PICS - 73 साल की हुईं मुमताज, परिवार के साथ लंदन में रहती हैं

By Neetu July 31, 2020, 1:29 p.m. 1k

पूजा राजपूत - गुज़रे जमाने की बोल्ड और खूबसूरत अभिनेत्रियों का नाम लिया जाए, तो इस लिस्ट में मशहूर अदाकारा ‘मुमताज़’ का नाम भी शुमार होता है। 60 और 70 के दशक में मुमताज़ को इंडस्ट्री की चुनिंदा वर्सेटाइल अभिनेत्रियों में से एक माना जाता था। मुमताज़ 73 साल की हो गई हैं। 26 साल की उम्र में NRI बिजनेसमैन मयूर माधवानी के साथ शादी करने के बाद मुमताज़ ने फिल्म इंडस्ट्री को हमेशा के लिए छोड़ दिया था, और पति के साथ विदेश में जा बसी थीं।

 मुमताज़ अपने परिवार के साथ अब लंदन में रहती हैं। वह ग्लोबल सिटिजन हैं, उनके पास भारतीय और ब्रिटिश नागरिकता है। मुमताज़ का जन्म 31 जुलाई 1947 को हुआ था। 

फिल्म इंडस्ट्री छोड़े मुमताज़ को 43 साल का वक्त बीत चुका है, लेकिन आज भी उन्हें उनके फैंस उनके चुलबुले और ग्लैमरेस अंदाज़ के लिए याद करते हैं। मुमताज़ को अपने स्टारडम के दौर में ‘डिवा’ और ‘सेक्स सिंबल’ के तौर पर देखा जाता था। 

यूं तो मुमताज़ ने अपने एक्टिंग करियर की शुरूआत बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट 1958 में आई फिल्म ‘सोने की चिड़िया’ से की थी। जिसके बाद उन्होने 60 के दशक के शुरूआत दौर में बतौर एक्सट्रा आर्टिस्ट कई फिल्मों में काम किया। मुमताज़ ने बतौर लीड हिरोइन दारा सिंह के 16 फिल्मों में काम किया । जिनमें ‘फौलाद ’, ‘वीर भीमसेन ’ , ‘टारजन  कम्स टू देहली’, ‘सिकंदर ए आजम’, ‘रूस्तम ए हिंद ’ और ‘डाकू मंगल सिंह’ जैसी फिल्में शामिल हैं। 

अपनी फिल्मों के लिए मुमताज़ उस वक्त ढ़ाई लाख(250,000) रूपये फीस लेती थीं। इन फिल्मों के बाद मुमताज़ की पहचान इंडस्ट्री में स्टंट फिल्म हिरोइन की बन गई।

लेकिन मुमताज़ को तो अपनी यह पहचान तोड़ने थी, उन्हें सिल्वर स्क्रीन पर चमकदार सितारा बनकर छाना था। जिसमें उनकी मदद की राज खोसला की ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘दो रास्ते’ ने। 

1969 में रिलीज़ हुई ‘दो रास्ते’ ने मुमताज़ को स्टार बना दिया, हांलाकि इस फिल्म में मुमताज़ का रोल काफी छोटा था। यह फिल्म आज भी मुमताज़ की फेवरेट फिल्मस में से एक है। ‘दो रास्ते’ के बाद इंडस्ट्री में मुमताज़ की इमेज रातों रात बदल गई। 

शशि कपूर जैसे अभिनेता जो पहले मुमताज़ के साथ फिल्म नहीं करना चाहते थे, वह भी अपने निर्देशक पर जोर देखर मुमताज़ को अपनी फिल्मों में बतौर हिरोइन साइन करवाने लगे। 

मुमताज़ ने पहला फिल्म फिल्मफेयर अवॉर्ड 1970 में आई फिल्म ‘खिलौना’ के लिए जीता। जिसके बाद उन्होने ‘मेला’, ‘अपराध’, ‘नागिन’ जैसी सुपहरिट फिल्मों में काम किया। 

राजेश खन्ना के साथ मुमताज़ की जोड़ी सबसे ज्यादा पसंद की गई । दोनों ने 10 फिल्मों में जोड़ी जमाई थी।

शम्मी कपूर तक मुमताज़ की खूबसूरती से बच नहीं पाए थे। मुमताज़ जब 18 वर्ष की थीं तब ही उन्हें शम्मी कपूर ने शादी के लिए प्रपोज़ किया था, लेकिन मुमताज़ उस बॉलीवुड नहीं छोड़ना चाहती थी, इसलिए उन्होने यह प्रपोज़ल ठुकरा दिया था।

26 साल की उम्र में 1974 में मुमताज़ ने युगांडा के मशहूर बिजनेसमैन मयूर माधवानी से शादी की। 

शादी के बाद मुमताज़ ने फिल्मों में काम करना कम कर दिया। 1977 में मुमताज़ ने फिल्म ‘आईना’ के रिलीज़ होने के बाद फिल्मों को अलविदा कह दिया । और अपने परिवार की जिम्मेदारियों में बिज़ी हो गईं। हांलाकि 1990 में मुमातज़ ने आंधियां फिल्म से कमबैक किया, लेकिन उनका यह कमबैक फ्लॉप ही रहा। मुमताज़ के परिवार की बात करें तो, मुमताज़ और मयूर माधवानी की दो बेटियां हैं। नताशा माधवानी और तान्या माधवानी।

मुमताज़ की बेटी नताशा माधवानी की शादी बॉलीवुड अभिनेता फरदीन खान के साथ 14 दिस्मबर 2005 को हुई थी।

 मुमताज़ की छोटी बेटी तान्या माधवानी भी शादीशुदा हैं। वह अपने पिता के साथ उनके कारोबार में ही हाथ बंटाती हैं। अपने खुशहाल परिवार में मुमताज़ भी बेहद खुश हैं।

Related Story