अब बिहार के मजदूरों को घर भेजेंगे सोनू सूद, कहा- सामान बांध लो बहुत जल्द घर पर होंगे

By Aditi May 23, 2020, 12:29 p.m. 1k

इन दिनों पूरा देश कोरोना वायरस से लड़ रहा है। पिछले दो महीने से इस वायरस ने भारत में आंतक मचाया हुआ है। इस बीच सोनू सूद (Sonu Sood) इन दिनों काफी सुर्खियां बटोर रहे हैं। सोनू ने प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने की जिम्मेदारी अपने कंधों पर ले ली है, तभी तो बाकी सितारों की तरह घर पर ना बैठ कर सोनू दिन-रात इन प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। एक बार फिर सोनू सूद ने कुछ ऐसा कर दिखाया जिसने हर किसी के दिल में उनकी एक खास जगह बना दी। कर्नाटक(Karantaka) के 350 प्रवासी मजदूरों को बसों में घर पहुंचाने के बाद अब महाराष्ट्र के कई मजदूरों को सोनू सूद ने यूपी के लिए बसों में रवाना किया। 

ऐसे में उन लोगों को परेशानियां हो रही हैं जो अपने घर और गांव को छोड़कर शहर में कमाने आए थे और अब वापस नहीं लौट पा रहे। मुंबई जैसे शहर में लाखों लोग ऐसे में जो फंसे हुए हैं। जिनकी मदद के लिए पिछले दिनों एक्टर सोनू सूद आगे आए थे। एक्टर लगातार इन लोगों के लिए काम कर रहे है और इन्हें सही सलामत अपने घर पहुंचा रहे हैं।

सोनू सूद ने बीते दिनों मुंबई से माइग्रेंट वर्कर्स को उनके घर पहुंचाया। जिसकी तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुए। वहीं अब एक्टर एक बार फिर इस काम के लिए आगे आए है। दरअसल सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने उन्हें मैसेज किया और कहा की हम पिछले 16 दिनों से पुलिस चौकी के चक्कर काट रहे हैं लेकिन हम लोगों का काम नहीं हो पा रहा है। हम लोग धारवी में रहते है और हमे बिहार जाना है। 

वहीं दूसरे शख्स ने लिखा- भईया हमारा नंबर कब आएगा। ऐसे में सोनू सूद ने इन लोगों को रिप्लाए किया और कहा। चलो मेरे भाई अपना सामान बांध लो। यानी साफ है की एक्टर इन लोगों को भी अब घर पहुंचाएंगे। इस नेक काम के लिए सोशल मीडिया पर हर कोई एक्टर की तारीफ कर रहा हैं। 

आपको बता दें कि इस काम के लिए एक्टर बहुत मेहनत कर रहे हैं। बसों का इंतजाम कर रहे हैं। काम ठीक से हो, इसके लिए वह 18 घंटे अपने फोन से चिपके रहकर एक-एक चीज मॉनिटर करते हैं। इस काम में उनको सरकार से परमिशन लेने में भी दिक्कतें आ रही हैं। हाल ही में उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया है कि उन्हें सबसे ज्यादा दिक्कत राज्य सरकारों से परमिशन लेने में आ रही है। उनको यह भी सुनिश्चित करना पड़ रहा है कि इन वर्कर्स के पास कागज पूरे हों ताकि वे किसी राज्य के बॉर्डर पर फंस न जाएं।

बता दें कि सोनू ने 'घर भेजो' इनीशिएटिव की शुरुआत अपनी एक दोस्त नीति गोयल के साथ मिलकर की थी। 11 मई से शुरू करके वह 21 बसों से 750 वर्कर्स को कर्नाटक और उत्तर प्रदेश भेज चुके हैं। 10 और बसें बिहार और यूपी के लिए रवाना हो चुकी हैं वहीं पश्चिम बंगाल, झारखंड और असम सरकारों से अनुमति मिलने का इंतजार है। अगले 10 दिनों में 100 से ज्यादा बसें मुंबई से रवाना होंगी।

सोनू सूद के चाहने वालों की संख्या तेजी से बढ़ गई है । ना सिर्फ पर्दे पर एक्टिंग का कमाल बल्कि असल जिंदगी में भी सोनू सूद इतने दरिया दिल है, यह देखकर फैंस सोनू के काम की सराहना कर रहे हैं।

Related Story