मिस इंग्लैंड का ख़िताब छोड़कर भाषा मुखर्जी ने ज्वाइन की डॉक्टर की नौकरी

By Neetu April 8, 2020, 6:30 p.m. 1k

पूजा वर्मा राजपूत -  ‌कोविड-19(COVID-19) यानि कोरोना वायरस (CoronaVirus) समुचे विश्व में पैर पसार चुका है। मुश्किल की इस घड़ी में पूरा विश्व एकजुट नज़र आ रहा है। हर देश इस महामारी से लड़ रहा है। ऐसे में उन लोगों की भी कमी नहीं हैं, जो आगे आकर मरीज़ों की सेवा कर रहे हैं। 2019 में ‘मिस इंग्लैंड’ (Miss England) का खिताब जीत चुकी ब्यूटी क्वीन (Beauty Queen) भाषा मुखर्जी ने  (Bhasha Mukherjee)अपनी डॉक्टर की नौकरी दोबारा ज्वॉइन कर ली है, और इंग्लैंड में कोरोना से संक्रमित मरीज़ों की सेवा में लग गई है। आपको बता दें कि भाषा मुखर्जी भारतीय मूल की हैं, और उनका जन्म कोलकाता में हुआ था। 9 साल की उम्र में भाषा मुखर्जी अपने परिवार के साथ इंग्लैंड चली गई थीं।

खबर है, कि मॉडलिंग वर्ल्ड में पैर जमाने से पहले भाषा बोस्टन के पिलिग्रिम हॉस्पिटल में बतौर जूनियर डॉक्टर नौकर कर रही थीं। भाषा ने मेडिकल सांइस और मेडिसन एंड सर्जरी में डिग्रियां हासिल की हुई है। लेकिन 2019 में मिस इंग्लैंड का खिताब जीतने के बाद भाषा मुखर्जी ने अपनी डॉक्टर की नौकरी छोड़ दी थी।

लेकिन जैसे ही इंग्लैंड में कोरोना वायरस ने अपना कहर बरपाना शुरू किया, भाषा मुखर्जी ने मॉडलिंग करियर को छोड़ एक बार फिर अपने फर्ज़ की राह पकड़ ली है। बोस्टन के पिलिग्रिम हॉस्पिटल में जहां भाषा पहले नौकरी किया करती थीं, उसी हॉस्पिटल में भाषा ने दोबारा संपर्क किया और अपनी जिम्मेदारी संभाल ली।

भाषा ने तय किया है कि कोरोना वायरस के इस संकट काल में वो अपनी इच्छाओं को पीछे रखकर डॉक्टर होने का फर्ज़ निभाएंगी, क्योंकि उनके देश को उनकी ज़रुरत है। ब्यूटी क्वीन भाषा मुखर्जी मॉडलिंग करियर छोड़ इंग्लैंड में मरीज़ों की सेवा कर रही हैं.

 तो भारत में एक्ट्रेस शिखा मल्होत्रा भी अपना ऐसा ही फर्ज़ निभा रही हैं।

कई फेमस टीवी सीरियल्स और संजय मिश्रा के साथ फिल्म कांचली में नज़र आ चुकी शिखा मुंबई के ‘ह्रदय सम्राट बालासाहेब ठाकरे’ हॉस्पिटल में नर्स की ड्यूटी कर रही हैं। शिखा ने बीएमसी(BMC) के साथ मिलकर कोरोना पीड़ितों की सेवा का जिम्मा उठाया है। दरअसल एक्ट्रेस शिखा मल्होत्रा के नर्स बनने की खबर मार्च के आखिरी हफ्ते में उस वक्त वायरल हुई थी, जब शिखा ने सोशल मीडिया पर एक 3 मिनट का वीडियो पोस्ट किया था।

 इस वीडियो के साथ शिखा ने कहा था कि ‘जब इस समय मेंदेश को मेरी ज़रुरत है, तो मैं भी अपना कर्तव्य निभाना चाहती हूं। आपके लिए तत्पर रहने के लिए और आपको सेवा देने के लिए मैं यह कर रही हूं।‘

दरअसल शिखा ने दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल से 2014 में नर्सिंग का कोर्स किया था। लेकिन एक्टिंग में करियर बनाने की ख्वाहिश में शिखा ने नर्सिंग की पढ़ाई बीच में छोड़ दी थी।

लेकिन कोरोना सकंट के इस मुश्किल वक्त में शिखा ने एक बार फिर नर्स की ज़िम्मेदारी संभाली है, और कोरोना से संक्रमित लोगों की देख-रेख में व्यस्त हो गई हैं।

Related Story