सुशांत आत्महत्या मामले की होगी सीबीआई जांच ? अमित शाह ने संबंधित विभाग को कार्रवाई के निर्देश दिए

By Neetu July 16, 2020, noon 1k

नम्रता शर्मा -  सुशांत सिंह राजपूत(Sushant Singh Rajput) आत्महत्या मामले की गुत्थी दिन पर दिन सुलझने के बजाय उलझती जा रही है। मुंबई पुलिस से एक सुसाइड केस मानकर जांच कर रही है जबकि तमाम दिग्गज हस्तियों के साथ-साथ सुशांत के शुभचिंतक भी आगे आकर इसे आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या बता रहे हैं। इस मामले को सीबीआई को सौंपने की कवायद लगातार जारी है। इसी बीच खबर आ रही है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस मामले को सीबीआई को सौंपने के लिए संबंधित विभाग को कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

दरअसल बिहार के पूर्व सांसद पप्पू यादव ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को एक पत्र लिखा था। खबर है कि उस पत्र के आधार पर अमित शाह ने जांच को आगे बढ़ाने के लिए संबंधित विभाग को आदेश दिए हैं। मंगलवार को बिहार के पूर्व सांसद पप्पू यादव ने ट्विटर पर इस बात की जानकारी दी कि उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह को एक पत्र लिखा था। उस पत्र के आधार पर अमित शाह(Amit Shah) ने सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले को सीबीआई को सौंपने के लिए पहल की है।

पप्पू यादव(Pappu Yadav)ने अपने ट्वीट में लिखा था - अमित शाह जी आप चाहे तो एक मिनट में सुशांत मामले की सीबीआई जांच हो सकती है। इसे टालें नहीं। बिहार के गौरव फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत जी कि संदिग्ध मृत्यु की सीबीआई जांच के लिए केंद्रीय गृह मंत्री जी को पत्र लिखकर आग्रह किया गया था, उन्होंने कार्रवाई के लिए पत्र अग्रसारित कर दिया है।

आपको बता दें सोशल मीडिया पर सुशांत आत्महत्या मामले को सीबीआई को सौंपने की मांग उठ रही है। पूर्व केंद्रीय मंत्री सुब्रमण्यम स्वामी जी इसी मामले को गंभीरता से ले रहे हैं। सुब्रमण्यम स्वामी ने एक वकील नियुक्त किया है। यह वकील इस मामले को सीबीआई को सौंपने के लिए जो भी जरूरी प्रोसीजर होगा उसे पूरा कर रहा है। हाल ही में सुब्रमण्यम स्वामी(Subramanian Swamy) के द्वारा नियुक्त किए गए वकील ने प्रधानमंत्री मोदी को खत भी लिखा है।

14 जून को बांद्रा स्थित अपने फ्लैट में फांसी लगाकर आत्महत्या करने वाले सुशांत सिंह राजपूत के इतने बड़े कदम का कारण अभी तक नहीं हुआ है। मुंबई पुलिस अभी तक लगभग 35 से ज्यादा लोगों से पूछताछ कर चुकी है। खबरे आ रही है कि मुंबई पुलिस जल्द ही किसी निष्कर्ष पर निकल कर इस मामले की फाइल को बंद भी कर सकती है।

Related Story