जब Sunny Deol और Karisma Kapoor पर हुआ था केस दर्ज, 22 सालों तक चला था मुकदमा

By Aditi June 10, 2021, 7:19 p.m. 1k

अदिति यादव-  फिल्म इंडस्ट्री के सितारों का विवादों से पुराना नाता है। कुछ मामले इतने बड़े रहे हैं कि सितारों को जेल की हवा खानी पड़ी। तो कुछ ऐसे में भी मामले रहें जिनमें इनका नाम सालों पर घसीटा गया । सलमान खान (Salman Khan) का काला हिरण मामला तो आपको याद ही होगा। इस केस में एक्टर ने जेल की हवा भी खाई थी और कई सालों तक अदालत के चक्कर काटते रहे। अब भी ये केस जोधपुर हाईकोर्ट में चल रहा है। सलमान ही नहीं कई और बॉलीवुड स्टार्स पर केस हुआ और सालों तक सितारें कोर्ट में हाजिरी देते रहें। 

आपको बता दें  सनी देओल (Sunny Deol) और करिश्मा कपूर (Karisma Kapoor) पर भी एक केस 22 सालों तक चला। इनके वकील अदालत में सालों भारतीय रेल से केस लड़ते रहें। दिसंबर 2019 में सनी और करिश्मा उस केस से बरी हुए । इन दोनों स्टार्स पर ट्रेन की चेन खींचने का मामला दर्ज था। जयपुर के एक छोटे से गांव के स्टेशन मास्टर ने करिश्मा और सनी के खिलाफ केस किया था। इन दोनों पर आम लोगों के जीवन से खिलवाड़ करने का संगीन आरोप लगा था। 

चेन खींचने का ये मामला 11 मार्च 1997 का था। सनी और करिश्मा (Karisma Kapoor)  राजस्थान के अजमेर जिले के फुलेरा गांव में फिल्म बजरंग (Bajrang) की शूटिंग कर रहे थे। फिल्म के कुछ सीन ट्रेन के ऊपर शूट होने थे। ऐसे में सीन को शूट करने के लिए फिल्म डायरेक्टर और पूरा क्रू वहां पहुंचा था, लेकिन इसकी जानकारी रेलवे के किसी भी स्टाफ को नहीं दी गई थी। बिना परमीशन के फिल्म की टीम शूटिंग के लिए पहुंच गई थी और शूटिंग के दौरान सनी और करिश्मा ने ट्रेन में जंजीर खींची थी । 

 अदालत में दोनों पर अवैध रूप से ट्रेन 2413-ए अपलिंक एक्सप्रेस की चेन को  खींचने का आरोप लगा था। रिपोर्ट्स के मुताबिक चेन खींचने के कारण ट्रेन 25 मिनट लेट हुई थी। इसके बाद नरेना के सहायक स्टेशन मास्टर सीताराम मालाकार ने रेलवे पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। स्टेशन मास्टर का आरोप था कि बिना किसी इजाजत के पूरा क्रू स्टेशन पहुंचा, ट्रेन पर चढ़ा और इमरजेंसी ब्रेक भी लगाया। 

जब ये मामला कोर्ट में पहुंचा था तो कोर्ट का कहना था कि इस तरह से ट्रेन पर चढ़कर स्टंट करना अंदर बैठे लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ करना जैसा था। इतना ही नहीं रेलवे की संपत्ति का भी नुकसान हुआ। 

 

रेलवे मजिस्ट्रेट ने सनी देओल और करिश्मा कपूर के खिलाफ रेलवे एक्ट की धारा 141, 145, 146 और 147 के उल्लंघन के आरोप लगाए गए थे। इस केस में स्टंटमैन टीनू वर्मा और सतीश शाह पर कोर्ट ने आरोप भी तय कर दिए थे। वहीं करिश्मा और सनी देओल ने इस मामले में रिवीजन याचिका  दायर की थी कि उन्होंने डायरेक्टर और स्टंट निर्देशक के कहने पर ट्रेन की चेन खींची थी। दिसंबर 2019 में फैसला सुनाते हुए एडिशनल डिस्ट्रिक्ट जज ने इस केस से सनी देओल और करिशमा को बरी कर दिय़ा । जज ने फैसले में कहा, रेलवे कोर्ट ने उन्हीं धाराओं में आरोप तय किए हैं जिन्हें 2010 में सेशन कोर्ट ने खारिज कर दिया था।  सुनवाई के दौरान कोर्ट ने माना कि करिश्माी और सनी के खिलाफ पर्याप्त सबूत नहीं थे। 

Related Story