सुशांत सिंह केस में तनुश्री दत्ता का बड़ा बयान, कहा - मुंबई पुलिस भरोसे के लायक नहीं

By Arunima Aug. 2, 2020, 5:32 p.m. 1k

सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड से पहले उनकी मैनेजर दिशा सालियन के सुसाइड ने सभी को चौंका दिया था। उनके बाद जब एक्टर ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली तो लोगों को दोहरा झटका लगा। सुशांत केस में मुंबई पुलिस के बाद अब बिहार पुलिस भी मामले की छानबीन कर रही है। अब तनुश्री दत्ता का भी बयान भी सामने आया है। तनुश्री ने कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के मामले में उन्हें मुंबई पुलिस की जांच पर बिल्कुल भरोसा नहीं है और इस केस की सीबीआई जांच होनी चाहिए।

उनका एक वीड‍ियो सामने आया है जिसमें फैंस के साथ लाइव चैट में उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस समेत बॉलीवुड के कई मुद्दों पर खुलकर बात की है। उन्होंने कहा- 'न्यायपूर्ण जांच के मामले में मुंबई पुलिस पर बिल्कुल भरोसा नहीं किया जा सकता। वो इस तरह के केसेज को निपटाने के लिए बहुत जल्दबाजी दिखाते हैं, अक्सर आरोपी को जानते हैं और शुरू से ही नेताओं से मिले हुए होते हैं। ये बस लोगों को बयान देने बुलाते हैं क्योंकि उस वक्त मामला गर्म होता है और उन्हें पब्ल‍िक का सपोर्ट मिल सके'। 

तनुश्री ने इंस्टाग्राम के एक लाइव सेशन में कहा, 'मुंबई पुलिस पर सही जांच के लिए विश्वास नहीं किया जा सकता है। पुलिस ज्यादातर ऐसे केसों में बिना किसी जांच के बंद कर देती है और यह अपराधियों और राजनेताओं के हाथों का खिलौना बन जाती है।' तनुश्री ने कहा कि पुलिस केवल लोगों को दिखाने के लिए बयान दर्ज कराने जैसे नाटक करती है क्योंकि वह मामला उस समय गर्म होता है। हालांकि बता दें कि तनुश्री का यह इंस्टाग्राम वीडियो 23 जून का है।

तनुश्री ने आगे कहा, 'इस केस को सीबीआई को हाथ में लेना चाहिए और अगर इसमें अंडरवर्ल्ड की संलिप्तता है तो इंटरपोल को इसे हाथ में लेना चाहिए। ज्यादातर ऐसे मामलों में क्राइम के पीछे लोगों का एक गुट जिम्मेदार होता है न कि कोई खास व्यक्ति। ये लोग जनता की भावनाओं से खेलते हैं और इस बात का इंतजार करते हैं कि कब यह केस बंद हो जाए।' 

अपने केस के बारे में बात करते हुए तनुश्री ने कहा, 'मेरे केस में भी इन्होंने यही दिखाया था कि इन्हें कितनी चिंता है और महीनों तक जांच चलती रही। मैंने एफआईआर दर्ज कराने, सबूत जमा करने, गवाहों, वीडियो फुटेज के लिए बहुत समय और एनर्जी खर्च किए। लेकिन पुलिस ने उन पर कोई द्यान नहीं दिया। मैं केवल इसलिए बच गई क्योंकि मैं इस जहरीले वातावरण से दूर हो गई। अफसोस की बात है कि सुशांत सिंह राजपूत इससे नहीं बच सके।'

Related Story