लॉकडाउन के बीच एक्ट्रेस से नर्स बनी शिखा मल्होत्रा मना रही हैं इंटरनेशनल नर्सेज डे !

By Neetu May 12, 2020, 3:17 p.m. 1k

उमेश शुक्ला - 12 मई को इंटरनेशनल नर्सेज़ डे होता है लेकिन साल 2020 का इंटरनेशनल नर्सेज़ डे कुछ अलग है। आज पूरा विश्व कोरोना नामक महामारी को झेल रहा है और उस महामारी से युद्ध करने में सबसे आगे  अगर कोई हैं तो वो हैं दुनिया भर के मेडिकल स्टाफ। इंटरनेशनल नर्सेज डे पर पूरी दुनिया नर्सों को सलाम कर रही है। पहली बार आम इंसान को यह पता चल रहा है कि नर्सों का काम सिर्फ अस्पताल में डॉक्टर्स का साथ देना ही नहीं बल्कि अपनी नर्सिंग से मरीजों की कमज़ोर हो चुकी मानसिकता को फिर से मजबूती भी देना है। 

                                                                    Shikha Malhotra as Nurse 

एक्ट्रेस शिखा मल्होत्रा कोरोनावायरस के कहर के दौरान नर्स बन गई हैं। वो अपने सहयोगियों के साथ नर्सेस डे मना रही हैं। नर्सिंग की पढ़ाई कर चुकी शिखा मल्होत्रा मुम्बई फिल्मों में अभिनय करने आई थी। शाहरुख की फिल्म फैन, रनिंग शादी जैसी बड़ी फिल्मो में सपोर्टिंग रोल्स करने के बाद इसी साल उन्होंने अभिनेता संजय मिश्रा के साथ लीड रोल में फ़िल्म कांचली से शोहरत पाई ही थी 

 देश पर जब कोरोना का आक्रमण हो गया और एकाएक शिखा को लगा कि देश के लिए इस संकट की घड़ी में उन्हें आगे आना चाहिए तो 27 मार्च का दिन था जब lockdown लगा था और आज 46 दिन हो चुके हैं शिखा मल्होत्रा मुंबई में BMC के अस्पताल में बतौर नर्सिंग ऑफिसर काम कर रही हैं और इस दौरान उन्होंने कई मरीजों को ठीक होकर घर जाते हुए देखा है तो और कइयों को मौत के मुंह में समाते देखा। 

शिखा मल्होत्रा ने इंटरनेशनल नर्सेज डे पर  इंस्टाग्राम पर लाइव आकर अपने सभी चाहने वालों से रूबरू बात करके उनका मनोबल बढ़ाया। उन्होंने भारत वासियों से अपील भी की कि ऐसे कठिन दौर में जाति-पाँति से ऊपर उठकर मिलजुल कर इस महामारी का सामना करें और साथ ही अपने मेडिकल फील्ड के फैलोज़ से भी अपील की कि उन्हें कोरोना मरीजों को छूने से परहेज़ नही करना चाहिए, 

ऐसे वक्त में जब मरीज़ पहले ही बीमारी से जूझ रहा होता है तो उसे मानसिक सपोर्ट की ज़रूरत होती है और नर्सेज़ ही एकमात्र उनका सहारा हो सकती है। शिखा का मानना है कि आमलोग और मेडिकल स्टाफ एकजुट होकर बीमारी से लड़ सकते हैं और उसे मात दे सकते हैं। 

Related Story