25 साल के हुए अरमान मलिक, एग्जाम के बीच मिला था बिग बी के साथ गाने का मौका, पहली बार में सलमान हुए थे इम्प्रेस

By Arunima July 22, 2020, 12:09 a.m. 1k

बॉलीवुड सिंगर अरमान मलिक (Armaan Malik) आज अपना 25वां जन्मदिन मना रहे हैं। अरमान मलिक का जन्म 22 जुलाई 1995 को मुंबई में हुआ था। वह एक संगीत वाले परिवार से ताल्लुकात रखतें हैं। वह हिंदी सिनेमा के मशहूर संगीतकार सरदार मलिक के पोते, और अनु मलिक के भतीजे हैं। उनके पिता का नाम डब्बू मलिक है। संगीतमय परिवार होने के कारण उन्हें बचपन से संगीत से बहुत लगाव हो गया था। उन्होंने महज आठ साल की उम्र में ही संगीत सीखना शुरू कर दिया था।  

अरमान आज बॉलीवुड में जाने माने गायक है। अरमान ने अपनी पढ़ाई जमनाबाई नर्सी स्कूल से की पूरी की है। वहीं उन्होंने संगीत की पढ़ाई बर्कली कॉलेज ऑफ म्यूजिक बोस्टन से की है। कहा जाता है कि अरमान की रोने की आवाज सुनकर उनके माता-पापा ने समझ लिया था वो सिंगर ही बनेंगे। चार साल की उम्र में उन्हें इंडियन क्लासिकल म्यूजिक की ट्रेनिंग मिलने लगी। 

इसका नतीजा ये रहा कि जब ‘सा रे गा मा पा लिट्टल चैंप्स’ का पहला एडिशन आया उसमें अरमान ने भाग लिया था। तब उनकी उम्र महज नौ साल की थी। इस शो में वो टॉप 7 तक पहुंचकर बाहर हो गए थे। बचपन में अरमान मलिक अपने स्कूल में बैठकर एग्जाम दे रहे थे। अचानक उनकी टीचर भागती हुई आईं और उन्हें बताया कि उनकी मम्मी बाहर इंतजार कर रही हैं। अरमान जब वहां पहुंचे तो पता चला कि विशाल-शेखर की जोड़ी उनसे एक गाना रिकॉर्ड करवाना चाहती है।

 ये गाना उन्होंने अमिताभ बच्चन के साथ फिल्म ‘भूतनाथ’ के लिए रिकॉर्ड किया था। जब अरमान बड़े हुए तो अपनी डेब्यू अल्बम पर भी काम कर रहे थे। ये अल्बम उन्होंने सलमान खान को सुनाई। सलमान ने वो गाने सुने और इंप्रेस हो गए। अल्बम का एक गाना सलमान ने अपनी फिल्म ‘जय हो’ में ले लिया। ये गाना था ‘तुमको तो आना ही था’।  इस गाने से अरमान का अडल्ट सिंगर  के तौर पर बॉलीवुड डेब्यू हुआ। 

अरमान मलिक को पहचान मैं रहूं या न रहूं गाने से मिली थी। इस यह गाना किसी फिल्म का नहीं था। इसे उनके भाई अमान मलिक ने कम्पोज किया था। गाना हिट हुआ तो अरमान मलिक पॉपुलर हो गए। आज अरमान बॉलीवुड के टॉप सिंगर में से एक हैं।

Related Story