बबीता ने बेटियों को हीरोइन बनाने के लिए पति का घर छोड़ दिया था !

By April 20, 2020, 3:19 p.m. 1k

बॉलीवुड एक्ट्रेस बबीता का जन्म 20 अप्रैल 1948 को हुआ था।  वो अपना 73वां जन्मदिन मना रही हैं। बबीता  Babita का जन्म मुम्बई में एक्टर हरि शिवदासानी के यहां हुआ था, जो एक हिन्दू सिंधी परिवार से थे, जो विभाजन के बाद पाकिस्तान से भारत आ गए थे। उनकी माँ ब्रिटिश ईसाई, बारबरा शिवदासानी थी। 

कपूर खानदान में शादी करने के बाद बबीता शिवदासानी, बबीता कपूर हो गईं। Randhir Kappor के साथ पहली फिल्म 'कल आज और कल' की। पहली फिल्म के बाद से ही दोनों को एक दूसरे से प्यार हो गया। रणधीर पंजाबी थे तो वहीं बबीता सिंधी परिवार से ताल्लुक रखती थीं। 

दोनों ने जब शादी के लिए परिवार में बात की तो सभी उनके खिलाफ हो गए। कपूर खानदान की लड़कियां उस वक्त ना तो फिल्मों में काम करती थीं और ना ही किसी एक्ट्रेस से परिवार का सदस्य शादी करता था। बबीता के कहने पर रणधीर कपूर ने पिता राज कपूर से रिश्ते की बात की। राज कपूर अपनी फिल्मों में बबीता को हीरोइन बनाने के लिए तो तैयार थे लेकिन घर की बहू नहीं।

परिवार के खिलाफ होने के बावजूद रणधीर और बबीता का प्यार चलता रहा। बबीता से शादी के लिए रणधीर कपूर ने शर्त रखी कि इसके लिए उन्हें अपना फिल्मी करियर छोड़ना पड़ेगा। प्यार के लिए बबीता ने फिल्मों से दूरी बना ली। दोनों ने साल 1971 में शादी कर ली।

बबीता ने 6 नवंबर 1971 को रणधीर कपूर से शादी की और घर परिवार की जिम्मेदारी संभालने लगी। उनके दो बच्चे हैं, एक्ट्रेस करिश्मा कपूर और करीना कपूर।

रणधीर कपूर बेटियों को फिल्म इंडस्ट्री में लाने के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं थे। बबीता ने अपने दम पर बेटियों को आगे किया और करिश्मा को फिल्मों में लाने की तैयारी करने लगीं।

करिश्मा ने जब बॉलीवुड में कदम रखा तो इसका असर रणधीर और बबीता के रिश्ते पर पड़ा। साल 1988 में बबीता अपनी दोनों बेटियों को लेकर अलग रहने लगीं और उनके करियर पर पूरा ध्यान दिया।

 करिश्मा के बाद करीना कपूर आज हिंदी सिनेमा की टॉप अभिनेत्रियों में से एक है।

 वह और रणधीर कई वर्षों तक अलग-अलग घरों में रहे, भले ही वे कानूनी रूप से शादीशुदा थे और उनका तलाक का कोई इरादा नहीं था। कई सालों तक अलग रहने के बाद 2007 में दोनों एक हो गए।

 वह सिंधी और ब्रिटिश मूल की पूर्व बॉलीवुड एक्ट्रेस हैं, जो बॉलीवुड की फिल्मों में दिखाई दी थीं।

 साथ ही वह अपनी एक्ट्रेस साधना शिवदासानी की चचेरी बहन हैं। 

अपने जमाने की मशहूर फ़िल्म अभिनेत्री बबीता कपूर के चाहने वाले उन्हें सर आंखों पर बिठाते, उनका हर स्टाइल लोगों को दीवाना बना देता। 

उनकी पहली फिल्म सफल रही, दस लाख 1966 थी। लेकिन दूसरी फिल्म में उनके साथ राजेश खन्ना थे। 

ये फिल्म रोमांटिक थ्रिलर राज़ 1967 थी, जिससे उन्होंने पहचान हासिल की। 1966 से 1973 तक, उन्होंने मेन एक्ट्रेस के रूप में उन्नीस फिल्मों में काम किया, जिसमें बॉक्स ऑफिस पर सफल होने वाली फिल्में दस लाख 1966, फर्ज़, हसीना मान जायेगी, किस्मत (दोनों 1968 में), एक श्रीमान एक श्रीमती, डोली, कल आज और कल और बनफूल शामिल हैं।

 उनकी बाद की फिल्म, सोने के हाथ फ्लॉप हो गई और उन्होंने अपना फिल्मी करियर छोड़ने का फैसला किया।

 1971 में, उन्होंने अपने पति रणधीर कपूर के साथ-साथ ससुर राज कपूर और दादा ससुर पृथ्वीराज कपूर के साथ कल आज और कल में एक्टिंग किया।

 इसके अलावा उन्होंने शादी से पहले अपने दोनों चाचा ससुर, शशि कपूर और शम्मी कपूर के साथ भी फिल्में की हैं।

 शशि के साथ हसीना मान जायेगी और शम्मी के साथ तुमसे अच्छा कौन है में काम किया।

Related Story