फिल्म बाजीगर में श्रीदेवी करने वाली थीं डबल रोल लेकिन इस वजह से फिल्म हाथ से निकल गई !

By Neetu May 13, 2020, 8:02 p.m. 1k

पूजा राजपूत - बॉलीवुड(Bollywood) की 'चांदनी' श्रीदेवी(Sridevi) इंडियन सिनेमा(Indian Cinema)  के बिग्गेस्ट कलाकारों में से एक रही हैं। श्रीदेवी को गए दो साल से ज्यादा का वक्त हो चुका है, लेकिन उनकी यादें लोगों के ज़हन में आज तक ताजा हैं। खूबसूरती और टैलेंट का अनोखा संगम थी श्रीदेवी, यही वजह है कि उन्होने लंबे वक्त तक सिल्वर स्क्रीन पर राज किया था। श्रीदेवी का स्टारडम ऐसा था कि उन्हें बॉलीवुड की लेडी अमिताभ बच्चन कहा जाता था। कई फिल्मों की कहानियां श्रीदेवी को ध्यान में रखकर लिखी गईं । बॉलीवुड की पहली फीमेल सुपरस्टार रहीं, श्रीदेवी फिल्मों के लिए सबसे ज्यादा फीस चार्ज करने वाली हिरोइन थीं।

लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि, इसी स्टारडम की वजह से श्रीदेवी को अब्बास मस्तान(Abbas-Mustan) की ब्लॉकबस्टर फिल्म(Blockbuster Film) 'बाज़ीगर'(Baazigar) से हाथ धोना पड़ा था?

जी हां, बिल्कुल सही सुना आपने। जिस फिल्म ने शाहरूख खान को बॉलीवुड का स्टार बना दिया उस फिल्म के लिए श्रीदेवी डायरेक्टर जोड़ी अब्बास-मस्तान की पहली पसंद थीं।अब्बास मस्तान अपनी थ्रिलर ड्रामा में श्रीदेवी को शाहरूख खान(Shahrukh Khan) के अपोज़िट डबल रोल में साइन करना चाहते थे।

लेकिन बाद में उन्होने शाहरूख के अपोज़िट श्रीदेवी को साइन करने का अपना प्लान चेंज कर दिया। इस बदलाव की वजह जानकर भी आप हैरान रह जाएंगे।दरअसल, जहां अब्बास-मस्तान अपनी इस फिल्म श्रीदेवी को कास्ट करने के लिए काफी इंट्रस्टिंग थे, वहीं उन्हें ये भी डर लग रहा था कि श्रीदेवी का स्टारडम फिल्म के हीरो शाहरूख पर हावी हो सकता है। जो कि फिल्म के लिए नुकसानदायक भी सिद्ध हो चकता है। 

चूंकि फिल्म की पूरी कहानी नेगेटिव रोल प्ले कर रहे शाहरूख के इर्द-गिर्द ही घुमनी थी, इसके साथ उनके कैरेक्टर में इमोशनल टच भी था।  ऐसे में ज़रुरी था कि शाहरूख का किरदार ज्यादा बड़ा दिखाया जाए, और अंत में जब विक्की मल्हौत्रा की मौत हो तो उसके साथ ऑडिएंस इमोशनल  कनेक्शन भी महसूस करें।

यही वजह थी, कि बाद में अब्बास मस्तान ने श्रीदेवी को साइन करने का आइडिया ड्रॉप करके नए चेहरों शिल्पा शेट्टी और काजोल को साइन कर लिया था। अपने एक इंटरव्यू में शिल्पा शेट्टी ने भी इस बात का ज़िक्र किया था कि कैसे श्रीदेवी बाज़ीगर में डबल रोल प्ले करने वाली थी, लेकिन किस्मत से फिल्म में काम करने का मौका उन्हें मिल गया और वो रातों रात स्टार बन गईं।

आपको बता दें कि अब्बास मस्तान की ये ब्लॉकबस्टर फिल्म 1991 में रिलीज़ हुई हॉलीवुड फिल्म ' अ किस बिफोर डायिंग' से इंस्पायर थी। 'बाज़ीगर' की सक्सेस ने शाहरूख खान रातों रात स्टार बना दिया था। बॉलीवुड के हैंडसम विलेन ने लाखों दर्शकों का दिल जीत लिया था। लेकिन बाद में शाहरूख ने नेगेटिव किरदारों की बजाए रोमांटिक फिल्मों में हाथ आज़माया और बॉलीवुड के बेताज बादशाह बन गए।

लेकिन इस बात का अफसोस शाहरूख खान को भी हमेशा रहा कि श्रीदेवी जैसी फीमेल सुपर स्टार के साथ किसी फिल्म में काम करने का कोई मौका उन्हें नहीं मिल पाया।  हांलाकि 'आर्मी' फिल्म में शाहरुख़ गेस्ट रोल में नज़र आए थे, लेकिन श्रीदेवी का हीरो बनने का उनका सपना, सपना ही रह गया |

Related Story