महाराष्ट्र के एक गांव ने किया इरफान को सलाम, एक्टर की याद में बदला गांव का नाम !

By Neetu May 12, 2020, 12:55 p.m. 1k

नम्रता शर्मा- बॉलीवुड के वर्सेटाइल एक्टर इरफान खान (Irrfan Khan) अब हमारे बीच नहीं है। इरफान को प्यार करने वाले देश और दुनिया भर में है। अब महाराष्ट्र(Maharashtra) के नासिक में गांव इगतपूरी के पास लोगों ने पत्राच्‍या वाड़ा  गांव का नाम 'हीरो ची वाड़ी' रख दिया है । हीरो ची वाड़ी का मतलब होता है एक्टर का पड़ोसी। गांव का नाम वहां के लोगों ने  इरफान की याद में बदला है।  त्रिलंगवाड़ी फोर्ट के पास स्थित  पत्राच्‍या वाड़ा नाम के इस गांव से इरफान खान की जिंदगी की कई खूबसूरत यादें जुड़ी हुई हैं। इरफान का गांव में फार्म हाऊस है। वोअकसर यहां परिवार के साथ आते रहे हैं।  खास बात यह थी कि इरफान इस गांव के लिए काफी काम करते थे। गांव के लोगों की हर जरूरत का ध्यान रखते थे बच्चों की कॉपी किताबों से लेकर हर तरह की जरूरत को पूरा करते थे। इसीलिए उनको गांव वालों ने ट्रिब्यूट दिया है।

पत्राच्‍या वाड़ा गांव के लगभग 1000 बच्चों की पढ़ाई का पूरा जिम्मा इरफान ने लिया हुआ था। बच्चों को खाने-पीने, पेन, पेंसिल, रेनकोट से लेकर कंप्यूटर तक की सुविधा इरफान ने प्रोवाइड कराई हुई थी। इतना ही नहीं रिपोर्ट की मानें तो इरफान गांव में मेडिकल सर्विसेज भी मुहैया कराया करते थे। लोकल स्कूल में इरफान फंड दिया करते थे। अक्सर वहां जाकर गांव के लोगों का हाल-चाल भी लिया करते थे ।

हालांकि जब से इरफान कैंसर से डायग्नोज्ड(Diagnosed) हुए थे ,गांव वाले उनके दीदार को तरस गए थे । बीमार होने के बाद भी इरफान गांव वालों के लिए मदद भिजवाते रहें। 

इरफान खान के निधन से उनके परिवार के लोग तो गमगीन हैं ही उनके तमाम फैंस को भी बड़ा झटका लगा है। इरफान खान के निधन से इगतपुरी के पत्राच्‍या वाड़ा में लोग दुखी हैं। उन्हें इस बात का गम है कि वो अपने उस मददगार पड़ोसी को अब कभी नहीं देख पाएंगे। 

Related Story