FILM REVIEW - रोंगटे खड़े कर देने वाली फिल्म है मर्दानी 2, रानी मुखर्जी की दमदार एक्टिंग !

By Neetu Dec. 13, 2019, 5:21 p.m. 1k

फिल्म- मर्दानी 2 

कलाकार  - रानी मुखर्जी, विशाल जेठवा 

डायरेक्टर - गोपी पुथरन 

समीक्षा -  नीतू कुमार 

स्टार - 3.5 

हैदराबाद की लेडी डॉक्टर के साथ रेप और हत्या के बाद देश भर में इस मुद्दे पर बहस छिड़ी हुई है। 2012 में निर्भया के रेप और हत्या के दोषियों को भी जल्द से जल्द फांसी पर लटकाने की तैयारी चल रही है। ऐसे में मर्दानी 2 जैसी फिल्म की रिलीज समय की मांग है। रानी मुखर्जी  ( Rani Mukherjee ) की फिल्म मर्दानी 2 ( Mardaani 2 ) महिलाओं से रेप और फिर उनकी जघन्य हत्या पर बेस्ड क्राइम थ्रिलर है साथ ही फिल्म महिलाओं के साथ होने वाले असमानताओ पर भी फोकस करती है। इस फिल्म को देखते वक्त रोंगटे सिहर जाते हैं। साल 2014 में आई मर्दानी के मुकाबले मर्दानी 2 ( Mardaani 2 )   कहीं ज्यादा जबरदस्त है।

कहानी - आईपीएस शिवानी शिवाजी रॉय ( रानी मुखर्जी Rani Mukherjee ) का तबादला कोटा शहर में होता है। शिवाजी एक तेजतर्रार और उसुलो की पक्की ऑफिसर है। एक महिला एसपी के अंडर काम करना कुछ सहकर्मियों को खलता भी है। इसी दौरान शहर में एक लड़की के साथ जघन्य रेप और हत्या की वारदात होती है। शिवानी उस अपराधी के पीछे पड़ जाती है। इस अपराध को अंजाम देता है नाबालिग सनी ( विशाल जेठवा  Vishal Jethwa ) । इस मामले आरोपी पुलिस थाने में ही आकर 8 साल के गवाह की हत्या कर देता है। इसके बाद शिवानी का ट्रांसफर कर दिया जाता है। दूसरी पोस्टिंग पर जाने से पहले उसके बाद 48 घंटे का समय होता है और वो प्रण लेती है कि वो हर साल में अपराधी को पकड़ेगी। शिवानी शहर के लोगों से वादा करती है कि वो बहुत जल्द  अपराधी को घसीसटे हुए थाने ले आएगी। इसके बाद साइको टाइप का वो अपराधी शिवानी को खुलेआम चैलेंज देना शुरू करता है। एक के बाद एक को कई वारदात करता है। एक बार तो वो शिवानी की भी हत्या का प्रयास करता है लेकिन शिवानी बच जाती है। शिवानी हिम्मत नहीं हारती है और आखिरकार वो नाबालिग साइको रेपिस्ट और किलर को पकड़ लेती है। 

हमारी राय -  मर्दानी 2  ( Mardaani 2 ) बहुत कसी हुई फिल्म है। फिल्म ऐसी है जिसमें शुरू से लेकर आखिर तक आपकी दिलचस्पी बनी रहती है। डायरेक्टर गोपी पुथरान ने फिल्म पर गजब का कमांड रखा। उनका काम उम्दा है। वहीं रानी मुखर्जी इस फिल्म की जान हैं। शानदार एक्टिंग और जानदार डायलॉग्स से वो दिल जीत लेती हैं।  विलेन विशाल जेठवा रानी मुखर्जी जैसी एक्ट्रेस के सामने आपका ध्यान खींचते हैं। उन्होंने अपना रोल इतने शानदार तरीके से निभाया है कि उनके किरदार से आप नफरत करने लगते हैं। देखा जाए तो एक विलेन के लिए यहीं मापदंड होता है। फिल्म की स्क्रिप्टिंग, स्क्रीन प्ले और क्लाईमेक्स बहुत पावर फुल है। हमारी तरफ से इस फिल्म को 3.5 स्टार। 

 

 

Related Story