फ्री में फिल्म देखने के लिए हो जाइए तैयार ! शुरू हुआ थियेटर्स की सीटों को साफ करने का काम !

By Neetu June 10, 2020, 8:52 p.m. 1k

नम्रता शर्मा -  देश भर में तेजी से फैल रहे कोरोना(Covid 19)मामलों को देखते हुए 14 मार्च से थियेटर्स बंद करने का ऐलान कर दिया गया था। थिएटर्स में आखिरी रिलीज होने वाली हिंदी फिल्म इरफान खान स्टारर अंग्रेजी मीडियम(Angrezi Medium) थी जो 13 मार्च को ही रिलीज हुई थी। ढाई महीने के लॉक डाउन के बाद अनलॉक फेज वन शुरू हो चुका है, जिसके तहत कुछ रियायतें दी जा रही है और फेज़ 2 और फेज़ 3 में कई पब्लिक प्लेसिस को खोलने की बात भी सरकार की तरफ से कही गई है। ऐसे में माना जा रहा है थिएटर भी जल्द खुलने वाले हैं ,इसलिए थिएटर के मालिकों ने मल्टीप्लेक्स में सीटों को साफ करने का काम शुरू कर दिया है।

15 जून से टीवी और फिल्मों के शूट शुरू होने की मंजूरी महाराष्ट्र सरकार से मिल चुकी है। ऐसे में अब कई फिल्मों का बचा हुआ काम पूरा होगा और फिर फिल्म रिलीज के लिए तैयार होंगी। थियेटर्स खुलने के आसार भी नजर आ रहे हैं। दरअसल खबरें हैं कि केंद्र सरकार के कैबिनेट मंत्री के साथ कुछ चुने हुए सिनेमाघरों के मालिकों की मीटिंग हुई है। इस ऑनलाइन बातचीत में जुलाई में फिर से सिनेमाघरों के खोलने पर सहमति भी बन गई है। हालांकि थिएटर मालिकों से ये भी स्पष्ट तरीके से कह दिया गया है कि वो मल्टीप्लेक्स में सोशल डिस्टेंसिंग और तमाम गाइडलाइंस(Guidelines) को पूरी तरह फॉलो करें, जिस पर थिएटर मालिकों ने भरोसा दिया है।

इसी को देखते हुए बुधवार से सिनेमा घरों में साफ-सफाई का काम शुरू करा दिया गया है। ऑनलाइन (Online) मीटिंग में कैबिनेट मंत्री की तरफ से कहा गया है कि वो गृह मंत्रालय से बात करके जुलाई में थिएटर खुलवा देंगे। इसी बीच दुनिया की सबसे बड़ी एग्जिबिशन ट्रेड आर्गेनाईजेशन नेशनल एसोसिएशन ऑफ थियेटर्स ऑनर्स ने उम्मीद जताई है की पूरी दुनिया में 90 फ़ीसदी थिएटर जुलाई में खोल दिए जाएंगे।

अब सवाल ये उठता है कि अगर थिएटर खुल जाते हैं तो क्या ऑडियंस थिएटर का रुख करेंगी? शायद आपका जवाब होगा 'ना', तो फिर इससे कैसे निपटा जाएगा? कैसे ऑडियंस को थिएटर तक बुलाया जाएगा ?तो ऐसे में थिएटर मालिक प्लान बना रहे हैं कि थिएटर खुलने के कुछ समय बाद तक फ्री में फिल्मों को दिखाया जाएगा। पुरानी आईकॉनिक(Iconic) फिल्मों को थिएटर्स में लगाया जाएगा और उसके टिकट का पैसा ऑडियंस से नहीं लिया जाएगा। एक बार ऑडियंस (Audience) थिएटर तक आ गई तो समझ लीजिए थिएटर मालिकों का काम बन जाएगा ।खबरें हैं यशराज और कुछ पुरानी फिल्में सिनेमाघरों को दे रहे हैं ।इसके बदले उन्हें कोई पैसा भी नहीं चाहिए।

देखना होगा थिएटर खुलने के बाद की स्थिति क्या होती है। जब से लॉक डाउन(Lock down) हुआ है तभी से थिएटर मालिकों को भी खूब नुकसान झेलना पड़ा है। कई बड़ी फिल्में जो कि थिएटर्स में रिलीज होनी थी उनको ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज कर दिया गया ,लेकिन अब थिएटर खुलने के फैसले से एक्जीबिटर्स(exhibitors) को नई आशा जगी है कि अब उनके नुकसान की भरपाई जल्द ही हो पाएगी।

Related Story