन करीब 25-27 साल साथ में रहे लेकिन उन्होंने शादी नहीं की थी। चेतन प्रिया को इस कदर चाहते थे कि उन्होंने खासकर प्रिया के लिए मुंबई के जुहू में एक शानदार बंगला खरीदा था। दोनों की जिंदगी खुशहाल बीत रही थी । 

मामला तब बिगड़ता है जब चेतन ने अपने जीते जी वसीयत लिखी और उसमें अपने दोनों बेटों के साथ प्रिया राजवंश को भी हिस्सा दिया । साथ ही चेतन ने जो बंगला खरीदा था वह काफी बड़ा बंगला था उसमें एक हिस्सा उनके दोनों बेटों का था और एक हिस्सा प्रिया राजवंश के नाम किया ।

27 मार्च साल 2000 में प्रिया राजवंश (Priya Rajvansh) की हत्या कर दी गई। चेतन आनंद के दोनों बेटों ने प्रिया की हत्या के लिए नौकरों को पैसे का लालच देकर उनकी हत्या करवाई थी । कहा जाता है कि घर के नौकर और नौकरानी ने पैसे का लालच में आकर प्रिया राजवंश (Priya Rajvansh) की गला घोंटकर हत्या कर दी थी । 27 मार्च की सुबह पड़ोसियों को पता चलता है कि प्रिया की मौत हो गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा होता है कि प्रिया राजवंश को गला घोंटकर मारा गया । 

मुंबई की एक अदालत ने 31 जुलाई, 2002 को केतन आनंद और विवेक आनंद सहित नौकरानी माला चौधरी और अशोक स्वामी को उम्रकैद की सजा सुनाई थी । साल 2011 में इस फैसले के खिलाफ साल 2011 में बंबई हाईकोर्ट में अपील दायर की थी । इसके बाद इन चारों को जमानत दे दी गई, लेकिन यह मामला कोर्ट में आज भी चल रहा है। बता दें प्रिया राजवंश ने हकीकत, हीर रांझा, हिंदुस्तान की कसम जैसी फिल्मों में काम किया है।