13 साल की उम्र में सरोज खान ने रचाई थी शादी ! , जानिए उनके जिंदगी के अनसुने किस्से

By Aditi July 3, 2020, 3:39 p.m. 1k

बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान Saroj Khan आज  अब हमारे बीच नहीं रही। देर रात उनका निधन हो गया। देर रात 1.52 बजे कार्डियक अरेस्ट की वजह से उनकी मौत हो गई। कुछ दिन पहले ही उनका कोरोना टेस्ट भी कराया गया था जो निगेटिव आया था। सरोज खान 72 साल की थीं। उन्होंने माधुरी दीक्षित और श्रीदेवी सहित बॉलीवुड के कई कलाकारों को डांस सिखाया। 

सरोज के पिता का नाम किशनचंद सद्धू सिंह और मां का नाम नोनी सद्धू सिंह था। विभाजन के बाद सरोज खान का परिवार पाकिस्तान से भारत आ गया था।  बहुत कम ही लोगों को पता हैं कि सरोज खान Saroj Khan का असली नाम निर्मला नागपाल हैं। जी हां निर्मला उनका असली नाम है। सरोज ने महज 3 साल की उम्र में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया था। उनकी पहली फिल्म नजराना थी जिसमें उन्होंने श्यामा नाम की बच्ची का किरदार निभाया था। 

50 के दशक में सरोज ने बैकग्राउंड डांसर काम करना शुरू किया था। उन्होंने कोरियोग्राफर बी.सोहनलाल B. Sohanlal के साथ ट्रेनिंग ली थी। 1974 में रिलीज हुई फिल्म गीता मेरा नाम से सरोज एक स्वतंत्र कोरियोग्राफर की तरह जुड़ीं हालांकि उनके काम को काफी समय बाद पहचान मिली। सरोज खान ने करीब 2000 से ज्यादा गानों को कोरियोग्राफ किया है। 

सरोज खान Saroj Khan अपनी पर्सनल लाइफ के चलते भी खूब चर्चा में रही। उन्होंने मास्टर बी. सोहनलाल  B. Sohanlal  से शादी की थी। दोनों की उम्र में 30 साल का फासला था। शादी के वक्त सरोज की उम्र 13 साल थी। इस्लाम धर्म कबूल कर उन्होंने 43 साल के बी. सोहनलाल से शादी की थी। सोहनलाल  B. Sohanlal   की ये दूसरी शादी थी। सरोज खान ने एक इंटरव्यू में बताया था कि 'मैं उन दिनों स्कूल में पढ़ती थी तभी एक दिन मेरे डांस मास्टर सोहनलाल ने गले में काला धागा बांध दिया था और मेरी उनसे शादी हो गई थी।

इसरोज खान Saroj Khan  ने एक इंटरव्यू में बताया था कि 'मैंने अपनी मर्जी से इस्लाम धर्म ग्रहण किया था। उस वक्त मुझसे कई लोगों ने पूछा कि मुझ पर कोई दबाव तो नहीं है लेकिन ऐसा नहीं था। मुझे इस्लाम धर्म से प्रेरणा मिलती है।' सरोज से शादी के वक्त सोहनलाल ने अपनी पहली शादी की बात नहीं बताई थी। 1963 में सरोज खान के बेटे राजू खान का जन्म हुआ तब उन्हें सोहनलाल की शादीशुदा जिंदगी के बारे में बता चला। बता दें कि राजू खुद भी कोरियोग्राफर हैं।  

1965 में सरोज ने दूसरे बच्चे को जन्म दिया लेकिन 8 महीने बाद ही मौत हो गई। उसी के बाद उनहोंने बेटी कुकु को जन्म दिया। बच्चों के जन्म के बाद सोहनलाल ने उन्हें अपना नाम देने से इनकार कर दिया। इसके बाद दोनों में दूरिया आ गई थी। वहीं कहा ये भी जाता है कि सरोज ने सोहनलाल से अलग होने के बाद सरदार रोशन ख़ान से शादी की थी। दोनों की एक बेटी सुकन्या खान है, जो कि दुबई में डांस इंस्टीट्यूट चलाती हैं।

Related Story