मैंने कभी सुशांत को अपनी फिल्म से बाहर नहीं निकाला, उन्होंने खुद छोड़ी थी मेरी फिल्म-संजय लीला भंसाली

By Aditi July 7, 2020, 12:13 p.m. 1k

दीपक दुबे- एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की सुसाइड के बाद मुंबई पुलिस लगातार इस केस की जांच में लगी हुई है। आए दिन हर एक नए व्यक्ति से पूछताछ कर रही है। वहीं सोमवार को पुलिस ने फिल्मकार संजय लीला भंसाली का बयान दर्ज किया। 4 घण्टे तक पूछताछ की और उनका बयान दर्ज किया। मुम्बई पुलिस सूत्रों के अनुसार भंसाली ने अपने ऊपर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए पुलिस को अपने बयान में बताया कि उन्होंने कभी भी सुशान्त को फ़िल्म से बाहर नहीं निकाला बल्कि सुशान्त ने खुद भंसाली के साथ फ़िल्म करने से इसलिए मना कर दिया था क्योंकि सुशान्त ने भंसाली को कहा था कि वो "यशराज" के साथ किसी दूसरी फिल्म की शूटिंग कर रहे हैं और कॉन्ट्रैक्ट में बंधे है।

सोमवार को 12.30 बजे बांद्रा पुलिस स्टेशन पहुचें भंसाली के लिए पुलिस ने 20 महत्वपूर्ण सवालों की फेहरिस्त तैयार की हुई थी। पुलिस भंसाली से सुशान्त के साथ किये गए फिल्मों के करार जो भंसाली ने फिल्में सुशान्त के साथ करना चाहते थे लेकिन किसी कारण वश नहीं कर पाए थे। उस मामलें में पूछताछ करना शुरू किया। गौरतलब है कि भंसाली पर यह आरोप लग रहे थे कि अभिनेता सुशांत सिंह इस वजह से डिप्रेशन में चले गए थे कि भंसाली के द्वारा बनाई गई 2 बड़ी फिल्मों "रामलीला" और "बाजीराव मस्तानी" को उनसे छीन कर किसी और को दे दिया गया था जिसके डायरेक्टर खुद भंसाली ही थे। इन आरोपों को भंसाली ने सिरे से खारिज करते हुए कहा कि उन्होंने सुशान्त को किसी भी फ़िल्म से ड्राप (हटाया) नहीं ।

भंसाली के द्वारा पुलिस को दिए गए बयान के मुताबिक सुशान्त सिंह राजपूत फ़िल्म "पानी" की शूटिंग में व्यस्त थे। जो कि यशराज फ़िल्म के बैनर तले बन रही थी। जिसकी वजह से सुशान्त ने भंसाली को फ़िल्म करने से मना कर दिया था। जबकि भंसाली चाहते थे कि सुशान्त उनके साथ इन दोनों फिल्मों में पूरी तरह से (फुल टाइम) जुड़े व काम करें लेकिन एक्टर सुशान्त ने फ़िल्म ही करने से मना कर दिया उसके बाद कभी भी सुशान्त से फ़िल्म को लेकर कभी बात नहीं की । गौरतलब है कि फ़िल्म पानी के डायरेक्टर शेखर कपूर ने सुशान्त की मौत के बाद कई सवाल खड़े किये थे, यहां तक कि कपूर ने कहा कि फ़िल्म "पानी" के बीच में रुक जाने के बाद सुशान्त उनके कंधे पर सर रख कर खूब रोये थे। फ़िल्म पानी भी सुशान्त की नहीं बन पाई थी और बीच में ही इसे बंद करना पड़ गया था। इस मामलें में कपूर ने प्रोडक्शन हाउस "यशराज के "साथ क्रिएटिव डिफरेंसेज का आरोप लगाया था और यह फ़िल्म बनने से पहले ही ठंडे बस्ते में चली गईं।

3 साल पहले मिले थे भंसाली सुशान्त से

भंसाली के द्वारा पुलिस को दिए गए बयान के मुताबिक सुशान्त के साथ इनकी मुलाकात साल 2016 में आखिरी बार हुई थी उसके बाद कभी भी सुशान्त के साथ कोई बातचीत नहीं हुई और न ही सुशान्त भंसाली के साथ कोई करीब रिश्ते रहे। भंसाली के मुताबिक उन्हें नहीं पता था कि सुशान्त की निजी जिंदगी के बारे में कि वो डिप्रेशन में थे या नहीं।

एक नहीं बल्कि 2 पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया भंसाली का बयान

बांद्रा पुलिस स्टेशन में संजय लीला भंसाली का बयान तीन घण्टे तक दर्ज किया गया लेकिन बांद्रा पुलिस स्टेशन से निकलने के बाद भंसाली मुम्बई के सांताक्रुज पुलिस स्टेशन पहुचें जहां उन्हें डीसीपी अभिषेक त्रिमुखे के द्वारा बुलाया गया था। भंसाली से यहां डीसीपी त्रिमुखे ने तकरीबन 1 घण्टे तक पूछताछ की औऱ भंसाली का बयान दर्ज किया गया। इससे पहले बांद्रा में एसीपी व इस केस के जांच अधिकारी ने पूछताछ कर बयान दर्ज किया था। भंसाली से इन 4 घण्टों में तकरीबन 35 से 40 सवाल पूछे गए। 

क्या सुशान्त को थी एक बड़े हिट "फिल्म पानी" की तलाश"

भंसाली के बयान से जाहिर है कि सुशान्त को बड़ी हिट फिल्मों की दरकार थी फ़िल्म पानी" मील का पत्थर साबित होती" ऐसा सुशांत को लगा तभी उन्होंने भंसाली की डेढ़ सौ करोड़ से ज्यादा की फ़िल्म को एक झटके में मना कर दिया था या फिर यशराज के साथ कॉन्ट्रैक्ट करना एक बड़ी वजह बन चुकी थी। गौरतलब है कि सुशान्त की सुसाईड मिस्ट्री को सुलझाने में जुटी मुम्बई पुलिस हर एंगल पर जांच कर रही है जिससे कि जल्द से जल्द निष्कर्ष पर निकला जा सके कि आत्महत्या की वजह निजी कारण था? या फिर प्रोफेशनल कारणों से सुशान्त ने इतना बड़ा कदम उठाया?, आपको याद दिला दे कि सुशांत ने 14 जून को बांद्रा इलाके में स्थित अपने घर में पंखे से लटककर आत्महत्या की थी। इसी मामलें की जांच में जुटी ही मुम्बई पुलिस अब हर पहलुओं को खंगालने में जुटी है।

Related Story