बॉलीवुड स्टार्स पर नाराज हुईं कंगना , कहा- जब साधुओं की लिंचिंग हुई थी तब कहां थे ?

By Neetu June 3, 2020, 5:44 p.m. 1k

जॉर्ज फ्लॉयड अमेरिकी पुलिस के जुल्म का शिकार हुए और उनकी जान चली गई। अमेरिकी पुलिस के अत्याचार के बाद अमेरिका जल रहा है। वहां लोग सड़कों पर उतर आए हैं। दुनिया भर में अमेरिकी पुलिस की बर्बरता का विरोध हो रहा है। बॉलीवुड भी लगातार जॉर्ज फ्लॉयड के लिए इंसाफ की मांग कर रहा है। मंगलवार को ब्लैकआउट ट्यूसडे  (Blackout Tuesday) मनाया और जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की हत्या के लिए इंसाफ मांगा। प्रियंका चोपड़ा, लारा दत्ता, दिया मिर्जा,  करिश्मा समेत कई स्टार्स ने ब्लैक ट्यूजडे मनाया। सभी सितारों सोशल मीडिया पर एक काली इमेज शेयर की और  ब्लैकआउट ट्यूसडे को सपोर्ट किया। 

बहुत सारे सिलेब्रिटीज ने सोशल मीडिया पर फ्लॉयड की हत्या पर नाराजगी जताई है, और उन्होंने ब्लैकआउट ट्यूसडे में हिस्सा लिया। इसी दौरान कंगना रनौत ने इन सितारों की मुहिम पर सवाल उठाया है। कंगना 

कंगना रनौत (kangana Ranaut) अपनी नायाब एक्टिंग के साथ - साथ बेबाकी से अपनी बात रखने के लिए भी जानी जाती हैं। कोई भी मुद्दा हो कंगना उस पर खुलकर अपनी राय रखती हैं।  इसी को लेकर बॉलीवुड की 'क्वीन' कंगना रनोट ने बॉलीवुड सेलेब्स से ये सवाल किया है कि जब कुछ वक्त पहले पालघर में साधुओं की लिंचिंग हुई थी तब उस वक्त ये सेलिब्रिटीज कहां थे और चुप क्यों थे?

कंगना ने कहा है, ‘कुछ हफ्ते पहले साधुओं के साथ मॉब लिंचिंग हुई थी। एक साधु को पीट पीटकर मार डाला था, तब सेलेब्स ने इस पर एक शब्द नहीं बोला था। जबकि ये तो महाराष्ट्र में ही हुआ था जहां ज्यादातर सेलेब्स रहते हैं। बॉलीवुड सेलेब्स फेम के लिए सिर्फ बहती गंगा में हाथ थोते हैं'। कंगना ने आगे कहा कि ,''यह शर्म की बात है कि बॉलीवुड के कुछ लोग हॉलीवुड की नकल करने लगते हैं ताकि उन्हें 2 मिनट के लिए फेमस होने का मौका मिल जाए। यहां के लोगों के अंदर आजादी से पहले की गुलामी भरी हुई है । इसलिए वो आज भी सिर्फ व्हाइट लोगों को ही सपोर्ट करते है।''  2 महीने पहले ही पालघर में दो साधुओं को भीड़ ने पीट-पीट कर मार दिया था। इस घटना पर पूरे देश में बवाल हुआ था । कंगना का मानना है कि साधुओं की हत्या पर बॉलीवुड ने चुप्पी साध ली थी लेकिन अमेरिका के जॉर्ज फ्लॉयड के लिए सब मुहिम छेड़ रहे हैं।  

कंगना ने ये भी कहा कि, ‘पर्यावरण के मुद्दों पर भी सेलेब्स सिर्फ व्हाइट लोगों को ही सपोर्ट करते हैं। जबकि हमारे देश में ऐसे बहुत से लोग हैं जो कि पर्यावरण के लिए बहुत ही अच्छा काम कर रहे हैं वो भी बिना किसी के सपोर्ट के। जिसके लिए उनमें से कुछ को तो पद्मश्री अवॉर्ड से नवाज़ा जा चुका है। मैं ऐसे लोगों की स्टोरी पढ़कर हैरान रह गई थी। लेकिन ऐसे लोगों को बॉलिवुडइंडस्ट्री से कोई सपोर्ट नहीं करता। क्योंकि उनको लगता है कि साधु और आदिवासी लोग उनकी फैंस लिस्ट के लिए ज्यादा अच्छे नहीं हैं इसलिए वो उनकी ओर ध्यान ही नहीं देते है।'

Related Story