आमिर के साथ काम कर चुके JAVED HAIDER आज सब्जी बेचने को मजबूर हैं, कोरोना काल में नहीं मिल रहा काम !

By Neetu June 29, 2020, 3:42 p.m. 1k

पूजा राजपूत – कोरोनावायरस(Coronavirus) काल देश में भारी आर्थिक संकट लेकर आया है। लॉकडाउन(lockdown) के दौर में करोड़ों लोग अपनी नौकरी गवां चुके हैं। फिल्म इंडस्ट्री के हालात भी इससे जुदा नही हैं। कोविड-19(Covid-19) वायरस के बढ़ते सक्रमण को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने 19 मार्च को ही सभी तरह की शुटिंग्स पर रोक लगा दी थी, जिसके बाद से ही एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री  से जुड़ा हर शख्स घर बैठने के लिए मजबूर हो गया था। बड़े सेलेब्स तो इस देशबंदी में फिर भी सर्वाइव कर रहे हैं, लेकिन इंडस्ट्री में काम करने वाले कई ऐसे लोग है, जिन्हें बेरोज़गारी के दौर में अपने परिवार को चलाने के लिए सब्जी बेचने या फल बेचने का काम करना पड़ा रहा है। इन्हीं में से एक हैं, जावेद हैदर(Javed Haider)। जावेद हैदर ने 22 साल पहले रिलीज़ हुई फिल्म ‘गुलाम’ में आमिर खान और रानी मुखर्जी के साथ काम किया था लेकिन आज हालात कुछ ऐसे बन गए हैं कि वह मुंबई की सड़कों पर सब्जी बेचने को मजबूर हैं।

हाल ही में एक्ट्रेस डॉली बिन्द्रा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर जावेद का वीडियो शेयर किया था। जिसमें वह सब्जी बेच रहे हैं। ये एक टिकटॉप वीडियो है जिसमें जावेद फिल्म गाने ‘दुनिया में आए हैं तो काम कर प्यारे’ पर सब्जी बेचते दिख रहे हैं।

इसके साथ ही डॉली बिंद्रा ने पोस्ट में लिखा है “ये एक एक्टर जो आज सब्जी बेच रहा है। इंडिया में पैदा हुआ जावेद हैदर भारतीय अभिनेता है, जो फिल्म फिल्म बाबर(2009), और टीवी सीरिज जीनी और जूजू(2012) में काम कर चुका है। उनकी फिल्मों में 2017 में रिलीज़ हुई ड्रामा फिल्म ‘लाइफ की ऐसी की तैसी’ भी शामिल है।और आज हालात ऐसे आ चुके हैं कि वह सब्जी बेच रहे हैं।

जावेद हैदर ने अपने करियर की शुरुआत बाल कलाकार के तौर पर फिल्म 'बाप नंबरी बेटा दस नंबरी' से की थी। इसमें उन्होंने कादर खान के बेटे का रोल किया था। जावेद ने सूरमा भोपाली, खुदगर्ज, चांदनी बार, जैसी फिल्मों में भी काम किया है। वैसे सिर्फ जावेद हैदर ही ऐसे कलाकार नहीं है, जो लॉकडाउन की मार के चलते भारी आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं। और गली-गली सब्जी बेचने को मजबूर हैं। 

कुछ ऐसे ही हालात अभिनेता सोलंकी दिवाकर(Solanki Divakar) के भी हैं। सोलंकी दिवाकर दिल्ली की सड़कों पर फल बेचने को मजबूर हैं।  वह फिल्म 'ड्रीमगर्ल' और 'सोनचिड़िया'  जैसी फिल्मों में काम कर चुके हैं। सोलंकी दिवाकर ने एक इंटरव्यू में कहा था कि “लॉकडाउन के चलते फिल्मों की शूटिंग ठप हो गई है। मुझे मकान का किराया देना है और अपने परिवार का पेट भरना है। इसलिए मैं दिल्ली की सड़कों पर फल बेचकर किसी तरह बच्चों का पेट भर रहा हूं”।

आपको बता दें कि सोलंकी दिवाकर आगरा के पास एक छोटे से कस्बे के रहने वाले हैं। वो 1995 में दिल्ली शिफ्ट हो गए थे। इसके बाद वो यहां फल बेचने का काम करने लगे थे। कुछ दिनों तक स्ट्रगल के बाद उन्हें थिएटर और फिल्मों में छोटे-मोटे रोल मिलने लगे थे। 

और अब लॉकडाउन के चलते वो अपना पुराना काम फिर से करने के लिए (Rajesh Karir) ने भी एक इमोशनल वीडियो शेयर कर मदद की गुहार लगाई थी। उनका वीडियो वायरल होते ही राजेश को आर्थिक मदद मिल भी गई थी। बेगुसारय सीरियल में उनके साथ काम कर चुकी अभिनेत्री शिवांगी जोशी ने उन्हें आर्थिक मदद दी थी। इसके साथ ही प्रवासी मजदूरों के मसीहा सोनू सूद ने भी उनकी मदद की थी।

Related Story