रिया चक्रवर्ती इमोशनल वीडियो बनाने के बजाय बिहार पुलिस के सवालों का जवाब दें - डीजीपी बिहार

By Neetu Aug. 2, 2020, 7:17 p.m. 1k

नम्रता शर्मा - सुशांत सिंह राजपूत(Sushant Singh Rajput) मामले में बिहार पुलिस बारीकी से पूरे मामले की जांच कर रही है लेकिन खबरें यह भी आ रही है कि मुंबई पुलिस बिहार पुलिस का सहयोग नहीं कर रही है। लिहाजा बिहार पुलिस को तमाम दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसीलिए एक बड़ा फैसला लेते हुए पटना के एसपी सिटी विनय तिवारी को मुंबई भेजा गया है ताकि मुंबई पुलिस जांच में सहयोग करने के लिए मजबूर हो।

 इसी बीच बिहार पुलिस के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने मीडिया से बात कीय़ मुंबई पुलिस के रवैए पर डीजीपी ने कहा कि देश के सभी राज्यों की पुलिस हमारे यहां आती है लेकिन किसी ने आज तक शिकायत नहीं की कि बिहार पुलिस ने उनका सहयोग नहीं किया। बाहर से आई पुलिस कि हम हर तरह से मदद करते हैं ऐसे में हम भी उम्मीद करते हैं कि हमें भी वैसा ही सहयोग मिलेगा।

दरअसल हाल ही में बिहार पुलिस को तमाम दिक्कतों का सामना करना पड़ा और यह सब हुआ मुंबई पुलिस के असहयोग की वजह से। सुशांत केस की छानबीन कर रही बिहार पुलिस को मुंबई पुलिस बिल्कुल सहयोग नहीं कर रही है। जांच के लिए ना तो लोकल पुलिस की सहायता और ना ही यातायात के लिए गाड़ी तक मुहैया नहीं कराई गई ।   3 किलोमीटर भारी बारिश में पैदल चल कर  बिहार पुलिस अंकिता के घर पहुंची थी। वापसी के समय  अंकिता ने उन्हें अपनी जगुआर गाड़ी दी । 

इतना ही नहीं सुशांत सिंह राजपूत की पूर्व मैनेजर दिशा सलियन(Disha Salian) मौत मामले की जांच करने के लिए अब बिहार पुलिस ने कमर कसी है। इसी कड़ी में जब बिहार पुलिस संबंधित थाने में पहुंची तो वहां की पुलिस ने दिशा की फाइल डिलीट होने की बात कही। इसको लेकर भी बिहार पुलिस के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने अपनी बात रखी। उन्होंने कहा देश की जनता सब देख रही है। देश के मन में सवाल है, संदेह  है, इसलिए बिहार और मुंबई पुलिस की जिम्मेदारी बनती है कि इसका कुछ संतोषजनक समाधान निकाला जाए। डीजीपी ने यह भी कहा अगर इस केस में कुछ भी गड़बड़ हुई तो कोई कुछ बचा नहीं पाएगा क्योंकि देश की सवा सौ करोड़ की जनता इसे देख रही है। हमें जरूरत है कि मुंबई पुलिस मदद करें। पुलिस सहयोग करेगी तो ही हम इसे अंतिम मुकाम तक ले जाएंगे। डीजीपी ने कई खुलासे किए उन्होंने बताया कि मुंबई पुलिस ने सहयोग का आश्वासन दिया था लेकिन हमें अभी तक कुछ नहीं मिला, कोई रिपोर्ट नहीं मिली, सीसीटीवी फुटेज तक नहीं मिली। इसमें मुंह छुपाने की क्या जरूरत है। आप आगे आइए और हमारी मदद कीजिए। डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने यह भी कहा कि इस मामले को मुंबई पुलिस बनाम बिहार पुलिस ना किया जाए। हम सुशांत सिंह मामले में इंसाफ चाहते हैं और इसीलिए हम बारीकी से पूछताछ कर रहे हैं।

डीजीपी ने रिया चक्रवर्ती के बारे में सवाल पूछे जाने पर कहा अगर वह मिल जाती तो बात ही क्या थी। रिया चक्रवर्ती पर निशाना साधते हुए डीजीपी ने कहा रिया चक्रवर्ती(Rhea Chakraborty) आप ट्वीट करते हो कि सीबीआई जांच हो लेकिन बिहार पुलिस जाती है तो आप छिप जाते हो। यह लुका छुपी का खेल क्यों ? अगर कोई आदमी निर्दोष है तो उसमें नैतिक साहस होना चाहिए और उसे आगे आना चाहिए। डीजीपी ने रिया की वीडियो पर भी सवाल उठाए और कहा कि आपको इमोशनल होने और सत्यमेव जयते की बोलने की जरूरत क्या है ? आप आगे आइये और मदद कीजिए।

डीजीपी के बेबाक बयान से साफ जाहिर हो रहा है कि वह सुशांत के आरोपियों को बख्शने के मूड में कतई नहीं है। मुंबई पुलिस की जांच पर भले ही सवाल उठ रहे हो या फिर मुंबई पुलिस ने इस पूरे मामले में ढिलाई बरती हो लेकिन बिहार पुलिस सुशांत को इंसाफ दिलाने के लिए पुरजोर कोशिश कर रही है

Related Story