2014 में चांद पर जाने की प्लानिंग कर रहे थे सुशांत, नासा के मून मिशन में होना चाहते थे शामिल !

By Neetu July 14, 2020, 3:09 p.m. 1k

नम्रता शर्मा - सुशांत सिंह राजपूत(Distant Singh Rajput) अब हमारे बीच नहीं है लेकिन रोजाना उनसे जुड़ी ख़बरें सामने आ रही हैं। सुशांत से जुड़े राज, उनके सपने,उनकी यादें हर किसी को अभी भी एहसास करा रहे हैं कि सुशांत कहीं नहीं गए बल्कि हमारे बीच ही हैं। हाल ही में सुशांत से जुड़ी एक बेहद दिलचस्प खबर सामने आई। क्या आप जानते हैं सुशांत सिंह राजपूत चांद पर जाना चाहते थे? वो साल 2024 में नासा मून मिशन में शामिल होना चाहते थे।

हमेशा स्पेस,गैलेक्सी,तारे, सितारे इन सब में दिलचस्पी रखने वाले सुशांत सिंह राजपूत आज खुद एक सितारा बन चुके हैं। सुशांत सिंह राजपूत के सपने बहुत बड़े थे और इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया था कि कुछ साल पहले उन्होंने नासा के साथ वर्कशॉप की थी। 

सुशांत ने कहा था- मैंने 2 साल पहले नासा के साथ काम किया था, जिन्होंने मुझे ट्रेन किया था वो मुझसे कहते थे कि मैं कुछ और हफ्तों के लिए कंटिन्यू कर सकता हूं। मुझे वहां पर इंस्ट्रक्टर का सर्टिफिकेट भी मिला था। अब मैं सोच रहा हूं कि अपनी ट्रेनिंग(Training) पूरी करने के लिए हॉस्टन चला जाऊं। वहां पर वो स्पेस से जुड़ी सारी चीजें बताते हैं ।

सुशांत ने इस इंटरव्यू में ये भी बताया था कि उन्होंने चांद पर एक प्लॉट भी खरीदा हुआ है। 2018 में उन्होंने इस प्लॉट को खरीदा था। सुशांत ने कहा था नासा 2024 में कुछ एस्ट्रोनॉट्स को चांद पर भेजेगा मैं भी अपने आप को चांद पर ले जाना चाहता हूं जिसके लिए मैं पूरी तैयारियां कर लूंगा बाकी मेरी किस्मत रही कि मैं वहां जा पाता हूं या नहीं।

इतने बड़े सपने देखने वाले सुशांत सिंह राजपूत ने एक झटके में अपनी जिंदगी को कैसे खत्म कर लिया, ये कोई हजम नहीं कर पा रहा है। लिहाजा सोशल मीडिया पर सुशांत आत्महत्या मामले को सीबीआई को सौंपने की कवायद लगातार जारी है।

आपको बता दें बॉलीवुड का ही चमकता सितारा हमेशा हमेशा के लिए 14 जून को अंधेरे के गाल में समा गया था। बता दे सुशांत के घर में एक बड़ा सा टेलिस्कोप था जिसे वो टाइम मशीन कहा करते थे। सुशांत के मुताबिक इससे वह अलग-अलग ग्रहों और गैलेक्सी को घर बैठे ही देखा करते थे।

इस बात का जिक्र भूमि पेडनेकर(Bhumi Pednekar)ने भी किया था। उन्होंने सुशांत को श्रद्धांजलि देते हुए बताया था कि कैसे सुशांत उनको टेलिस्कोप से घर बैठे ही चांद सितारे और अलग-अलग ग्रहों को देखने के लिए कहा करते थे।

सुशांत ने चांद पर जमीन भी खरीद रखी है। सुशांत का ये प्लॉट सी ऑफ मस्कोवी में है। अपने प्लॉट पर नजर रखने के लिए सुशांत ने ये दूरबीन खरीदी थी। उनके पास एडवांस टेलीस्कोप था। सुशांत ने इस जमीन को इंटरनेशनल लूनर लैंड रजिस्ट्री से खरीदा था। 

25 जून 2018 को ये प्रॉपर्टी सुशांत ने अपने नाम कर आई थी हालांकि इसमें भी कई अंतरराष्ट्रीय संधि है जिसके मुताबिक इसे कानूनी तौर पर मालिकाना हक नहीं माना जा सकता क्योंकि पृथ्वी के बाहर की दुनिया मानव जाति की धरोहर है और इस पर किसी एक देश का कब्जा नहीं हो सकता।

सुशांत ऐसे पहले एक्टर थे जिन्होंने चांद पर जमीन खरीदी थी। बहरहाल फिलहाल सुशांत हमारे बीच नहीं है। सुशांत को गुजरे हुए आज एक महीना हो गया है लिहाजा देश-विदेश में उनको श्रद्धांजलि अर्पित की जा रही है। दीया और मोमबत्ती जलाकर सुशांत के लिए प्रार्थना की जा रही है।

Related Story