रेखा के पति मुकेश अग्रवाल ने उनके दुपट्टे से फांसी लगा ली थी, एक साल में टूट गई थी शादी !

By Neetu July 11, 2020, 6:16 p.m. 1k

पूजा राजपूत – बॉलीवुड की एवरग्रीन एक्ट्रेस कहलाती हैं रेखा। 65 साल की हो चुकीं रेखा आज भी इतनी खूबसूरत दिखती हैं कि देखने वाला उन्हें बस टकटकी लगाए निहारता रह जाता है। हर कोई जानना चाहता है कि आखिर रेखा की इस खूबसूरती का राज क्या है।

वैसे, खुद रेखा की पूरी जिंदगी ही किसी पहेली सी कम नहीं हैं। रेखा ने अपने इर्द-गिर्द एक ऐसी अनदेखी दीवार खड़ी कर रखी है, कि कोई भी शख्स यह नहीं जान पाता कि उनकी निजी ज़िंदगी में आखिर क्या चल रहा है।

रेखा की मांग में लगा सिंदूर भी किसी रहस्य से कम नहीं हैं।

 रेखा की मांग में सजा लाल सिंदूर उनके चेहरे पर फबता तो खूब है, लेकिन किसी को नहीं पता की रेखा अपनी मांग में सिंदूर आखिर किसके नाम का लगाती हैं। क्योंकि असल जिंदगी में तो रेखा सुहागन नहीं हैं। रेखा ने अपनी जिंदगी में प्यार तो कई बार किया, लेकिन उन्हे उस जीवनसाथी का साथ कभी नहीं मिल पाया जिसकी तलाश उन्हें हमेशा से रही थी।

1990 में रेखा ने दिल्ली के रहने वाले बिजनेसमैन मुकेश अग्रवाल से शादी की थी। कहते हैं कि मुकेश अग्रवाल को हमेशा ही लाइमलाइट में घिरे रहना और नामी-गिरामी लोगों की संगत में रहना पसंद था। मुकेश दिल्ली में पार्टियां होस्ट करते रहते थें, जिसमें कई नामचीन लोग शामिल होते थे। मुकेश अग्रवाल बॉलीवुड एक्ट्रेस रेखा के भी फैन थे।

 रेखा और मुकेश को मिलवाने का श्रेय मशहूर फैशन डिज़ाइनर बीना रमानी को जाता है। रेखा अक्सर अपनी खास दोस्त बीना रमानी से मिलने दिल्ली आया करती थीं, उसी दौरान रेखा ने बीना के सामने शादी करके सैटल होने की इच्छा ज़ाहिर की थी। तभी बीना ने रेखा को उनके क्रेज़ी फैन मुकेश अग्रवाल के बार में बताया था। बीना रमानी के ही ज़ोर देने पर रेखा ने पहली बार मुकेश अग्रवाल को फोन कर उनसे बात की थी। धीरे-धीरे दोनों दोस्त बनने लगे, तभी मुकेश अग्रवाल ने रेखा को शादी के लिए प्रपोज़ कर दिया और रेखा ना नहीं कह पाईं। उस शाम रेखा और मुकेश ने मुक्तेश्वर देवालय में शादी कर ली। 

रेखा की अचानक शादी की खबर जंगल में आग की तरह फैली थी। हर कोई इस शादी की खबर को सुनकर हैरान था। शादी के तुरंत बाद ही रेखा और मुकेश अग्रवाल हनीमून के लिए रवाना हो गए थे।

हनीमून के दौरान ही रेखा को पता चला कि मुकेश अग्रवाल ने उनसे अपनी जिंदगी कई राज़ छुपाए हैं। मुकेश ने रेखा को नहीं बताया था कि वह डिप्रेशन के शिकार हैं, और लम्बे वक्त से दवाईयां ले रहे हैं। 

इसी दौरान रेखा के सामने यह भी खुलासा हुआ कि मुकेश अग्रवाल के उनका डिप्रेशन का इलाज कर रहे डॉक्टर आकाश बजाज से भी संबंध थे। ज़ाहिर ये सब सुनकर रेखा टूट गईं और उनकी शादी में दरारें आने लगीं। रेखा फिल्मों में काम करने के लिए वापिस मुंबई लौट गईं। मुकेश अक्सर रेखा पर दबाव डालते थे, कि वह फिल्मों में काम करना बंद करें और उनके साथ दिल्ली में सेटल हो जाएं।

रेखा के फिल्मों के सैट पर पहुंचकर मुकेश अक्सर हंगामा किया करते थे। शादी के सिर्फ छ: महीने के भीतर ही रेखा ने मुकेश अग्रवाल को तलाक का नोटिस भिजवा दिया था। लेकिन मुकेश रेखा को तलाक नहीं देना चाहते थे। 2 अक्टूबर 1990 को मुकेश अग्रवाल ने अपने फार्म हाउस पर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। हैरानी की बात यह थी की मुकेश ने फांसी का फंदा रेखा के दुप्पट्टे को बनाया था। 

उस वक्त रेखा विदेश में थीं, और ये खबर सुनते ही भारत लौट आईं। लेकिन तभी रेखा के देवर ने अपने भाई की मौत का जिम्मदार रेखा को ठहरा डाला। देखते ही देखते रेखा को नैशनल वैंप के तौर पर देखा जाने लगा। जगह-जगह उनके पोस्टर्स पर कालिख पोते जाने लगी। अनुपम खेर और सुभाष घई जैसी फिल्मी हस्तियों ने भी रेखा पर कई तरह के इल्ज़ाम लगाए।

 उन्हें मैन-इटर कहा जाने लगा। उस वक्त रेखा का घर से निकलना भी मुश्किल होने लगा। उन्हें फिल्मों में काम मिलना भी बिल्कुल बंद हो गया था। आज भी ये एक राज़ है कि क्या वाकई मुकेश अग्रवाल डिप्रेशन के शिकार थे। आखिर किस वजह से रेखा और मुकेश अग्रवाल के बीच इतना बड़ा झगड़ा हो गया कि इस रिश्ते में सुलह की कोई गुंजाईश नहीं बची थी। 

रेखा पर कई तरह के इल्ज़ाम लगाए गए। लेकिन इनके इल्ज़ामों के बदले में रेखा ने हमेशा चुप्पी साधे रखी।

Related Story