सुशांत की फिल्म दिल बेचारा को सिनेमाघर में रिलीज़ होती तो 2 हज़ार करोड़ तक होती पहले दिन की कमाई !

By Neetu July 29, 2020, 6:09 p.m. 1k

अदिति त्यागी -बॉलीवुड(Bollywood) एक्टर सुशांत सिंह राजपूत  (Sushant Singh Rajput)की आत्महत्या के बाद उनके फैंस शोक में चले गए थे , हालांकि उनके मन में एक छोटी ख़ुशी थी कि एक बार फिर वो सुशांत को देख पाएंगे वजह थी सुशांत की आखिर फिल्म दिल बेचारा (Dil Bechara)। सुशांत सिंह राजपूत के निधन (Death)के बाद जब खबरें आयीं कि सुशांत की आखिर फिल्म रिलीज़ के लिए तैयार है तो दर्शकों में काफी उत्साह देखने को मिला।सुशांत के फैंस का इंतजार 24 जुलाई (24 July) को पूरा भी हुआ , सुशांत की फिल्म डिज़्नी हॉटस्टार(Disney Hotstar) पर प्रीमियर की गयी , रिलीज़ के कुछ समय बाद ही दिल बेचारा  रिकार्ड्स तोड़े , वैसे तो सुशांत के चाहने वाले इस फिल्म को सिनेमाघरों में देखना चाहते थे लेकिन अफसोस फैंस की ख्वाहिश पूरी नहीं हो पाई। सुशांत के फैंस ने सुशांत के नाम एक और रिकॉर्ड दर्ज करा दिया , दिल बेचारा ऐसी फिल्म बनी जिसको ओटीटी प्लेटफार्म (OTT Platform) पर शायद ही आज तक इतनी बार देखा गया हो। दिल बेचारा को एक साथ दुनिया भर में करोड़ों लोगों ने देखा।

अब सुशांत की दिल बेचारा से जुडी एक और लेटेस्ट खबर सामने आ रही है , दरअसल ताजिया रिपोर्ट के मुताबिक दिल बेचारा  फिल्म रिलीज होने के बाद 9 करोड़ 50 लाख लोगों ने केवल 24 घंटे के अंदर देखी ,एक रिपोर्ट(Report) के अनुसार  सुशांत की आखिरी फिल्म 'दिल बेचारा' को मशहूर वेब सीरीज 'गेम ऑफ थ्रोन्स' (Game Of Thrones)से भी ज्यादा बार देखा गया है।दिल बेचारा को एक साथ दुनिया भर में करोड़ों लोगों ने देखा। सूत्रों के अनुसार कहा जा रहा है कि अगर यह फिल्म सिनेमाघरों में रिलीज होती और तो इसका लगभगओपनिंग डे पर लगभग बिज़नेस करीबन 950 करोड़ रुपये का होता। साथ ही कई सिनेमा हॉल का औसत टिकट प्राइस  207 रुपये है। अगर इस हिसाब से देखा जाए तो बॉक्स ऑफिस पर 'दिल बेचारा' का ओपनिंग डे 2 हजार (2ooo Crore)करोड़ रुपये के आसपास पहुंच जाता।  

बताते चलें कि सुशांत की फिल्म को हर तरफसे तारीफें मिली थीं ,दिल बेचारा' को आईएमडीबी(IMDB) पर भी अब तक की सबसे ज्यादा रेटिंग मिली। शुरुआत में फिल्म को 10/10 रेटिंग दी गयी। सुशांत की एक्टिंग यूं तो हर किसी को दीवाना बना लेती थी , लेकिन फिल्म में सुशांत के डायलॉग 'जन्म कब लेना है और कब मरना है ये तो हम डिसाइड नहीं कर सकते, लेकिन कैसे जीना है ये हम डिसाइड करते हैं।' फिल्म का ये डॉयलॉग आपको याद रह जाता है और अपनी आखिरी फिल्म से सुशांत ने सभी के दिलों पर एक बार फिर अपनी उम्दा कलाकारी की छाप छोड़ दी। 

Related Story