सुशांत केस में दोषी पाए जाने पर 10 साल तक की सजा हो सकती है रिया चक्रवर्ती को ? कई गैरजमानती केस दर्ज हैं उनपर

By Neetu July 30, 2020, 8:06 p.m. 1k

नम्रता शर्मा -  सुशांत सिंह राजपूत(Sushant Singh Rajput) मौत के मामले में मंगलवार को उस वक्त नया मोड़ आ गया जब सुशांत के परिवार की तरफ से रिया चक्रवर्ती(Rhea Chakraborty) के खिलाफ पटना के राजीव नगर पुलिस स्टेशन में कई धाराओं में शिकायत दर्ज कराई गई। बिहार पुलिस के अधिकारी मुंबई पहुंच चुके हैं और इस पूरे मामले की जांच को आगे बढ़ा रहे हैं। इसी बीच रिया चक्रवर्ती से पूछताछ के लिए पुलिस उनके घर पहुंची थी लेकिन वो अपने घर पर नहीं मिली। रिया चक्रवर्ती पर आईपीसी की धारा 341, 342, 380, 406, 420, 306, 506 के तहत मुकदमा दर्ज हुआ है। ऐसे में ये जानना भी बेहद जरूरी है कि आखिर इन धाराओं के तहत रिया चक्रवर्ती पर क्या कार्रवाई हो सकती है और कितने साल की सजा हो सकती है ?

1. रिया चक्रवर्ती पर सबसे गंभीर आरोर धारा 306 है। ये धारा आत्महत्या के लिए उकसाने का है। ये बेहद संगीन जुर्म है जिसके लिए 10 साल तक की जेल की सजा है। इसके तहत दोषी  पाए जाने पर 10 साल तक की सजा हो सकती है। सुशांता के पिता ने एफआईआर में लिखा है कि रिया ने सुशांत को आत्महत्या के लिए उकसाया। 

2 .रिया चक्रवर्ती पर लगे आईपीसी की धारा 341 के अनुसार किसी को जबरन बंदी बनाने पर एक साल तक की सजा हो सकती है या फिर उस पर जुर्माना लगाया जा सकता है या फिर सजा और आर्थिक दंड दोनों दिए जा सकते हैं। सुशांत के पिता ने रिया पर उनके बेटे को जबरन बंदी बनाने का आरोप लगाया है। 

3. रिया पर आईपीसी की धारा 380 के तहत भी केस दर्ज है। ये इल्जाम चोरी का है। दोषी साबित होने पर इस केस के तहत उन्हें 7 साल तक की सजा या फिर जुर्माना भरना पड़ सकता है।  कुछ मामलों में सजा और जुर्माना दोनों हो सकते हैं। सुशांत के पिता ने उनपर उनके घर के गहने, कैश, लैपटॉप, मोबाइल और दूसरे कीमती सामान उठाकर ले जाने के आरोप लगाएं हैं। 

4.  रिया चक्रवर्ती पर धारा 406 भी लगा है। ये फर्जीवाड़ा का केस है। इसमें उनपर ये आरोप है कि कंपनी खोलने के नाम पर उन्होंने सुशांत के 15 करोड़ का गबन किया। इसके तहत दोषी पाए जाने पर 3 साल की सजा और जुर्माना है। इस केस में जल्दी जमानत नहीं मिलती है। 

5 . रिया चक्रवर्ती पर धारा 420 के तहत भी मामला दर्ज किया गया है। धारा 420 धोखा या फिर बेईमानी से किसी कीमती चीज को अपने नाम पर कर लेने पर लगाई जाती है।  इस अपराध में दोषी साबित होने पर 7 साल तक की जेल हो सकती है।  ये भी एक गैर जमानती अपराध है।

6. सुशांत के पिता ने रिया पर धारा 506 के तहत भी केस दर्ज करवाया है। धारा 506 धमकी या फिर ब्लैकमेलिंग करने पर लगाई जाती है। सुशांत के पिता ने रिया पर उनके बेटे को ब्लैकमेल करने का आरोप जड़ा है। इस केस में 2 साल की सजा और जुर्माना लगता है। 

रिया चक्रवर्ती के खिलाफ गैर जमानती केस दर्ज हैं।  बिहार पुलिस अगर उन्हें गिरफ्तार करती है तो वो लंबा फंस सकती हैं। फिलहाल रिया के खिलाफ सबूत जुटाने में जुटी है बिहार पुलिस। इस मामले में वो पहले उनसे पूछताछ करेगी और फिर गिरफ्तारी भी संभव है। 

Related Story