आर्थिक तंगी झेल रहे लाइटमैन की मदद के लिए आगे आए साजिद नाडियाडवाला

By Aditi May 20, 2020, 9:31 p.m. 1k

पूजा राजपूत- चीन के वुहान शहर से दुनियाभर में फैले किलर कोरोना वायरस (Coronavirus) ने जब भारत (India) में दस्तक दी थी। तब इंडियन एंटरटेमेंट इंडस्ट्री (Indian Entertainment Industry) उन उघोगों में से एक थी। जिसे सबसे पहले बंद किया गया था। 19 मार्च से ही फिल्मों (Films) और सीरियल्स (Serials)  का काम रोक दिया गया था। जो अभी तक ठप पड़ा है। फिल्मों और टीवी सीरियल्स दोनों के ही काम पर इस लॉकडाउन (Lockdown) का बुरा असर पड़ा है, लेकिन इसका सबसे ज्यादा बुरा प्रभाव झेल रहे हैं। यहां काम करने वाले स्पॉट बॉय, सैटिंग टीम और लाइट मैन जैसे दिहाड़ी कर्मचारी। 

ऐसी ही एक कहानी हाल ही में मशहूर फिल्म प्रोड्यसूर (Film Producer) साजिद नाडियाडवाला (Sajid Nadiadwala) को सोशल मीडिया (Social Media) के ज़रिए सुनने को मिली थी। कैसे फिल्म इंड्स्ट्री में सालों से लाइट मैन का काम करते आ रहे है। लाइट मैन गुलाम सत्तर (Ghulam Sattar) को लॉकडाउन की वजह से अपनी जिंदगी का सबसे बुरा वक्त देखने को मिल रहा है। 

54 साल के गुलाम को कुछ शारीरिक इश्यू की वजह से फिल्म इंडस्ट्री छोड़ने पड़ी थी। खुशकिस्मती से वह संघर्षों के साथ सर्जरी से अपनी इस तकलीफ से उबर पाए और उन्होंने इसी साल जनवरी में वापस काम शुरू करने का फैसला किया था, लेकिन अफसोस लॉकडाउन की वजह से वो एक बार फिर बेरोज़गार हो गए। 

गुलाम डेली सोप ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ के सैट पर बतौर लाइट मैन काम कर रहे थे। लेकिन शुटिंग का काम रुकने की वजह से उन्हें भारी आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। यहां तक कि उनके पास खाने का इंतज़ाम करने तक के पैसे नहीं है। सुत्रों के मुताबिक- साजिद नाडियवाला को जब गुलाम सत्तर की इस स्थिति के बारे में पता चला तो उन्होंने अपने मैनेजर को व्यक्तिगत रूप से इस मामले को देखने के लिए कहा था और जब सत्तार ने उसे बुलाया था। तो वह अपने आंसू नहीं रोक पाए। साजिद को उनके मैनेजर से पता चला कि गुलाम सत्तर के पास अपनी दैनिक ज़रुरतें पूरी करने के लिए भी पैसे नहीं है। वह सिर्फ लोगों से मिलने वाले खाने पर ही निर्भर हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक लाइट मैन गुलाम सत्तर की इस दयनिय स्थिति के बारे में जानते ही। साजिद नाडियाडवाला ने गुलाम सत्तर के बैंक अकाउंट में तुरंत 10 हज़ार रूपए ट्रांसफर करवा दिए। ताकि उनकी ज़रुरतें पूरी हो सकें। 

आपको बता दें कि गुलाम सत्तर पहले ऐसे शख्स नहीं है, जिनकी साजिद ने आर्थिक मदद की है। फिल्ममेकर अपने विभिन्न फिल्म प्रोजेक्ट्स में काम करने वाले ऐसे ही 400 वर्कर्स की भी मदद कर रहे हैं। कहना गलत नहीं होगा कि मुश्किल भरे इस वक्त में साजिद नाडियाडवाला गुलाम सत्तर की जिंदगी में उम्मीद की किरण लेकर आए हैं।

Related Story