कभी जूस बेचा करते थे गुलशन कुमार, इनकी कहानी किसी फिल्म से कम नहीं !

By Neetu May 5, 2020, 9:01 p.m. 1k

सारिका स्वरूप - आज टी-सीरीज (T-Series) के फाउंडर और हिंदी सिनेमा के मशहूर निर्माता गुलशन कुमार (Gulshan kumar) का बर्थडे है। गुलशन कुमार (Gulshan Kumar) ने संगीत की दुनिया में जितना नाम कमाया है शायद आज तक किसी ने नही कमाया होगा ।वो बॉलीवुड की उन हस्तियों में शामिल रहे है जिन्होंने बहुत जल्द सफलता की सीढ़ी हासिल की  लेकिन कुछ लोगों को उनकी सफलता रास नहीं आई और मंदिर से सामने उन्हें गोलियों से भून दिया गया। गुलशन कुमार की सफलता की कहानी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है तभी तो बेटे भूषण ने उनपर फिल्म बनाने की प्लानिंग कर ली है। आज भूषण कुमार ने अपने पिता के बर्थडे पर उन्हें याद कर बर्थडे विश किया। भूषण कुमार ने ट्वीट कर लिखा कि 'हैप्पी बर्थडे पापा, मैं आपके सपनों का हिस्सा बनने के लिए बहुत खुशी महसूस करता हूं। मुझे आशा है कि मैं आपको गर्व महसूस करवा रही हूं । आप हमारे साथ, हमारे दिलों में, दिमाग में, समारोहों और प्रार्थनाओं में हमेशा थे,आप हैं और हमेशा रहेंगे। मैं आपसे बहुत प्यार करता हूं ।

भूषण कुमार अपने पापा के स्ट्रगल और सफलता पर एक फिल्म बनाना चाहते हैं। फिल्म का नाम उन्होंने मोगुल सोच रखा है। पहले इस फिल्म में अक्षय कुमार काम करने वाले थे लेकिन स्क्रिप्ट पसंद ना आने के कारण उन्होंने फिल्म छोड़ दी थी। उसके बाद आमिर खान के बारे में खबर आई कि वो गुलशन कुमार का रोल करेंगे । हालांकि फिलहाल इस फिल्म के बारे में कोई खबर नहीं है। 

                                                                                         Gulshan Kumar  

गुलशन कुमार का पूरा नाम गुलशन कुमार दुआ है। उनका जन्म दिल्ली के पंजाबी परिवार में हुआ था। गुलशन कुमार के पिता चंद्र भान दुआ की दिल्ली  में जूस की दुकान थी। गुलशन कुमार शुरुआती समय में अपने पिता के साथ जूस की दुकान चलाते थे। इसके बाद ये काम छोड़ उन्होंने दिल्ली में ही कैसेट्स की दुकान खोली जहां वो सस्ते दाम में गानों की कैसेट्स बेचते थे। देखते ही देखते गुलशन कुमार का ये काम आगे बढ़ गया और उन्होंने नोएडा में 'टी सीरीज' नाम से अपनी म्यूजिक कंपनी खोल ली।

                                                                                  Gulshan Kumar

 इसके कुछ समय बाद वह मुंबई चले गए। फिल्म निर्माता के अलावा गुलशन कुमार एक अच्छे गायक भी थे। उन्होंने ढेर सारे भक्ति गाने गाए जिन्हें लोग आज भी खूब पसंद करते हैं। गुलशन कुमार की आवाज में भक्ति सॉंग 'मैं बालक तू माता शेरा वालिए' को लोगों ने हमेशा पसंद किया है। उन्होनें एक से बढ़ कर एक गाने दीए जिसे लोग आज भी बहुत प्यार करते है।

                                                                                  Gulshan Kumar

गुलशन कुमार की कंपनी ने लंबे समय तक बॉलीवुड को एक से बढ़कर एक गाने दिए हैं। इसके अलावा गुलशन कुमार ने कई गायकों के करियर को भी बनाया। उन्होंने सोनू निगम, अनुराधा पौडवाल और कुमार सानू जैसे सदाबहार सिंगर को लॉन्च किया। इन गायकों ने भी अपने गाने से सबका दिल जीता। सब कुछ गुलशन कुमार कि लाइफ मेें अच्छा ही चल रहा था कि अचानक एक दिन एक ऐसा हादसा हुआ जिसने हर किसी को दहला कर रख दिया था।

                                                                                 Gulshan Kumar

 साल 1997 में 12 अगस्त को मुंबई के एक मंदिर के पास जब वो पूजा कर के आ रहे थे उसी दौरान मंदिर के बाहर गुलशन कुमार को कुछ बदमाशों ने गोली मार दी थी। बंदूक से उन पर 16 राउंड फायरिंग की गई।उनकी गर्दन और पीठ में 16 गोलियां लगी थीं। बचने के लिए वो आसपास के घरों के दरवाजे पीटते रहे , लेकिन किसी ने दरवाजा नहीं खोला। और उस वक्त गुलशन कुमार के साथ सिर्फ उनका ड्राइवर ही था जिसको भी बदमाशो ने घायल कर दिया और वो उन्हें बचा नहीं सका । उनकी हत्या के पीछे अंडरवर्ल्ड का हाथ था। कहा जाता है कि गुलशन कुमार ने जबरन वसूली की मांग को पूरा करने से मना कर दिया था, जिसकी वजह से उनकी हत्या कर दी गई थी। 

                                                                             Gulshan Kumar's Death

जानकारी के मुताबिक अबू सलेम के कहने पर दो शार्प शूटर दाऊद मर्चेंट और विनोद जगताप ने गुलशन कुमार की हत्या की थी । 9 जनवरी 2001 को विनोद जगताप ने कुबूल किया कि उसने गुलशन कुमार को गोली मारी। जिसके बाद साल 2002 को उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई और दाऊद मर्चेंट को भी इस मामले में उम्रकैद की सजा हुई थी 

                                                                  Bhusan Kumar , Tulsi Kumar

गुलशन कुमार की हत्या के बाद टी सीरीज के बिजनेस को उनके बेटे भूषण कुमार और बेटी तुलसी कुमार ने संभाला है और आज भी T series का नाम रौशन कर रखा है ।

Related Story