लोगों को खाना खिलाने के लिए 'पुण्यकर्मा' पहल के समर्थन में आए टाइगर

By Arunima April 19, 2020, 7:05 p.m. 1k

कोरोना वायरस ( Coronavirus) महामारी से इस समय पूरा देश संकट में है। ऐसे मे सबसे ज्यादा परेशानी लाखो गरीब मजदूरों को उठानी पड़ रही है। इस स्थिति में वो अपनी जरूरी आवश्यकताओं को पूरा करना तो दूर एक समय कि रोटी के लिए भी कुछ नहीं कर पा रहे। ऐसे लोगों के लिए पूरा बॉलीवुड मसीहा बन खड़ा है। आए दिन हर रोज कोई ना कोई सेलिब्रिटी महादान कर के इन लोगो की मदद कर रहे है। 

हाल ही में बॉलीवुड एक्टर टाइगर श्रॉफ (Tiger Shroff) ने लॉकडाउन के चलते भूखे लोगों की मदत के लिए आगे आए हैं। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम स्टोरी पर "पुण्यकर्मा फाउंडेशन" का पोस्ट शेयर किया है। साथ ही उनके साथ एक नेक काम में उनकी मदत भी कर रहें हैं। 

विशाल कंधारी, जो मदर नेचर स्टूडियो के मालिक हैं, इस संकट के समय में जरूरतमंदों की मदद करने के लिए अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं। स्टूडियो "पुण्यकर्मा फाउंडेशन" नामक अपना स्वयं का एनजीओ भी चलाते है और लॉकडाउन के चलते उनका मलाड लिंक रोड स्टूडियो 24 x 7 राहत भोजन पैकिंग और वितरण स्थल में बदल गया है।

 विशाल कंधारी ने बताया कि "हमारे आउट-ऑफ-द-काम आवासीय स्टूडियो स्टाफ अचानक 'हार्डलेस सेल्फलेस वॉलंटियर्स' में बदल गए हैं और हम 3000 से अधिक प्रवासी कामगारों और जरूरतमंद लोगों को हर एक दिन खाना खिला रहे हैं, जो इस अचानक लॉकडाउन के कारण कठिन परिस्थितियों में फंस गए हैं, अब तक हम 60,000 से अधिक लोगों को खाना खिला चुके हैं। 

 आगे विशाल कंधारी ने कहा कि, हम इस समय कोरोना की महामारी से गुजर रहें हैं। इसीलिए हम जरूरतमंदों लोगों की मदद कर रहें हैं। साथ ही हम अपनी ईमानदारी और प्रेम से लोगों को भोजन खिला रहे हैं। साथ ही हम चाहते है कि इस काम में हमारे साथ और लोग भी शामिल हो। 

इससे हम जरूरतमंद लोगों की सेवा कर सकते हैं। जब तक ये लॉकडाउन खत्म नहीं होता है। जो लोग यहां रोजी रोटी कमाने आए हैं। विशाल कंधारी  ने बताया कि आज सुपरस्टार टाइगर श्रॉफ ने भी इस नेक काम का समर्थन किया और अपने सोशल मीडिया पर पहल के बारे में पोस्ट किया।

 विशाल कहते हैं, “हम बहुत खुश हैं कि टाइगर श्रॉफ जैसे एक्टर ने हमारे प्रयासों पर ध्यान दिया है और अपने काम के बारे में अपने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है। हमें पुण्यकर्मा के बारे में और अधिक जागरूकता की आवश्यकता है ... यह एक बड़े परिवार के रूप में हमारे साथ आने का समय है और सुनिश्चित करें कि इस परिवार में "नो वन" यानी कोई भी आदमी खाली पेट ना सोए। 

Related Story