कभी चाय और चूरन बेचा करते थे अन्नू कपूर, बहुत गरीबी में पले बढ़े !

By Neetu Feb. 20, 2020, 4:10 p.m. 1k

अन्नू कपूर ( Annu Kapoor)  बॉलीवुड ( Bollywood) के जाने माने एक्टर हैं। अन्नू कपूर कभी लीड एक्टर के तौर पर नजर नहीं आए लेकिन उन्होंने अपने अभिनय की छाप हमेशा छोड़ी। अन्नू कपूर को उनकी असली पहचान टीवी रियलिटी शो अंताक्षरी से मिली थी। कॉमेडी के तो अन्नू मास्टर है ही साथ में सीरियस किरदार में भी दमदार रहे। 2018 में उनकी फिल्म खानदानी शफाखाना आई थी। अन्नू कपूर अब तक 40 से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके हैं। 

 

 20 जनवरी 1956 को अन्नू कपूर का जन्म मध्यप्रदेश में एक पंजाबी परिवार में हुआ था। उनकी मां बंगाली थीं। अन्नू कपूर के पिता पारसी थिएटर कंपनी चलाते थे। मां क्लासिकल डांसर और स्कूल टीचर थी। 40 रुपये के लिए वो स्कूल में पढ़ाती थीं। अन्नू कपूर एक मीडिल क्लास परिवार से थे। बचपन में उन्होंने बड़ी तंगी की जिंदगी काटी है । उन्हें 10वीं क्लास के बाद पढ़ाई छोड़नी पड़ी थी । परिवार का सहारा बनने के लिए उन्होंने चाय तक बेची। इतना ही नहीं उन्होंने पटाखे और लाटरी टिकट तक बेचे है। चूरन बेचकर भी उन्होंने परिवार की मदद की। 

एक्टिंग का शौक था इसलिए पिता ने उनका दाखिला नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में करवा दिया। 23 साल की उम्र में 70 साल के बूढ़े का रोल किया। उस प्ले को श्याम बेनेगल ने देखा था और वहीं से अन्नू कपूर के लिए बॉलीवुड का रास्ता खुला। 

अन्नू कपूर ने अपने करियर की शुरुआत श्याम बेनेगल की फिल्म 'मंडी' से की थी। उन्होंने अपने 30 साल के अभिनय करियर में कई हिंदी फिल्मों, और टीवी सीरियल्स में काम किया। उन्हें हिंदी फिल्म विक्की डोनर में डा. चड्ढा की बेहतरीन भूमिका अदा करने के लिए उन्हें फिल्मफेयर और नेशनल अवार्ड से भी सम्मानित किया जा चुका हैं। उन्होंने हिंदी फिल्मों के  अलावा कई टीवी शोज में बतौर होस्ट काम किया है। फिलहाल वो 92.7 पर शो सुहाना सफर विद अन्नू सिंह होस्ट कर रहे है।

 

Related Story