लॉकडाउन के बाद सिनेमाघरों में बदलाव को लेकर हो रही है चर्चा

By Arunima April 25, 2020, 7 p.m. 1k

सारीका स्वरूप

कोरोनवायरस (Corona virus) ने लोगों के जीवन में ठहराव ला दिया है। भारत में 24 मार्च से लॉकडाउन (Lockdown) शुरू किया गया था।  लॉकडाउन से पहले, कई राज्य सरकारों ने घोषणा की थी कि वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सिनेमाघरों और जिमों को बंद कर दिया जाएगा। इसी बीच पोस्ट-लॉकडाउन (Post -Lockdown) के बाद, सिनेमा (movies) देखने का एक्सपीरियंस बड़े बदलावों से गुजरने वाला है।

बता दे पिछ्ले कुछ दिनो से प्रोडक्शन,डिस्ट्रीब्यूशन और एक्सहिबिशन सहित सिनेमा के अलग -अलग विभाग के लोग पोस्ट लॉकडाउन (Post -Lockdown) को लेकर चर्चा करने के लिए वर्चुअल कॉन्फ्रेंस कर रहे है। जिसमें इस बात को लेकर चर्चा कि जा रही है कि lockdown के बाद सिनेमा हाल (cinema hall, theatres or PVR ) खोलने को लेकर क्या कुछ बदलाव किया जाएगा। एक लीडिंग टैब्लॉइड से बात चित करने के दौरान एक exhibitor ने कहा कि अभी दर्शकों के मन मे जो डर बना हुआ है उसपर चर्चा करना हमारा प्रमुख बिंदु है। 

अगर कोई तरीका नहीं मिला तो सिनेमा सुरक्षा इसका उपाय करेगा। उन्होनें कहा कि थिएटर को बदलना पड़ेगा एक सीट छोड़ कर लोगों को बिठाया जाएगा, साथ ही मास्क और सैनिटाइजर valid होगा। इस तरीके के अभ्यास से हम इस महामारी को भगाने कि कोशिश करेंगे। इसके अलावा पूरे जगह कि साफ-सफाई का भी खास ध्यान रखा जाएगा, और सारे कर्मचारियों (workers ) के लिए पीपीई किट (PPE kit) कि भी पूरी व्यवस्था कराई जाएगी।

सिनेमा हॉल मालिकों को लगता है कि पोस्ट लॉकडाउन के बाद थिएटर खोलना बहुत मुश्किल हो जाएगा, उन्हे लगता है कि lockdown के बाद बहुत कम ही लोग सिनेमा देखने आ सकते है इसकी वजह से काफी नुक्सान हो सकता है। वैसे ही lockdown के दौरान काफी मुश्किलें बढ गई है। वो और नुकसान नहीं करना चाहते है। 

इस बीच, दिल्ली के एक exhibitor ने कहा कि उन्हें अपने थिएटर को दोबारा सही से शुरु करने के लिए सरकार की मदद की आवश्यकता होगी। जबकि छोटे शहरों में सिंगल स्क्रीन वाले है जिनको अपने लिए अलग लड़ाई लड़नी होगी ।

Related Story