श्रमिकों के मसीहा सोनू सूद ने की नई पहल, किर्गिज़स्तान में फंसे भारतीय छात्रों को स्वदेश लाएंगे

By Neetu July 15, 2020, 8:55 p.m. 1k

पूजा राजपूत- बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद की जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है। कोरोना वायरस महामारी के दौर में सोनू सूद गरीब और जरूरतमंदों के मसीहा बनकर सामने आए हैं। कोरोना संक्रमण को देखते हुए देश में लॉकडाउन की घोषणा हुई तो सोनू सूद औऱ उनकी टीम ने मोर्चा संभाल लिया, और लॉकडाउन में फंसे अलग-अलग शहरों के मजदूरों, छात्रों और जरुरतमंदों को उनके शहर पहुंचाने का काम शुरू कर दिया। सोनू सूद की यह मदद अब भी जारी है। कई लोग उनकी इस नेक पहले के लिए सोनू सूद को नोबल पुरस्कार दिए जाने की मांग भी कर चुके हैं।

इसी बीच, सोनू सूद ने एक नई पहल की है। सोनू सूद ने अब किर्गिज़स्तान में फंसे हज़ारों भारतीय छात्रों को रेस्कयू कर स्वेदस लाने का बीड़ा उठाया है।

15 जुलाई की शाम सोनू सूद ने अपने ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया है। सोनू ने किर्गिज़स्तान में पढ़ाई करने गए छात्रों से कहा है कि  “किर्गिज़स्तान के प्रिय छात्रों अपने रेस्कयू से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए सिर्फ [email protected]पर मेल कर करें, सिर्फ इसी इमेल आईडी को हमारे द्वारा भारतिय छात्रों के रेस्कयू के लिए प्रयोग की जा रही है। सावधान रहें कि सोनू सूद टीम इसके लिए किसी भी तरह से आपसे कोई रकम नहीं ले रही है।”

आपको बता दें, कि किर्गिज़स्तान में मेडिकल और MBA  की पढ़ाई करने गए हज़ारों भारतीय छात्र वहां फंसे हुए हैं। कोविड-19 महामारी के दौर में किर्गिज़स्तान सरकार ने सभी छात्रों को घर जाने का निर्देश दे दिया है। हाल ही में एक भारतीय छात्र की मौत हो गई थी। वहां फंसे छात्रों के अभिभावक अपने बच्चों की सलामती की दुआ मांग रहे हैं, साथ ही सकुशल भारत वापिस लाने की फरियाद भी कर रहे हैं। भारत सरकार की तरफ से भी किर्गिज़स्तान के में फंसे छात्रों को वंदे भारत मिशन के तहत देश लाया जा रहा है।

Related Story