जानिए फिल्म SATYA ने कैसे बदल कर रख दी थी MANOJ BAJPAYEE की जिंदगी !

By Neetu July 3, 2020, 10:12 p.m. 1k

अदिति त्यागी -  3 जुलाई 1998 को बॉलीवुड (Bollywood) निर्देशक राम गोपाल वर्मा की फिल्म 'सत्या'(Satya) बड़े पर्दे पर रिलीज हुई थी। राम गोपाल वर्मा ने ये फिल्म साउथ के हीरो चक्रवर्ती के लिए बनाई थी लेकिन फिल्म के हीरो बन गए मनोज बाजपेयी। इस फिल्म को सिर्फ और सिर्फ मनोज बाजपेयी के लिए याद किया जाता है। फिल्म में उर्मिला मतोंडकर भी लीड रोल में थी  लेकिन सत्या मनोज बाजपेयी की फिल्म बन गई। इसकी वजह थी उनकी डायलॉग डिलीवरी और धांसू एक्टिंग। 'सत्या' में मनोज बाजपेयी(Manoj Bajpayee) ने  गैंगस्टर भीखू म्हात्रे की भूमिका निभाई थी। इस फिल्म  ने मनोज बाजपेयी के फ़िल्मी करियर को पूरी तरह बदल दिया था। आज से ठीक 22 साल(22 Years) पहले यह फिल्म ब्लॉकबस्टर साबित हुई थी। लेकिन क्या आप जानते हैं  कि सत्या फिल्म को पहले फ्लॉप घोष‍ित कर दिया गया था लेकिन किस्मत का सिक्का ऐसा पलटा कि यह फिल्म सुपरहिट तो साबित हुई । इस फिल्म से मनोज बाजपेयी को भी बॉलीवुड में एक अलग पहचान मिल गयी थी।

सत्या में काम करने के बाद मानो मनोज की जिंदगी का रुख ही बदल गया था। सत्या फिल्म ने ढेरो अवार्ड्स भी अपने नाम किये , सत्या ने 6 फिल्मफेयर अवॉर्ड और एक नेशनल अवॉर्ड जीता था। मनोज बाजपेयी की इस फिल्म ने उस वक्त 15 करोड़ से भी ज्यादा की कमाई बॉक्स ऑफिस पर की थी। सत्या के आने के बाद सत्या 2, कंपनी और डी जैसी कई फिल्में बनाई गयीं थी।   

फिल्म के 22 साल पूरे होने पर मनोज ने फिल्म से जुडी कुछ यादें शेयर की हैं , मनोज ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर 2 फोटोज शेयर की हैं और कैप्शन में लिखा है कि और फिर मेरी ज़िन्दगी बदल गयी। 3 जुलाई 1998 को नहीं भूल सकते , इस फिल्म को एक फ्लॉप घोषित किया गया था और देखते ही देखते यह फिल्म हिट होकर सबके सामने आयी , यह 25 सप्ताह तक सबसे बड़ी हिट रही .. और .. सत्या !! 

मनोज बाजपेयी ने 1994 में द्रोहकाल से अपना बॉलीवुड में डेब्यू किया था। इस फिल्म में  केवल एक मिनट के लिए उन्हें स्क्रीन पर आने का मौका दिया गया था। लेकिन साल 1998 मनोज के करियर के लिए  लिए नई उड़ान लाया ,1998 में सत्या में जब मनोज बाजपेयी को भीकू महात्रे जैसा अच्छा किरदार मिला तो दर्शकों की लाइन लग फिल्म को देखने के लिए लग गई थी। मनोज की एक्ट‍िंग को देखकर लोगों खूब खुश हुए थे। यह फिल्म  मनोज के कर‍ियर का टर्न‍िंग प्वॉइंट बन गयी थी।

Related Story