Video - कंगना ने की भारत में ट्विटर का दाना-पानी बंद करने की मांग।

By Neetu April 18, 2020, 5:56 p.m. 1k

 पूजा राजपूत-  बॉलीवुड(Bollywood)  एक्ट्रेस कंगना की बहन रंगोली चंदेल पिछले दो दिनों से खबरों में छाई हुई हैं। 

दो दिन पहले रंगोली का ट्विटर अकाउंट(Twiiter Account)  सस्पेंड कर दिया गया था। 

रंगोली ने अपने ट्विटर अकाउंट के ज़रिए मुरादाबाद में मेडिकल टीम और पुलिसबल पर किए गए हमले के खिलाफ विवादित टिप्पणी कर दी थी। जिसके बाद से सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा भड़क गया था, यूज़र्स रंगोली के खिलाफ एक्शन लेने की मांग कर रहे थे। इन शिकायतों के बाद ट्विटर ऑफिशिल्स ने रंगोली के अकाउंट को सस्पेंड कर दिया था।

और अब कंगना रणौत ने एक वीडियो के ज़रिए अपनी बहन को सपोर्ट किया है।

वीडियो में कंगना ने ‘शिकायतकर्ता फराह अली खान और रीमा कागती का नाम लेते हुए ये कहा है कि अगर आप ये प्रूव कर दें कि रंगोली ने अपने ट्वीट में कहीं भी मुस्लिम जेनसाइड(जनसंहार) की बात कही है तो वो और रंगोली दोनों बहनें सबसे माफी मांगेंगी।‘ इसके साथ ही कंगना ने केंद्र सरकार से भी एक अपील की है। अपने वीडियो में कंगना ने ट्विटर जैसे विदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को देश में काम ना करने देने की मांग की हैं। 

कंगना ने कहा है कि ‘ट्विटर जैसे विदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जो यहां का खाते हैं, यहां से करोड़ों-अरबों का बिजनेस करते हैं, और हमारी ही कश्ती में छेद करते हैं, उनका दाना-पानी भारत में बंद कर देना चाहिए।‘

कंगना ने ये भी कहा कि ‘आप इन प्लेटफॉर्म्स पर भारत के प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को आतंकवादी कह सकते हैं, लेकिन आतंकवादी को आतंकवादी नहीं कह सकते हैं।‘

1 मिनट 52 सेकेंड के इस वीडियो के ज़रिए कंगना ने रंगोली को सपोर्ट किया है, साथ ही उन लोगों के खिलाफ आवाज़ उठाई है जिन्होने रंगोली पर एक विशेष धर्म के खिलाफ विवादित टिप्पणी करने का इल्ज़ाम लगाया था।

आपको बताते हैं कि आखिर है क्या पूरा मामला –

दरअसल 16 अप्रैल को रंगोली ने अपने ट्वीट में 15 अप्रैल को मुरादाबाद में हुई घटना का ज़िक्र किया था, जब एक कोरोना संदिग्ध को ले जाने के लिए पहुंची मेडिकल टीम और पुलिसबल पर लोगों ने पत्थरों से हमला कर दिया था।

मुरादाबाद में हुई उस घटना का ज़िक्र करते हुए रंगोली ने विवादित ब्यान दे दिया था.

अपने ट्वीट में रंगोली ने लिखा था ‘एक जमाती कोरोना वायरस से मर गया, जब डॉक्टर्स और पुलिसवाले इन्हें चेक करने गए तो ये उनपर हमला करते हैं और मार देते हैं। सेक्युलर मीडिया और फेक मुल्लाओं को एक लाइन में खड़ा कर के गोली मार देनी चाहिए। हमें इतिहास की परवाह नहीं करनी चाहिए कि कोई हमें नाजी कहेगा। जिंदगी फेक इमेज से ज्यादा कीमती है।‘

रंगोली के इस विवादित ट्वीट को डिज़ाइनर फराह खान अली ने रिपोर्ट किया था, साथ ही उनके ट्विटर अकाउंट को सस्पेंड करने की मांग की थी।

इस बात जानकारी खुद फराह  खान अली ने अपने ट्वीटर अकाउंट के ज़रिए शेयर की है।

अपने ट्वीट में फराह खान ने ‘@Twitter  @TwitterIndia को टैग करते हुए लिखा कि इस अकाउंट को सस्पेंड करने के लिए धन्यवाद। इसे मैने रिपोर्ट किया था कि उन्होने एक विशेष वर्ग पर निशाना साधते हुए उन्हें गोली से मार देने की बात कही थी। साथ ही अपनी तुलना नाज़ी से की थी,इसी तरह की शिकायतें मिलने के बाद ट्विटर ऑफिशियल्स ने रंगोली के अकाउंट को सस्पेंड कर दिया था।

अकाउंट सस्पेंड किए जाने पर रंगोली भी दे चुकी हैं प्रतिक्रिया –

अकाउंट सस्पेंड किए जाने के बाद रंगोली का भी रिएक्शन आया था। रंगोली ने कहा था ’ट्विटर एक अमेरिकन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जो की पूरी तरह से बायस्ड और इंडिया विरोधी है। आप हिंदुओं के भगवान का मज़ाक उड़ा सकते हैं, भारत के प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को आतंकवादी कह सकते हैं, लेकिन अगर आप उन लोगों के खिलाफ कुछ बोलते हैं जो स्वास्थ्यकर्मियों और पुलिसबलों पर पत्थर मारते हैं, तो आपका अकाउंट सस्पेंड कर दिया जाता है। अपनी इमानदार राय और नज़रिए को इस तरह के प्लेटफॉर्मस पर जाहिर करने की मेरी कोई इच्छा नही हैं।’

Related Story