सोनू सूद की 7 दिल को छू लेने वाली मदद, किसी को दिलवाई नौकरी, तो किसी के सिर पर दी छत।

By Neetu July 28, 2020, 3:34 p.m. 1k

पूजा राजपूत- बॉलीवुड एक्टर सोन सूद की जितनी तारीफ की जाए उतनी कम हैं। कोरोना महामारी के संकट में सोनू सूद किस तरह से जरुरतमंद लोगों की मदद कर रहे हैं, ये तमाम किस्से कई बार आपने पढ़े और सुने होंगे। लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं, सोनू के वो 7 दिल छू लेने वाले कारनामे, जब सोनू ने सभी को अपना मुरीद बना लिया।

1. बैल बनी बेटियों को दिया ट्रैक्टर -

चित्तूर जिले के मदनपल्ली निवासी एक किसान की दोनों बेटियां अपने पिता के मदद के लिए खेतों में बैल बनकर हल चला रही थीं, यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, इस वीडियो को देखकर सोनू सूद भी भावुक हो गए। उन्होने किसान परिवार की मदद करते हुए लिखा कि “यह परिवार बैल का जोड़ा नहीं बल्कि ट्रैक्टर डिज़र्व करता है”। 

2. सब्जी बेचने को मजबूर सॉफ्टवेयर इंजीनियर को दिलवाई नौकरी –

हैदराबाद की रहने वाली शारदा की कोरोना की वजह से लगे लॉकडाउन में नौकरी चली गई थी। जिस वजह से बीटेक करने के बाद भी शारदा को अपना घर चलाने के लिए सब्जी बेचने पड़ रही थी। सब्जी बेचती शारदा का वीडियो ट्विटर पर शेयर करते हुए, एक यूजर ने सोनू से मदद की गुहार लगाई, तो सोनू ने भी उसपर तुरंत एक्शल लिया। अब शारदा को नई नौकरी मिल चुकी है।

3. बिहार बाढ़ पीड़ित किसानों की मदद-

अब सोनू सूद देश के किसानों की मदद करने को भी आगे आए हैं। बिहार की बाढ़ में छतिग्रस्त हुए एक परिवार को उनकी जरूरतों में कुछ सहूलियत मिले उसके लिए वह किसान परिवार को कुछ भैंस देने जा रहे है। सोशल मीडिया पर परिवार का दर्द देख सोनू सूद ने आज शाम तक उनकी जरूरत को पूरा करने का वादा किया है जिसकी वजह से उस किसान का परिवार अपना जीवनयापन कर सके। 

4.किर्गिस्तान में फंसे छात्रों की मदद –

देश के अलग-अलग शहरों में फंसे प्रवासी मजदूरों की मदद करने के बाद सोनू सूद ने किर्गिस्तान में फंसे छात्रों को उनके घर पहुंचाया। एक स्पेशल चार्टर विमान से किर्गिस्तान में फंसे 1500  छात्र वापस लौट आए हैं। सोनू की यह मदद अभी भी जारी है।

5.. घर वापसी के दौरान मरे मजदूरों के परिवार को मदद-

लॉकडाउन खुलने के बाद जब मजदूर अपने घरों के लिए निकले तो एक बड़ी संख्या में लोग या तो सफर में घायल हुए या उनका निधन हो गया। सोनू सूद ने ऐसे 400 प्रवासी मजदूरों के परिवारों की आर्थिक मदद की है। क्योंकि इनमें से ज्यादातर दिहाड़ी मजदूर थे और उनके परिवारों के पास आय का कोई जरिया नहीं है। इसके अलावा सोनू और उनका ग्रुप प्रवासी मजदूरों के बच्चों की शिक्षा और उनके घर बनवाने का खर्च भी उठाएंगे।

6. बदहाली में जी रहे ‘माउंन मैन’ के परिवार की मदद-

कोरोना काल में 'द माउंटेन मैन' के नाम से देश में चर्चित रहे दशरथ मांझी का परिवार बदहाली की जिंदगी जीने को मजबूर है। जैसे ही दशरथ मांझी की इस दयनिय स्थिति की खबर सोनू तक पहुंची उन्होने तुरंत ट्वीट कर कहा – ‘आज से तंगी खत्म, आज ही हो जाएगा भाई।

7..छत से टपक रहा था पानी, सोनू ने की मदद –

मुंबई में बारिश कभी भी भयावह रूप ले लेती है, ऐसे में मलाड के अम्बेडकर नगर से एक मासूम बच्ची ने सोनू सूद से मदद की गुहार लगाई, जिसकी छत से पानी टपकता था। ऐसे में सोनू सूद ने उस बच्ची की भी प्रार्थना सुनी और मदद पहुंचाई।

Related Story