शाहरुख का सनसनीखेज खुलासा, "बालकनी से कूदने वाला था

By Arunima April 22, 2020, 12:12 a.m. 1k

सारीका स्वरूप

बॉलीवुड के सुपरस्टार शाहरुख खान ( Shahrukh khan) का कहना है कि उन्होंने कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR) कि टीम को वो पाठ नहीं पढ़ाया जो उन्होनें फिल्म ‘चक दे! इंडिया ' (Chak de India ) अंडरडॉग साबित हुई भारतीय महिला हॉकी टीम (Hockey team) को पढाई थी। यहां शाहरुख फिल्म में अपनी भूमिका का जिक्र कर रहे है, जिसमें वो टीम के कोच कबीर खान के रोल में थे। फिल्म में कबीर खान के मार्गदर्शन में  टीम वर्ल्ड कप जीतने में सफल रही थी।

फिल्म में फाइनल मैच से पहले कबीर खान ने अपने टीम को '70 मिनट' तक खेल का पाठ पढ़ाया था, जिससे टीम को जितने में काफी मदद मिली थी । वो पाठ एक मिसाल बन गया था, सबका ये मानना था कि इसकी वजह से ही टीम वर्ल्ड कप जीतने में सफल हो सकी है ।

शाहरुख का भी यही मानना है कि उन्हें कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR) के co-owner  होने के नाते अपनी टीम ( team) को कभी ऐसा संदेश नहीं दिया, बल्कि इस मामले में शाहरुख ने बहुत ही अलग भूमिका निभाई है ।

शाहरुख ने उस वक़्त की यादें ताजा की, जब 2012 में उनकी टीम कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR )पहली बार आईपीएल चैंपियन (IPL Champion) बनी थी। शाहरुख ने कहा, ‘मैं बस वहां लटका हुआ था, मेरी दोनों बाहें मेरी बालकनी पर झूल रही थीं। शायद यही वजह थी कि हम तब IPL जीत गए थे, जिसके बाद मुझे विश्वास का एक ईशारा मिल गया था । क्योंकि उस समय तक बहुत से लोग मुझे टीम बेचने की सलाह दे चुके थे, जो मैं कभी नहीं करूंगा। हम वो मैच विश्वास और आत्मविश्वास के कारण जीते थे।’

शाहरुख ने बताया, ‘दरअसल,  पहला मैच जो हमने जीता था, उस दौरान मैं अपनी बालकनी से कूदने जा रहा था, मुझे लगता है कि वह मेरी बेटी (सुहाना) थी, जिसने मुझे कूदने से बचा लिया था। मैं उस रात फ्लाइट पकड़ सकता था, लेकिन मैं घर पर ही रुका।’ शाहरुख ने आगे बताया, ‘मैं जीवन भर एक बहुत ही छोटे स्तर का खिलाड़ी रहा हूं, इसलिए मैंने कभी उन्हें कुछ ‘चक दे !इंडिया’ जैसा ‘सबक’ नहीं दिया! मैंने ऐसा कोई पाठ उन्हे कभी नहीं पढ़ाया है।’ 

शाहरुख ने स्टार स्पोर्ट्स के शो क्रिकेट कनेक्टेड से इस पर खुलकर बातचीत की, इस दौरान केकेआर (KKR) के पूर्व कप्तान और भाजपा सांसद गौतम गंभीर(Gautam Gambhir) भी इसका हिस्सा थे।

Related Story