Gulshan Kumar अबू सलेम के शूटर्स से जान बचाने के लिए लोगो के घरों के दरवाजे पीटते रहे थे लेकिन...

By Neetu May 5, 2021, 2:45 a.m. 1k

सारिका स्वरूप - गुलशन कुमार (Gulshan Kumar)  संगीत की दुनिया के बादशाह  थे। उनका जन्म दिल्ली के पंजाबी परिवार में हुआ था। पिता चंद्र भान दुआ की दिल्ली  में जूस की दुकान थी। गुलशन कुमार शुरुआती समय में अपने पिता के साथ जूस की दुकान चलाते थे। इसके बाद ये काम छोड़ उन्होंने दिल्ली में ही कैसेट्स की दुकान खोली जहां वो सस्ते दाम में गानों की कैसेट्स बेचते थे। देखते ही देखते गुलशन कुमार का ये काम आगे बढ़ गया और उन्होंने नोएडा में 'टी सीरीज' नाम से अपनी म्यूजिक कंपनी खोल ली।

                                                                                  Gulshan Kumar

 

                                                                   

 गुलशन कुमार ने कई गायकों के करियर को भी बनाया। उन्होंने सोनू निगम, अनुराधा पौडवाल और कुमार सानू जैसे सदाबहार सिंगर को लॉन्च किया। सब कुछ गुलशन कुमार कि लाइफ मेें अच्छा ही चल रहा था कि अचानक एक दिन एक ऐसा हादसा हुआ जिसने हर किसी को दहला कर रख दिया था।

                                                                                 Gulshan Kumar

 साल 1997 में 12 अगस्त को मुंबई के एक मंदिर के पास जब वो पूजा कर के आ रहे थे उसी दौरान मंदिर के बाहर गुलशन कुमार को कुछ बदमाशों ने गोली मार दी थी। बंदूक से उन पर 16 राउंड फायरिंग की गई।उनकी गर्दन और पीठ में 16 गोलियां लगी थीं। बचने के लिए वो आसपास के घरों के दरवाजे पीटते रहे , लेकिन किसी ने दरवाजा नहीं खोला। और उस वक्त गुलशन कुमार के साथ सिर्फ उनका ड्राइवर ही था जिसको भी बदमाशो ने घायल कर दिया और वो उन्हें बचा नहीं सका । उनकी हत्या के पीछे अंडरवर्ल्ड का हाथ था। कहा जाता है कि गुलशन कुमार ने जबरन वसूली की मांग को पूरा करने से मना कर दिया था, जिसकी वजह से उनकी हत्या कर दी गई थी। 

                                                                             Gulshan Kumar's Death

जानकारी के मुताबिक अबू सलेम के कहने पर दो शार्प शूटर दाऊद मर्चेंट और विनोद जगताप ने गुलशन कुमार की हत्या की थी । 9 जनवरी 2001 को विनोद जगताप ने कुबूल किया कि उसने गुलशन कुमार को गोली मारी। जिसके बाद साल 2002 को उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई और दाऊद मर्चेंट को भी इस मामले में उम्रकैद की सजा हुई थी                                                                  

Related Story