टीवी की ‘किन्नर बहू’ रुबीना की हर तरफ हो रही है तारीफ, बिग बॉस में किन्नरों के लिए शो में लिया था स्टैंड

By Neetu Oct. 15, 2020, 12:51 p.m. 1k

नवीन सिंह भारद्वाज/ पूजा राजपूत – सीरियल ‘शक्ति अस्तित्व के अहसास की’(Shakti Astitva ke Ehsaas Ki) में किन्नर बहू सौम्या(Soumya) का किरदार निभाकर दिल जीत चुकीं एक्ट्रेस रुबीना दिलैक(Rubina Dilaik) इन दिनों बिग बॉस हाउस में अपना जलवा दिखा रही हैं। बुधवार को घर में नॉमिनेशन टास्क हुआ। जिसमें रुबीना की टीम को हार का सामना करना पड़ा। निक्की तम्बोली ने रुबीना की टीम A की बजाए टीम B को विजेता बनाया। जिसकी वजह से रुबीना दिलैक समेत अभिनव शुक्ला, जैसमीन भसीन, शहजाद देओल और जान कुमार सानू शामिल घर से बेघर होने के लिए नोमिनेट हो गए हैं।

इसी बीच, सोशल मीडिया पर रुबीना की जमकर हो रही है। ‘किन्नर समुदाय’ के हक में आवाज़ बुलंद करने को लेकर हर कोई रुबीना की पीठ थपथपा रहा है।

दरअसल शो में टास्क के दौरान निशांत सिंह मल्कानी और शहज़ाद के बीच झगड़ा हो गया था। जिसके बाद दोनों के बीच गाली-गलौच भी हुई थी। इस दौरान शहज़ाद ने कुछ गलत शब्दों का भी इस्तेमाल किया था। बता दें कि शहज़ाद ने निशांत के लिए ‘हिजड़ा’ और ‘छक्का’ जैसे शब्दों का प्रयोग किया था। जिसके बाद रुबीना का गुस्सा भड़क गया। अपनी आवाज़ बुलंद करते हुए रुबीना ने कहा कि ‘हिजड़ा’ और ‘छक्का’ शब्द गाली नहीं होते हैं। रुबीना ने शहज़ाद को पूरे किन्नर समुदाय से माफी मांगने के लिए भी कहा। जिसके बाद शहज़ाद को भी अपनी भूल का अहसास हुआ और उन्होने कैमरा पर माफी मांगी।

रुबीना के इस कदम की चारों तरफ तारीफ की जा रही है। हर एक यूज़र ने लिखा कि “रुबीना ने कहा ‘हिजड़ा’ और ‘छक्का’ गाली नहीं होते हैं। और शहज़ाद से माफी भी मंगवायी। रुबीना ने इस समुदाय को सशक्त बनाने का काम भी किया है। सलाम...”

तो वहीं एक और यूज़र ने लिखा ‘रुबीना ने सही कदम उठाया...शहज़ाद ने गलती से बोल दिया छक्का...बिना कुछ सुने रुबीना ने कहा माफी मांगो पूरे समुदाय से...बिना कुछ बोले शहज़ाद कैमरे पर सॉरी कहा। ये दोनों के बॉन्ड को दिखाता है।”

आपको बता दें, कि जब रुबीना ने ‘शक्ति अस्तित्व के अहसास की ’ में किन्नर बहू सौम्या का किरदार निभाने का फैसला लिया था, तब भी उन्हें लोगों की अलग-अलग प्रतिक्रियाओं का सामना करना पड़ा था। हांलाकि रुबीना ने सौम्या के किरदार को ना सिर्फ निभाया बल्कि दर्शकों का दिल भी जीता था।

Related Story