अध्ययन सुमन ने सुनाई आपबीती, नेपोटिज्म के कारण छीन ली गई थी 14 फिल्में !

By Neetu July 10, 2020, 12:45 p.m. 1k

नम्रता शर्मा  -  सुशांत सिंह राजपूत के जाने के बाद से ही बॉलीवुड में नेपोटिज्म और फेवरेटिज्म का मुद्दा लगातार गरमाया हुआ है। कई ऐसे कलाकार हैं जो आगे आकर अपने साथ हुए भेदभाव की बात को कबूल कर रहे हैं। बॉलीवुड एक्टर और शेखर सुमन(Shekhar Suman) के बेटे अध्ययन सुमन ने भी अपने साथ हुए इसी भेदभाव की कहानी को सभी के सामने रखा। अध्ययन ने बताया कि उनसे एक एक कर 14 फिल्में छीन ली गई थी। यही नहीं 9 साल तक उनसे किसी ने बात नहीं की थी।

अध्ययन सुमन(Adhyayan Suman) ने कहा स्टार किड पर भी प्रेशर होता है खुद को साबित करने का, अच्छा काम करने का। उनका भी अपना स्ट्रगल होता है। बॉलीवुड में मूवी माफिया चलता है। हमारे देश में बहुत ही टिपिकल सोच है। हर कोई एक ही चीज के पीछे भागता है बिना उसका सही और असली मतलब समझे। नेपोटिज्म हर जगह है मुझे समझ नहीं आ रहा सिर्फ फिल्म इंडस्ट्री की ही बात क्यों हो रही है।

आपको बता दें इससे पहले शेखर सुमन भी अपने बेटे अध्ययन के डिप्रेशन की खबर कबूल कर चुके हैं। एक इंटरव्यू में शेखर ने कहा था- सुशांत उनके बेटे की तरह था मैं उसके पिता का दर्द महसूस कर सकता हूं क्योंकि उसी की तरह मेरा बेटा अध्ययन भी डिप्रेशन में था और उसी अवस्था से गुजर चुका है। फिल्म इंडस्ट्री ने उसके लिए कई बाधाएं खड़ी की। एक बार उसने मुझसे कहा कि उसके दिमाग में आत्महत्या करने का विचार आ रहा है। उन्होंने कहा कि कहीं बेटा गलत कदम ना उठा ले इसी वजह से वो अपने बेटे को आज भी अकेला नहीं छोड़ते हैं।

शेखर सुमन ने ये भी कहा कि बॉलीवुड में नेपोटिज्म(Nepotism) का खेल है। कुनबा परस्ती को उन सब लोगों ने बनाया है जिनके पास पैसा है, नाम है। जिनकी फ़िल्में आम लोग देखते हैं। जो मुकाम पर पहुंच चुके हैं ऐसे चंद लोग आपस में मिले हुए हैं।

अध्ययन को दो तीन फिल्मों के बाद तकरीबन 14 फिल्में ऑफर की गई लेकिन कोई ना कोई बहाना बनाकर उन फिल्मों से हटा दिया गया। इस तरह से अध्ययन को दो-तीन साल खाली रखा गया। कोई फ़िल्म अध्ययन नहीं कर पाया , फिर इंप्रेशन ये बन गया प्रोड्यूसर के बीच की उसमें कोई कमी है, तभी उनके हाथ में फिल्म नहीं है। शेखर सुमन और उनके बेटे अध्ययन सुमन के इन बयानों से यह साफ तौर पर जाहिर हो रहा है कि बॉलीवुड के अंदर ना सिर्फ आउटसाइडर बल्कि इनसाइडर को भी कई बार काफी कुछ झेलना पड़ता है। 

बहरहाल इन सबके बीच आपको बता दें शेखर सुमन सुशांत सिंह राजपूत(Sushant Singh Rajput) को इंसाफ दिलाने की लगातार मांग कर रही है वह इस पूरे मामले को सीबीआई को सौंपने की गुहार लगा रहे हैं।

Related Story