लॉकडाउन की वजह से सड़क पर आया ये फिल्मी सितारा ! ड्रीम गर्ल और सोनचिरैया में काम कर चुके एक्टर बेच रहे हैं फल !

By Arunima May 22, 2020, 12:45 p.m. 1k

नम्रता शर्मा

देशभर में कोरोना (covid 19)पैर पसार चुका है। एक लाख से भी ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। इस चुनौती से लड़ने के लिए देशभर में पिछले 2 महीने से लॉकडाउन (Lock down) है, लेकिन लॉकडाउन ने भी कई तबकों के सामने अलग-अलग मुसीबतें खड़ी कर दी है। कोई अपने घर जाने की आस लिए सड़क पर बैठा है, तो कोई अपने लिए दो वक्त की रोटी का भी इंतजाम नहीं कर पा रहा है।

लॉकडाउन की वजह से बहुत सारे लोगों की नौकरी चली गई है। कई लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट है। आपको जानकर हैरानी होगी कि खाने-पीने के मोहताज सिर्फ मजदूर ही नहीं बल्कि फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े कई आर्टिस्ट भी हैं। ऐसे ही एक एक्टर है सोलंकी दिवाकर (Solanki Diwaker) ।

ड्रीम गर्ल, सोनचिरैया और तितली जैसी फिल्मों में साइड रोल में नजर आ चुके दिवाकर अब सडक पर फल बेचने के लिए मजबूर हो गए हैं। दिल्ली के साउथ एक्स की सड़कों पर फल बेचकर वो अपने परिवार का गुजारा कर रहे हैं।

दरअसल फिल्म इंडस्ट्री (Film Industry) में कोई काम ना होने की वजह से उनको मजबूरन सड़कों पर फल बेचना पड़ रहा है। हाल ही में उन्होंने अपना दुख बयां किया और बताया था कि कोई काम छोटा बड़ा नहीं होता। बस यही सोचकर वो फल बेच रहे हैं ,क्योंकि उनके पास आय का कोई साधन नहीं है।

एक्टर ने बताया अगर फिल्म इंडस्ट्री खुली होती तो वो इस वक्त किसी न किसी फिल्म में साइड रोल निभा रहे होते।सोलंकी ने बताया कि उन्हें वेटरन एक्टर ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) के साथ अपकमिंग फिल्म में काम करना था ,लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। अचानक लगे लॉक डाउन और ऋषि कपूर के चले जाने से फिलहाल फिल्म अटक गई है।

दिवाकर ने बताया वो रोज सुबह ओखला मंडी जाते हैं, वहां से फल लेते हैं और फिर पूरा दिन सड़कों पर उन्हें बेचते हैं। ये आसान नहीं होता क्योंकि मंडी में लंबी लंबी लाइन लगी होती है। पुलिस का खौफ होता है लेकिन फिर भी दिवाकर ने बताया कि वह खुश है क्योंकि इस वक्त जरूरी यह है कि दो वक्त के खाने का इंतजाम कैसे किया जाए और उनके पास यही साधन है ।

दिवाकर ने कहा ये छोटी-छोटी लड़ाईया ही हमें मजबूत बनाती है। बहरहाल सोलंकी दिवाकर ने सभी को एक प्रेरणादायक संदेश दिया है ,लेकिन बस अब सभी को उम्मीद है कि जल्द ही कोरोना की मार खत्म हो, लॉकडाउन खुल जाए और सभी अपने काम पर वापस लौट सकें।

Related Story