'रामायण' देख भावुक हुए 'रावण' अरविंद त्र‍िवेदी, वायरल हो रहा वीडियो

By Neetu April 13, 2020, 3:50 p.m. 1k

सारीका स्वरूप -  'रामायण' की टीवी पर वापसी के बाद दर्शक काफी खुश है । दूरदर्शन पर 'रामायण' का क्रेज अभी भी वैसा ही है जैसे कि पहले था। इस सीरियल मे दर्शकों ने हर किरदार को भरपूर प्यार दिया है । राम, सीता और लक्ष्मण सभी के किरदार को दर्शकों ने बहुत सराहा है । मगर क्या आपको पता है कि राम, सीता और लक्ष्मण के अलावा जिस किरदार ने लोगों का सबसे ज्यादा ध्यान खींचा वो कौन है? 

 वो रावण है , शो में रावण की चाल-ढाल से लेकर डायलॉग बोलने और हंसने का तरीका सभी दर्शकों को काफी रास आया था। 'रामायण' में भले ही रावण राम के खिलाफ थे लेकिन आज हम आपको बता दे कि असल जिंदगी में वो रामभक्त हैं।

'रामायण' में रावण का किरदार अरविंद त्रिवेदी (Arvind Trivedi ) ने निभाया था। अरविंद अब 82 साल के हो गए हैं।'रामायण' का दोबारा प्रसारण शुरू होने से अरविंद त्रिवेदी बहुत खुश हैं और रोजाना 'रामायण' भी देखते हैं। कई बार भावुक भी हो जाते हैं।

अरविंद त्रिवेदी को रावण के रोल में लोगों ने बहुत पसंद किया था। आज भी वो इसी किरादार के लिए जाने जाते है । बहुत ही कम लोग इस बात को जानते होंगे कि वो रामायण में रावण का नहीं बल्कि केवट का रोल प्ले करना चाहते थे। इस बात का खुलासा खुद उनहोंने एक इंटरव्यू में किया था।

अरविंद त्रिवेदी ने इंटरव्यू में कहा था कि - 'मेरी इच्छा सीरियल में केवट का रोल करने की थी। इसलिए मैंने रामानंद सागर से इस किरदार को करने की गुजारिश की थी। वो इससे सहमत नहीं थे। उन्होंने मुझे स्क्रिप्ट पढ़ने को कहा। मैंने स्क्रिप्ट पढ़ी। इसके बाद थोड़ी देर के लिए सन्नाटा पसर गया। जब मैं स्क्रिप्ट वापस देकर जाने लगा तो रामानंद सागर ने रोककर बोला कि उन्हें अपना लंकेश मिल गया। उनकी इस बात को सुनकर मैं हैरान हो गया था। ऐसा इसलिए क्योंकि मैंने कोई डायलॉग ही नहीं पढ़ा था।'

अरविंद त्रिवेदी ने कहा- 'जब मैंने रामानंद सागर से कहा कि मैंने कोई डायलॉग ही नहीं पढ़ा। जवाब में उन्होंने कहा- 'वो मेरी चाल ढाल देखकर समझ गए थे कि वही उनके रावण बनने योग्य है। उन्हें रामायण के लिए ऐसा रावण चाहिए जिसमें बुद्धि-बल हो और मुख पर तेज हो। और ये कहना गलत नही होगा कि रामानंद सागर का ये फैसला बिल्कुल सही था । उसका रिजल्ट आज हमारे सामने है ।

अरविंद त्रिवेदी ने रावण का सशक्त किरदार इतना बखूबी निभाया था कि वो आज भी इसी किरदार के लीए याद किये जाते है । इसके बाद उन्हें कई सारी फिल्मों में निगेटिव रोल प्ले करने के ऑफर आए थे।मगर असल जीवन की बात करें तो अरविंद रावण के किरदार से ठीक उलट हैं।अब उन्हें देखकर पहचान पाना मुश्किल है। सारा दिन राम भक्ति में लीन रहते हैं और कई बार भावुक भी हो जाते हैं।

हाल ही मे , उनका एक वीडियो सामने आया है, उसमें वह घर में कुर्सी पर बैठकर 'रामायण' देख रहे हैं। सीता हरण का सीन चल रहा है और अनायास ही अरविंद त्रिवेदी हाथ जोड़ लेते हैं और प्रणाम करते हैं। ये वीडियो भी सोशल मीडिया पर खुब वायरल हो रहा है ।

आपको बता दे कि अब उम्र के साथ अरविंद त्र‍िवेदी अब बहुत कमजोर हो गए हैं। वह ज्‍यादा चल-फिर भी नहीं सकते। वीडियो में उन्‍हें देखकर यह भरोसा नहीं होता क‍ि उन्‍होंने ही 'रावण' का दमदार किरदार निभाया था।

Related Story