‘नेपोटिज्म’ के खिलाफ कोर्ट जा सकती हैं कंगना रनौत, किस-किस पर आ सकती है कानूनी आफत ?

By Neetu July 21, 2020, 2:22 p.m. 1k

पूजा राजपूत-अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से ही धाकड़ अभिनेत्री कंगना रनौत एक बार फिर ‘नेपोटिज्म’ और ‘खेमेबाज़ी’ जैसे मुद्दों को लेकर मुखर हो गई हैं। नेपोटिज्म के खिलाफ कंगना ने इस बार झंडा ऐसे बुलंद किया है, कि वह अब कानूनी जंग लड़ने की तैयारी कर रही हैं। जी हां, रिपोर्टस की मानें तो उन्होंने इस मुद्दे को लेकर देश के जाने-माने वकील सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanyam Swami) के दफ्तर में संपर्क कर उनसे मिलने के लिए समय मांगा है। खबरें है कि वह अब यह लड़ाई अदालत के ज़रिये लड़ना चाहती हैं।

सोमवार दोपहर को सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट कर बताया कि ‘कंगना ने मेरे दफ्तर में इश्करण से संपर्क किया है। इश्करण और मैं जल्दी ही मिलकर इस मामले में बातचीत करेंगे कि जब मुंबई पुलिस कंगना से पूछताछ करने आती है तो हम लोग कैसे अभिनेत्री की कानूनी मदद कर सकते हैं। मुझे बताया गया है कि कंगना हिंदी सिनेमा के स्टारडम में तीसरे नंबर पर हैं लेकिन उनकी बहादुरी का जज़्बा अव्वल दर्जे का है।”

आपको बता दें, कि इश्करण सिंह भंडारी देश के प्रमुख वकीलों में गिने जाते हैं, और सुब्रमण्यम स्वामी की टीम के अहम सदस्य हैं। इश्करण सुशांत की मौत को सामान्य नहीं मान रहे हैं। वह सुशांत की मौत के मामले में पिछले दिनों मुंबई पुलिस को सुशांत के फ्लैट के तमाम फॉरेंसिक सुबूतों, इलेक्ट्रॉनिक सुबूतों, सीसीटीवी कैमरों, लैपटॉप और फोन वगैरह को सही ढंग से संभालने की प्रक्रिया को लेकर पत्र लिख चुके हैं। 

वहीं दूसरी तरफ, कंगना रनौत भी इस बार बड़ा कदम उठाने की तैयारी कर रही हैं। सुशांत के निधन के बाद से ही कंगना ने ‘नेपोटिज्म’ और ‘खेमेबाज़ी’ के खिलाफ तीखा रूख अपनाया हुआ है। हाल ही में कंगना ने एक टीवी इंटरव्यू दिया था, जिसमें उन्होने कई सनसनीखेज़ खुलासे किए थे, यही नहीं फिल्ममेकर आदित्य चोपड़ा, करण जौहर, निर्देशक महेश भट्ट, और फिल्म क्रिटिक राजीव मसंद पर भी कई इल्ज़ाम लगाए थे। कंगना ने करण जौहर को सपोर्ट करने वाली अभिनेत्रियों भी तंज कसा था, जिसके बाद से ही बॉलीवुड का मौसम एक बार फिर गर्माया हुआ है।

इतना ही नहीं,  कंगना ने सोशल मीडिया पर दो वीडियोज़ शेयर किये थे जिनके ज़रिए उन्होने बॉलीवुड के स्याह चेहरे को सभी के सामने लाने की कोशिश की थी। नेपोटिज्म और गुटबाज़ी को बॉलीवुड में बढ़ावा देने वाले लोगों पर कंगना ने तीखा प्रहार करते हुए उन्हें ‘मूवी माफिया’ तक कह डाला था। सुशांत की आत्महत्या को कंगना ने ‘प्लांड मर्डर’ तक ठहरा दिया था। अब ऐसे में सवाल यह है कि अगर अभिनेत्री ‘नेपोटिज़्म’ और कथित ‘मूवी माफिया’ के खिलाफ अदालत पहुंचती हैं, तो कौन-कौन सी फिल्मी हस्तियों पर कानूनी मुसीबत आ सकती हैं। यह देखना दिलचस्प रहेगा।

Related Story