42 साल की हुईं रानी, जया से हुई लड़ाई की वजह से मिल नहीं पाए अभिषेक

By Arunima March 21, 2020, 12:01 a.m. 1k

रानी मुखर्जी (Rani Mukerji) का जन्‍म 21 मार्च 1978 को मुंबई, महाराष्‍ट्र में हुआ था उनके पिता का नाम राम मुखर्जी और मां का नाम कृष्‍णा मुखर्जी है। उनके एक बड़े भाई भी हैं जिनका नाम राजा मुखर्जी है। उनके परिवार के ज्‍यादातर लोग किसी ना किसी रूप में फिल्‍म इंडस्‍ट्री से जुड़े रहे हैं। 

रानी की पढ़ाई मानिकजी कूपर हार्इस्‍कूल जुहू, मुंबई से हुई थी। उन्‍होंने एस.एन.डी.टी. महिला विश्‍वविद्यालय से गृहविज्ञान में स्‍नातक पूरा किया था। फिल्‍मों में काम करने से पहले रानी मुखर्जी ने रोशन तनेजा के एक्टिंग इंस्‍टीट्यूट से ट्रेनिंग ली। रानी ने फिल्‍म निर्माता आदित्‍य चोपड़ा से शादी की है। दोनों की एक बेटी भी है। बता दें कि कम ही लोग जानते हैं कि ऐश्वर्या राय और करिश्मा कपूर से पहले बच्चन खानदान बहू रानी मुखर्जी बनने वाली थी। 

लेकिन जया की ही वजह से अभिषेक-रानी के बीच ब्रेकअप हो गया था। अभिषेक और रानी ने कई फिल्मों में साथ काम किया। दोनों की फिल्म युवा और बंटी और बबली ब्लॉकबस्टर साबित हुई थी। दोनों की जोड़ी भी काफी पसंद की रही थी और जया को भी रानी पसंद आने लगी थी। 

फिल्म 'युवा' के रिलीज होने के बाद अभिषेक और रानी की बेहतरीन ऑनस्क्रीन जोड़ियों में से एक माना जाने लगा था। इस जोड़ी को 'बंटी और बबली' में एक साथ रखा गया था, जो एक कमर्शियल ब्लॉकबस्टर थी। रिपोर्ट्स की मानें तो जया बच्चन ने शुरू में रानी मुखर्जी और अभिषेक के रिश्ते के लिए हामी भर ली थी क्योंकि रानी, जया की तरह बंगाली थीं। 

लेकिन जब जया बच्चन, रानी मुखर्जी, और अभिषेक बच्चन को 'लगान चुनरी में दाग' के लिए एक साथ कास्ट किया गया तब जया और रानी दोनों के बीच सेट पर कुछ तनाव शुरू हुआ और बहसबाजी भी हुई। आखिरकार अभिषेक और रानी के रिश्ते पर असर पड़ा।

 दोनों ने एक-दूसरे के साथ बातचीत किए बिना शूटिंग पूरी की। यह साफ था कि अभिषेक और रानी के रिश्ते पर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ा। जब रानी के परिवार ने बाद में बच्चन के साथ उनकी शादी के बारे में चर्चा की, तो कहा जाता है कि जया ने रानी के बारे में कुछ ऐसी बातें कीं, जो एक्ट्रेस सहन नहीं कर पाई। 

पर्दे पर उनकी पहली उपस्थिति फिल्‍म 'बियेर फूल' में हुई थी लेकिन अग्रणी भूमिका के तौर पर उनकी पहली फिल्‍म 'राजा की आएगी बारात' थी। फिल्‍म तो खास नहीं चल पाई लेकिन उनके काम की प्रशंसा हुई उन्‍होंने अपने करियर में कई छोटी बड़ी फिल्‍में की हैं और अपने काम के जरिए इंडस्‍ट्री में एक अलग मुकाम हासिल किया है।

ये भी देखिए :- कोरोना वायरस (CORONA VIRUS) : ऐसे समय बिता रहे हैं आपके FAVORITE STARS!

 

Related Story

Next Story

PICS - करीना-प्रियंका से प्यार में धोखा खाने के बाद शाहिद ने जब की मीरा राजपूत से अरेंज मैरिज

single-post

By E24 July 7, 2020, 2:14 p.m. 1k

बॉलीवुड एक्टर शाहिद कपूर ( Shahid Kapoor )  और उनकी वाइफ मीरा शादी की 5वीं सालगिरह मना रहे हैं। करीना और प्रियंका चोपड़ा जैसी एक्ट्रेसेस को डेट करने के बाद शाहिद इन दिनों मीरा राजपूत ( Mira Rajput ) के साथ हैपिली मैरिड हैं। शाहिद अब दो बच्चों के पिता हैं। शाहिद का इन दिनों फिल्मी करियर शानदार चल रहा है। वहीं फैमिली लाइफ में भी वो खुश है। शाहिद ने 7 जुलाई 2015 को मीरा राजपूत से शादी की थी। दोनों की शादी को 5 साल हो चुके हैं। 

शाहिद बॉलीवुड के हैंडसम हंक्स की लिस्ट में आते हैं। यूं तो कई हसीनाएं शाहिद पर मर मिटने को तैयार थीं। शाहिद ने करीना और प्रियंका जैसी एक्ट्रेसेस को डेट किया।

विद्या बालन, सानिया मिर्जा समेत कई हसीनाओं से उनका नाम जुड़ा लेकिन शादी के लिए उन्होंने मीरा राजपूत को चुना। शाहिद ने अरेंज मैरिज की। परिवार वालों की पसंद की लड़की के साथ सात फेरे लिए। प्रियंका और करीना जैसी एक्ट्रेसेस से प्यार में घोखा खाने के बाद उनका लव मैरिज से यकीन खत्म हो गया। उन्होंने अपने लिए लड़की ढूंढने की जिम्मेवारी परिवार वालों को दे दी थी। 

7 जुलाई 2015 को शाहिद और मीरा ने एक बेहद निजी समारोह में शादी की । शादी में शाहिद मीरा की फैमिली और फ्रेंड्स शामिल हुए। शाहिद की शादी सिक्ख और हिंदू रीति रिवाज से हुई थी। शाहिद और मीरा ने दो बार शादी की थी। 

शाहिद की शादी कई लोग शामिल हुए । जिसमें उनके खास रिश्तेदार और मेहमानों को बुलाय़ा गया । शाहिद की माने तो पहली नजर में ही उन्हें मीरा से प्यार हुआ था ।

शाहिद और मीरा की शादी बेहद खास रही । शाहिद और मीरा अपने शादी समारोह में सिंपल और सोबर लुक में नजर आए।

 दोनों ने चटख रंगों के बजाय, हल्के रंगों को चुना। शाहिद जहां क्रीम कलर की शेरवानी में दिखे । तो वहीं मीरा भी हल्के पिंक कलर के लंहगे में नजर आईं ।

मीरा लहंगे में पिंक खूबसूरत लग रही थी । शादी के बाद दोनों ने मीडिया के आगे आकर खूब पोज दिए। इनकी शादी में शाहिद की ड्रेस को कुणाल रावल ने डिजाइन किया था। तो वहीं मीरा की ड्रेस को अनामिका खन्ना ने डिजाइन किया था ।

शादी में शाहिद के पापा पंकज कपूर वाइफ सुप्रिया और अपने बच्चों के साथ पहुंचे। पकंज कपूर ने ही शाहिद की शादी फिक्स करवाई थी। 

वहीं शाहिद की मां और उनका हाफ ब्रदर ईशान भी शादी में शरीक हुआ।

 

दोनों की शादी बेहद ही शानदार रही। शादी के बाद दोनों ने मुंबई में रिसेप्शन रखा। जिसमें बॉलीवुड के कई बड़े सितारों ने शिरकत की ।

शाहिद मीरा की शादी शानदार चल रही है। आज दोनों अपनी लाइफ में बेहद खुश हैं। दोनों एक क्यूट बेटी मीशा और बेटे जैन के मम्मी पापा भी बन चुके हैं। 

Related Story

Next Story

सुबह सात बजे कसौटी की शूटिंग के लिए निकले KARAN PATEL, जानिए कैसी रही कोरोना के दौरान शूटिंग ?

single-post

By E24 July 7, 2020, 11:04 a.m. 1k

नवीन सिंह भारद्वाज- अनलॉक 1 के बाद टेलीविजन की दुनिया में सीरियल्स की शूटिंग शुरू हो चुकी है। जहां लॉकडाउन के दौरान बहुत से सीरियल्स पर कोरोना की मार पड़ी, वहीं शूट दोबारा शुरू होने के बाद कुछ सितारों ने सैट पर जाने से परहेज़ किया और अपने शो को अलविदा कह दिया।

इन्हीं सितारों में से एक हैं एक्टर करण सिंह ग्रोवर, जिन्होने सीरियल ‘कसौटी ज़िंदगी की’ में मिस्टर बजाज के रोल से अपना रिश्ता तोड़ लिया था। करण सिंह ग्रोवर की जगह शो में अब एकता कपूर के फेवरेट करण पटेल फिट हो गए हैं। रमन भल्ला अब मिस्टर ऋषभ बजाज बन गए हैं।

आपको बता दें, कि करण पटेल ने आज से अपने शो की शूटिंग भी शुरू कर दी है। शूटिंग के लिए करण सुबह 7 बजे ही शो के सैट पर पहुंच गए। अंदर जाने से पहले करण पटेल ने मीडिया से भी बात की और बताया कि “मिस्टर बजाज का कैरेक्टर आइकोनिक कैरेक्टर है, और इस रोल को निभाने के लिए वह बेहद एक्साइटिड हैं। खुशी की बात है कि ये हैं मोहब्बतें के खत्म होते ही उन्हें कसौटी जिंदगी की में इतना बड़ा रोल निभाने के मौका मिला”।

पहले दिन शूट पर पहुंचे करण ने कोरोना की वजह से शो के सैट्स के बदले माहौल पर भी बात की। करण ने कहा कि “अगर हर शख्स सावधानी बरते और खुद अपना ख्याल रखे तो यह इतनी बड़ी बात भी नहीं है”। हाल ही में करण पटेल का ‘मिस्टर बजाज’ वाला लुक भी रिवील हुआ है। करण पहली बार ग्रे हेयर्स में नज़र आएगें। इस लुक को लेकर करण भी बेहद एक्साइटिड हैं। साथ ही उन्होने कहा कि उनके फैंस को भी ये लुक पसंद आ रहा है, इसलिए उनकी एक्साइटमेंट और बढ़ गई है”।

रिपोर्ट्स के मुताबिक करण पटेल ने लॉकडाउन के बाद अपनी फीस में भी इज़ाफा कर दिया है। सूत्रों की मानें तो करण ये हैं मोहब्बतें के लिए 1.5 लाख रूपये फीस प्रति एपिसोड लेते थे। जिसे अब कसौटी में ऋषभ बजाज के रोल के लिए बढ़ाकर उन्होने 3 लाख रूपये प्रति एपिसोड कर दिया है।

अपनी इस नई शुरूआत को लेकर करण ने हाल ही में एक इंटरव्यू में भी बात की थी। करण ने कहा कि “मैं इस किरदार को लेकर काफी एक्साइटेड हूँ । मैं एक बार फिर अपने फैन्स के लिए टीवी स्क्रीन्स पर आने वाला हूँ । सच बताऊं, तो मेरे फैन्स की वजह से ही मैं इस किरदार के लिए एक्साइटेड हूँ । मैंने अब तक बहुत से रोल किए जिसे मेरे चाहने वालों ने सराहा और उम्मीद है इस बार भी मुझे वो मिस्टर बजाज के किरदार में पसंद करेंगे ।” 

वैसे आपको बता दें की करण पटेल स्टंट बेस्ड रिएलिटी शो ‘खतरों के खिलाड़ी’ का भी हिस्सा हैं, और जल्द ही इस शो का फिनाले एपिसोड मुंबई में शूट होने वाला है। इसपर करण ने कहा, “जी हां जल्द ही खतरों के खिलाड़ी की शूटिंग भी शुरू हो जाएगी और हम सारे सेफ्टी प्रिकॉशन को ध्यान में रखते हुए शूटिंग शुरू करेंगे।”

Related Story

Next Story

PICS: 39 साल के हुए MAHENDRA SINGH DHONI, गुपचुप रचाई थी साक्षी संग शादी

single-post

By E24 July 7, 2020, 10:47 a.m. 1k

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आज अपना 39वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे है। उनका जन्म 7 जुलाई 1981 को झारखंड (तब बिहार) के रांची में हुआ था। महेंद्र सिंह धोनी ये नाम क्रिकेट की दुनिया का एक ऐसा नाम है जिसके नाम कई रिकॉर्ड्स हैं। अपने बड़े बालों के साथ बल्लेबाजी करते धोनी, गेंदबाजों के छक्के छुड़ाते माही, विकेट के पीछे से अपने गेंदबाजों को सुझाव देते है। 

झारखंड के रांची से आने वाले धोनी ने भारतीय क्रिकेट को नई ऊंचाईयां दी। धोनी क्रिकेट के मैदान में जितना धमाल मचाते हैं वहीं पर्सनल लाइफ में वो काफी सुलझे हुए हैं। धोनी के जन्मदिन पर हम आपको इस कपल की लव-स्टोरी बता रहे हैं।

धोनी और साक्षी की मुलाकात बचपन में ही हो गई थी। धोनी और साक्षी के पिता रांची में एक ही कंपनी मेकॉन में काम करते थे। इसीलिए धोनी-साक्षी बचपन से ही एक दूसरे को जानते थे। धोनी और साक्षी रावत तब रांची के डीएवी श्यामली के स्कूल में साथ पढ़ते करा करते थे।

 साक्षी और धोनी के परिवार एक दूसरे को बहुत पहले से जानते थे। कोलकाता की साक्षी सिंह रावत के परिवार का नाता देहरादून से जुड़ा है। हालांकि महेंद्र सिंह धोनी झारखंड के रांची में पैदा हुए पर उनका परिवार अलमोरा जिले से है। 

ऐसे में दोनों का उत्तराखंड कनेक्शन भी है। साक्षी फिर से सीधे ही देरादून चली गईं तो दोनों परिवारों के बीच कोई कनेक्शन ही नहीं बचा, लेकिन वो कहते हैं ना कि किस्मत में जो लिखा हो उसे कौन टाल सकता है। धोनी और साक्षी की मुलाकात अचानक की कोलकाता में हुई। 

 उस वक्त भारत और पाकिस्तान के बीच ईडन गार्डन्स में मैच खेला जा रहा था। जिस होटल में धोनी रुके थे उसी होटल में साक्षी ट्रेनिंग ले रहीं थीं। होटल के मैनेजर युद्धजीत दत्ता ने साक्षी की धोनी से मुलाकात कराई। इसके बाद धोनी ने दत्ता से साक्षी का नंबर मांगा और मैसेज किया। 

पहले साक्षी को लगा कि कोई फिरकी ले रहा है लेकिन बाद में पता चला कि वो धोनी ही है। इसके बाद 2008 में दोंनों ने एक दूसरे को डेट करना शुरू किया। किसी को इनके रिलेशन के बारे में कोई खबर नहीं थी। अचानक ही खबर इनकी सगाई की आ गई। 

4 July 2010 को देहरादून के एक होटल में सारी तैयारियां चुपचाप ही हो गईं थीं। अचानक ही दोनों ने शादी भी कर ली। मीडिया में शादी की कोई खबर तक नहीं पहुंच पाई थी। 

बाद में सबको पता चला कि ये शादी कर चुके हैं। दोनों की शादी में परिवार के साथ सुरेश रैना और जॉन अब्राहम जैसे कुछ नाम ही शामिल हुए। शादी के काफी वक्त 6 जनवरी 2015 को धोनी और साक्षी की बेटी जीवा ने जन्म लिया। धोनी आज वाइफ साक्षी के साथ हैप्पिली मैरिड हैं। 

Related Story

Next Story

47 साल के हुए Kailash Kher, डिप्रेशन में की थी सुसाइड की कोशिश

single-post

By E24 July 7, 2020, midnight 1k

आज कैलाश खेर (Kailash Kher) अपना 47 वां जन्मदिन मना रहे हैं। कैलाश खेर का जन्म कश्मीरी पंडित परिवार में मेरठ (उत्तर-प्रदेश) में हुआ था। कैलाश खेर ने अपनी शुरुआती पढाई दिल्ली से पूरी की है। कैलाश को बचपन से ही गाने का शौक था, जब वह महज बारह वर्ष के थे, तभी से उन्होंने शास्त्रीय संगीत की शिक्षा लेनी आरम्भ कर दी थी, उन्होंने संगीत में अपना करियर बनाने के लिए पाकिस्तानी सूफी गायक नुसरत फतेह अली खान से प्रेरणा मिली। कैलाश खेर की शादी शीतल खेर से सम्पन्न हुई है। 

प्लेबैक सिंगिंग से लेकर अपने म्यूजिक कॉन्सर्ट में कैलाश खेर ने काफी शोहरत कमाई है। लेकिन उन्हें यहां तक पहुंचने के लिए काफी लंबा संघर्ष भी करना पड़ा है। ये सफलता उन्हें यूं ही नहीं मिली है। कैलाश खेर की जिंदगी में एक टाइम ऐसा भी था कि वो डिप्रेशन में आ गए थे और उन्होंने अपनी जान लेने की कोशिश कर ली थी। कैलाश सिंगर बनने से पहले दिल्ली में एक्सपोर्ट का काम किया करते थे। 14 साल की उम्र में घर छोड़ दिया था। इस दौरान वो ज्योतिष और कर्मकांड सीखने के लिए ऋषिकेश चले गए और फिर खुद का बिजनेस शुरू किया। 

इस सब कामों में जब कैलाश खेर को सफलता नहीं मिली तो वो डिप्रेशन में आ गए। और ये डिप्रेशन इतना बढ़ गया कि उन्होंने एक दिन नदी में छलांग तक लगा दी थी। लेकिन उनके दोस्तों ने उन्हें डूबने से बचा लिया। कैलाश खेर ने एक इंटरव्यू में कहा था कि बिजनेस में भारी नुकसान और सपनों के शहर जाने के बाद संयोग से गायक बन गए। उन्होंने बताया कि आज उन्हें जो कुछ भी मिला है उसमें मुंबई में रह रहे उनके एक दोस्त और भगवान ने मदद की है। मेरा गाना 'अल्लाह के बंदे... ' हिट होने के बाद मेरी लाइफ में बहुत कुछ बदल गया। कैलाश खेर ने 4 साल की उम्र से ही गाना शुरू कर दिया था। 

घर छोड़कर आ जाने के बाद आर्थिक तंगी से गुजर रहे कैलाश खेर ने बच्चों को संगीत का ट्यूशन देना शुरू कर दिया। हर बच्चे से वो 150 रुपये फीस लेते थे और इसी से अपना खर्चा चलाते थे। साल 2001 में कैलाश मुंबई आ गए और वहां गुजारा करने लगे। लेकिन हालात ऐसे खराब थे कि स्टूडियो जाने तक के लिए उनके पास पैसे नहीं होते थे। 

लेकिन उनके अंधेरे जीवन में उजाला म्यूजिक डायरेक्टर राम सम्पत से मिलने के बाद आया। उन्होंने कैलाश को एड जिंगल्स गाने का मौका दिया। कैलाश ने पेप्सी से लेकर कोका कोला जैसे बड़े ब्रान्ड्स के लिए जिंगल्स गाए। 

Related Story