कोरोना से जंग के बीच अस्पताल में अकेलापन महसूस कर रहे हैं बिग बी, सोशल मीडिया पर ये लिखा

By Neetu July 27, 2020, 4:07 p.m. 1k

स्वीटी गौर - बॉलीवुड के मेगास्टार अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) करीब दो हफ्तों से नानावटी अस्पताल में भर्ती हैं। दो हफ्ते पहले ही उन्हें, उनके बेटे अभिषेक बच्चन, बहू ऐश्वर्या राय बच्चन और पोती आराध्या के कोरोना वायरस संक्रमित होने का पता चला था। ऐसे में यह सभी अस्पताल में भर्ती अपना इलाज करवा रहे हैं। वहीं अस्पताल में रहते हुए अमिताभ बच्चन को एक बार फिर से अपने पिता और मशहूर लेखक डॉ. हरिवंश राय बच्चन की याद आई है।

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने शनिवार को अपने ब्लॉग में कहा कि इस बीमारी से पैदा हुई मानसिक स्थिति रोगी पर भारी पड़ती है क्योंकि उसे मानवीय संपर्क से दूर रखा जाता है। उन्होंने कहा, ‘‘कोविड-19 मरीज को अस्पताल के अलग वार्ड में रखा जाता है जिससे वह हफ्तों तक दूसरे लोगों को नहीं देख पाता। नर्स और डॉक्टर इलाज के लिए आते हैं और दवाएं देते हैं लेकिन वे हमेशा पीपीई किट्स पहने दिखाई देते हैं.’’

उन्होंने कहा कि किसी भी मरीज को निजी सुरक्षा उपकरण (पीपीई) पहनने वाले का चेहरा नहीं दिखाई देता क्योंकि स्वास्थ्य देखभाल कर्मी अत्यधिक एहतियात बरतते हैं और इलाज करके चले जाते हैं। बिग बी ने आगे कहा, ‘‘क्योंकि लंबे वक्त तक रुकने से संक्रमित होने का डर रहता है। जिस डॉक्टर के मार्गदर्शन में आपका इलाज चल रहा होता है वह कभी आपके पास नहीं आता।’’

उन्होंने कहा कि संवाद वर्चुअल है जो मौजूदा हालात को देखते हुए सबसे अच्छा तरीका है। अपने स्वास्थ्य के बारे में सोशल मीडिया पर प्रशंसकों को अक्सर जानकारी देने वाले अभिनेता ने कहा कि कोविड-19 से संक्रमित होने का ठप्पा ऐसा है जिससे किसी मरीज को आइसोलेसन खत्म होने के बाद भी जूझना पड़ सकता है।

अमिताभ ने कहा, ‘‘क्या इसका मानसिक रूप से मनोवैज्ञानिक असर पड़ता है? मनोवैज्ञानिकों का कहना है कि पड़ता है। आइसोलेशन की अवधि खत्म होने के बाद मरीजों को गुस्सा आता है, उन्हें पेशेवर मनोवैज्ञानिकों से बातचीत करने की सलाह दी जाती है। उन्हें जनता के बीच जाने में डर या आशंका होती है कि उनसे अलग तरह से व्यवहार किया जाएगा। ऐसे व्यक्ति के तौर पर व्यवहार किया जाएगा जिसे यह बीमारी हुई। इससे वे और अधिक तनाव तथा अकेलेपन में चले जाएंगे।’’

अपनी खुद के हालातद के बारे में बताते हुए अमिताभ ने लिखा कि - वह अकेलेपन में अपने आप का मनोरंजन करने के लिए गाना गाते हैं। दिग्गज अभिनेता ने कहा, ‘‘रात के अंधेरे और ठंडे कमरे में कंपकंपी के बीच मैं गाना गाता हूं...सोने की कोशिश में आंखें बंद करता हूं...आसपास कोई भी नहीं होता।’’ 

Related Story